Home » Economy » BankingGovt cuts market borrowing target by Rs 70,000 crore

70 हजार करोड़ रु कम उधार लेगी सरकार, स्माल सेविंग्स से ज्यादा फंड मिलने की उम्मीद

सरकार ने वित्त वर्ष 2018-19 में बाजार से 70 हजार करोड़ रुपए कम उधार लेने का ऐलान किया है।

Govt cuts market borrowing target by Rs 70,000 crore

 

नई दिल्ली. सरकार ने वित्त वर्ष 2018-19 में बाजार से 70 हजार करोड़ रुपए कम उधार लेने का ऐलान किया है। सरकार को उम्मीद है कि अक्टूबर-दिसंबर तिमाही के लिए आकर्षक ब्याज दरों के कारण उसकी लोकप्रिय स्माल सेविंग स्कीम्स से ‘कुछ ज्यादा फंड’ मिलेगा। वित्त मंत्रालय ने इस बात पर भी जोर दिया कि सरकार मार्च, 2019 में समाप्त होने वाले वित्त वर्ष के दौरान जीडीपी की तुलना में 3.3 फीसदी फिस्कल डेफिसिट के टारगेट को हासिल कर लेगी।

 

 

सरकार ने उधारी कार्यक्रम का दिया ब्योरा

आर्थिक मामलों के सचिव एस सी गर्ग ने वित्त वर्ष की शेष छमाही के लिए अपने उधारी कार्यक्रम का ब्योरा देते हुए कहा कि सरकार 2018-19 की अप्रैल-सितंबर छमाही के दौरान 2.88 लाख करोड़ रुपए की तुलना में 2.47 लाख करोड़ रुपए उधार लेगी। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार महंगाई आधारित बॉन्ड लॉन्च करेगी और चालू वित्त वर्ष के दौरान इसके एक या दो बॉन्ड जारी किए जाएंगे।

 

कुल 6.05 लाख करोड़ का है उधारी कार्यक्रम

सरकार का उधारी कार्यक्रम 6.05 लाख करोड़ रुपए का है, जो पहले की तुलना में 70 हजार करोड़ रुपए कम हो गया है। उन्होंने कहा, ‘चूंकि हमारा फिस्कल डेफिसिट अभी तक प्रभावित नहीं हो रहा है, इसलिए हमने अपने सकल उधारी कार्यक्रम को जारी रखने का फैसला किया है।’

 

 

स्माल सेविंग्स ने बढ़ाया सरकार का भरोसा

गर्ग ने कहा, ‘हालांकि हमने अपने बायबैक प्रोग्राम पर फिर से विचार किया था, क्योंकि हम स्माल सेविंग्स से ज्यादा फंड आने की उम्मीद करते हैं। इसलिए हमने वर्ष के लिए अपने कुल उधारी कार्यक्रम में 70 हजार करोड़ रुपए की कमी लाने का फैसला किया है।’ राजस्व और खर्च में अंतर या फिस्कल डेफिसिट की भरपाई करने के लिए बाजार से उधार लिया जाता है।

सचिव ने कहा कि सरकार किसी अन्य माध्यम से फिस्कल डेफिसिट की फाइनेंसिंग पर विचार नहीं कर रही है। उन्होंने कहा, ‘वित्तीय जरूरतों को पूरा करने के लिए हमारा उधारी कार्यक्रम पर्याप्त है।’

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट