Home » Economy » BankingGovt declares Nirav Modi a fugitive

PNB के बाद 5280 Cr के नए बैंकिंग फ्रॉड में भी मेहुल चौकसी का नाम, कसेगा शिकंजा

सरकार ने 13 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के पीएनबी फ्रॉड में मुख्य आरोपी नीरव मोदी को भगोड़ा घोषित कर दिया।

1 of

 

नई दिल्ली. पंजाब नेशनल बैंक को 13000 करोड़ रुपए का चूना लगाने वाले नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के खिलाफ नए बैंकिंग घोटाले में शिकंजा कस सकता है। CBI मेहुल चौकसी की कंपनी को आईसीआईसीआई के कंसोर्टियम से मिले 5280 करोड़ रुपए के लोन की पड़ताल कर रही है। हालांकि अभी तक सीबीआई ने यह साफ नहीं किया है कि इस मामले में नई एफआइआर दर्ज होगी या फिर पुराने केस के तहत ही इसकी भी जांच की जाएगी।

 

यह है मामला 


सीबीआई के एक अधिकारी के मुताबिक पंजाब नेशनल बैंक को लेटर ऑफ अंडरटेकिंग और लेटर ऑफ क्रेडिट के मार्फत 13000 करोड़ रुपए को चूना लगाने के मामले की जांच के दौरान आईसीआईसीआई बैंक से लोन की जानकारी मिली। मेहुल चौकसी के ठिकानों पर मारे गए छापे में इस लोन से संबंधित दस्तावेज मिले थे। लेकिन उस समय सीबीआई अधिकारियों ने इसपर ध्यान नहीं दिया। लेकिन जब वीडियोकॉन के मालिक वेणुगोपाल धूल की कंपनियों को आईसीआईसीआई  से मिले 3400 करोड़ रुपए लोन में गड़बड़ी का पता चला और इसकी प्रारंभिक जांच शुरू हुई तो मेहुल चौकसी को मिले लोन की फाइल भी नए सिरे निकाली गई। उन्होंने बताया कि फिलहाल मेहुल की कंपनी को लोन देने में गड़बड़ी की आशंका की पड़ताल की जा रही है। यदि इस संबंध में सबूत मिलते हैं तो इसकी औपचारिक जांच की जाएगी। 

 

नीरव मोदी भगोड़ा घोषित 

 

इससे पहले बुधवार को सरकार ने 13 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के पीएनबी फ्रॉड में मुख्य आरोपी नीरव मोदी को भगोड़ा घोषित कर दिया। सरकार ने दिल्ली हाईकोर्ट में एक एफिडेविट फाइल करके ‘जस्टिस से भागने वाला’ बताते हुए कहा कि उसने जांच में शामिल होने से इनकार कर दिया है।

मोदी की फायरस्टार डायमंड और फायरस्टार इंटरनेशनल द्वारा दायर याचिका पर हाईकोर्ट द्वारा जारी नोटिस के जवाब में सरकार ने यह एफिडेविट फाइल किया। याचिका में प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के कुछ प्रावधानों और हीरा कारोबारी पर उनके लागू होने को चुनौती दी गई थी।

   

मोदी के बयान पर कोर्ट ने जताई चिंता

जस्टिस एस मुरलीधर और जस्टिस आई एस मेहता की बेंच ने मोदी के उस बयान पर गंभीर चिंता जाहिर की, जिसमें उन्होंने इंडियन कोर्ट्स के ज्यूरिडिक्शन में नहीं आने की बात कही थी। बेंच ने फायरस्टार डायमंड और फायरस्टार इंटरनेशनल की तरफ से पेश वकील से अपने क्लाइंट को वापस भारत आने के लिए कहने के निर्देश दिए।

बेंच ने माना, ‘यदि हमें टेक्निकलिटी पर जोर नहीं देना चाहिए, तो मोदी को वापस आने के लिए कहें।’ इस मामले में अगली सुनवाई 3 मई को होगी।

 

नीरव मोदी की 9 लग्जरी कारें हुई थीं

एन्फोर्समेंट डायरेक्टरेट (ईडी) ने 22 फरवरी को नीरव मोदी और उसकी कंपनी से जुड़ी 9 कारों को सीज किया। इनमें 1 रोल्‍स रॉयस घोस्‍ट, 2 मर्सडीज बेंज जीएल 350 सीडीआई, 1 पोर्शे पनरमा, 3 होंडा कार्स, 1 टोयोटा फॉर्च्‍यूनर और 1 टोयोट इनोवा शामिल हैं।

इसके अलावा ईडी ने नीरव मोदी के 7.80 करोड़ रुपए मूल्‍य के म्‍यूचुअल फंड और शेयर्स फ्रीज कर दिए। इसके साथ ही मेहुल चौकसी ग्रुप के 86.72 करोड़ रुपए की वैल्‍यू के फंड और शेयर फ्रीज हुए हैं।

इससे पहले, बुधवार को सीबीआई ने महाराष्‍ट्र के अलीबाग में नीरव मोदी का फार्म हाउस सील कर दिया। यह 1.5 एकड़ में फैला है। इस फॉर्म हाउस के अंदर एक बंगला है जिसका नाम 'रोपन्या' है। नीरव मोदी का यह फार्म हाउस मुंबई से करीब 100 किलोमीटर दूर है।

 

5649 करोड़ रुपए के जेवर जब्त

पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) को 11,356 करोड़ रुपए की चपत लगाने वाले नीरव के ठिकानों से एनफोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ईडी) ने 5649 करोड़ रुपए के जेवर जब्त किए गए हैं।

जानकारों के मुताबिक, अभी तो पीएनबी ही पूरी तरह से यह नहीं बता रहा है कि मेहुल चौकसी और नीरव मोदी पर कितना पैसा बकाया है।

 

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss