Home » Economy » Bankinggovt to infuse 11336 cr rupees in 5 PSU banks

5 PSU बैंकों में 11336 करोड़ रु का कैपिटल इनफ्यूजन कर सकती है सरकार, PNB को मिलेंगे सबसे ज्यादा

फ्रॉड से प्रभावित PNB सहित 5 PSU बैंकों में सरकार 11,336 करोड़ रुपए का कैपिटल इनफ्यूजन कर सकती है।

govt to infuse 11336 cr rupees in 5 PSU banks

 

नई दिल्ली. फ्रॉड से प्रभावित पंजाब नेशनल बैंक (PNB) सहित 5 पब्लिक सेक्टर (PSU) बैंकों में सरकार 11,336 करोड़ रुपए का कैपिटल इनफ्यूजन कर सकती है। न्यूज एजेंसी कोजेन्सिस के मुताबिक, वित्त मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि पीएनबी में सबसे ज्यादा 2816 करोड़ रुपए का कैपिटल इनफ्यूजन होने का अनुमान है।

 

 

5 बैंकों में कैपिटल इनफ्यूजन की योजना

अधिकारी ने कहा कि सरकार की पीएनबी के अलावा इलाहाबाद बैंक में 1,790 करोड़ रुपए, आंध्र बैंक में 2,019 करोड़ रुपए, कॉरपोरेशन बैंक में 2,555 करोड़ रुपए और ओवरसीज बैंक में 2,156 करोड़ रुपए लगाने की योजना है। सरकार के इस कैपिटल इनफ्यूजन से बैंकों को रेग्युलेटरी संबंधी कैपिटल की जरूरतों को पूरा करने में मदद मिलेगी।

 

 

बॉन्ड होल्डर्स को इंटरेस्ट पेमेंट के चलते दबाव में हैं बैंक

सूत्रों ने कहा कि इनमें से कुछ बैंक अपने एडीशनल टियर 1 (एटी-1) बॉन्ड्स के बॉन्ड होल्डर्स को इंटरेस्ट पेमेंट के चलते खासे दबाव में हैं। नतीजतन उन्हें रेग्युलेटरी कैपिटल जरूरतों के उल्लंघन के रिस्क से गुजरना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि ऐसे में मंत्रालय ने 4-5 बैंकों को कैपिटल उपलब्ध कराने का फैसला किया है, जो ‘वास्तविक तंगी’ से गुजर रहे हैं।

 

यह भी पढ़ें - 5 तरीकों से बनिए मोदी सरकार के 'मित्र', होगी अच्छी इनकम

 

बॉन्ड्स पर चुकाना पड़ता है ज्यादा ब्याज

बैंक एटी1 बॉन्ड्स के माध्यम से कैपिटल जुटाते हैं, जो लंबे समय के लिए होते हैं और इसलिए उन्हें इन्वेस्टर्स को ऊंचा ब्याज चुकाना पड़ता है। वहीं भारी बैड लोन्स और घाटा बढ़ने से बैंकों को अपनी अर्निंग्स से इन बॉन्ड्स की सर्विसिंग करना मुश्किल हो गया है। सूत्रों ने कहा कि इसी हफ्ते या अगले हफ्ते तक इन पांचों बैंकों में कैपिटल इनफ्यूजन किया जा सकता है। यह कैपिटल इनफ्यूजन दो वित्त वर्ष के लिए 2.11 लाख करोड़ रुपए के कैपिटल इनफ्यूजन में से बाकी बचे 65,000 करोड़ रुपए का हिस्सा होगा।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट