Utility

24,712 Views
X
Trending News Alerts

ट्रेंडिंग न्यूज़ अलर्ट

पेट्रोल-डीजल के दाम नई ऊंचाई पर; दिल्‍ली में अबतक का रिकॉर्ड भाव, मुंबई में सबसे ज्‍यादा महंगा टॉप 5 कंपनियों में निवेशकों के डूबे 57333 करोड़ रु, RIL में सबसे ज्यादा नुकसान भारत दुनिया का छठां सबसे अमीर देश, 559 लाख करोड़ रु. है दौलत कस्‍टम्‍स ब्रोकर लाइसेंस लेने के लिए आधार और PAN अनिवार्य : टैक्‍स डिपार्टमेंट RIL के 2338 करोड़ के प्रोजेक्‍ट को पर्यावरण मंजूरी, नागोथाने पेट्रो कॉम्‍प्‍लेक्‍स का करेगी विस्‍तार Tech in gadgets: रैम नहीं प्रोसेसर पर लगाएं दांव, स्‍मार्टफोन की स्पीड में नहीं खाएंगे धोखा कानून बना, सजा हुई, जुर्माना लगा, लेकिन 30 लाख होम बायर्स को नहीं मिला घर 8000 करोड़ रुपए से जम्‍मू-कश्‍मीर में बनेगा हाईड्रो पावर प्‍लांट, पाक ने किया विरोध 127 करोड़ रुपए के फ्रॉड में GST डिपार्टमेंट की कार्रवाई , दो को किया अरेस्‍ट सीईओ ने स्नैपचैट के रिडिजाइन को दी मंजूरी, यूजर्स दे रहे निगेटिव रिव्‍यू कर्नाटक: फ्लोर टेस्‍ट से पहले येदियुरप्पा ने दिया इस्‍तीफा, नहीं जुटा पाए बहुमत कश्मीर को 12 महीने कनेक्ट करने वाली 5 सुरंग, बनवा रही है मोदी सरकार सोना 40 रुपए सस्‍ता, चांदी 41 हजार के पार देश की पहली स्‍मार्ट टनल बनेगी जोजिला, जानें इसकी 10 खास बातें PM मोदी ने J&K में किया जोजिला टनल का शिलान्यास, निर्माण पर 6800 Cr रु होंगे खर्च
बिज़नेस न्यूज़ » Economy » BankingPNB फ्रॉडः मेहुल चौकसी से शेट्टी को मिले थे 1 करोड़ रु, CBI की 3 दिन में दूसरी चार्जशीट

PNB फ्रॉडः मेहुल चौकसी से शेट्टी को मिले थे 1 करोड़ रु, CBI की 3 दिन में दूसरी चार्जशीट

नई दिल्ली. केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने पीएनबी फ्रॉड मामले में फाइल की गई सप्लीमेंट्री चार्जशीट में गीतांजली ग्रुप के ऑनर मेहुल चौकसी और इलाहाबाद बैंक की सीईओ  ऊषा अनंतसुब्रमण्यन का नाम भी शामिल किया है। 13 हजार करोड़ रुपए के पीएनबी फ्रॉड में सीबीआई की तीन दिन में यह दूसरी चार्जशीट है। चार्जशीट में चौकसी के अलावा 13 अन्य नामों का खुलासा किया गया है।


गोकुलनाथ शेट्टी को मिले थे 1 करोड़ रुपए 


सीबीआई ने चार्जशीट में आरोप लगाया कि पीएनबी के गोकुलनाथ शेट्टी को गलत तरीके से एलओयू जारी करने के लिए मेहुल चौकसी की कंपनी से 1 करोड़ रुपए मिले थे। इसके अलावा मेहुल चौकसी की तीन कंपनियों गीतांजली जेम्‍स लिमिटेड,  Gili इंडिया लिमिटेड और नक्षत्र ब्रांड लिमिटेड को भी सीबीआई ने चार्जशीट में आरोपी बनाया है। यह चार्जशीट मुंबई के स्‍पेशल सीबीआई कोर्ट में फाइल की गई है। 

 

 

पहले चार्जशीट में नहीं था मेहुल चौकसी का नाम 


सीबीआई ने सोमवार को फाइल की गई पहली चार्जशीट में गीतांजलि जेम्स के मेहुल चौकसी का नाम शामिल नहीं किया था। सीबीआई स्पेशल कोर्ट में फाइल इस चार्जशीट में और भी कई आरोप लगाए गए हैं। 
सीबीआई की पहली चार्जशीट में मुख्य आरोपी नीरव मोदी के भाई निशाल मोदी और उसकी कंपनी के एग्जीक्यूटिव सुभाष परब की भूमिका का जिक्र भी किया गया था। 

 

लगाए गए ये आरोप
सीबीआई स्पेशल कोर्ट में फाइल की गई चार्जशीट में जांच एजेंसी ने चौकसी और उनकी कंपनियों के अलावा 13 अन्य एंटिटीज पर आपराधिक साजिश, चीटिंग और प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट के प्रोविजंस के तहत आरोप लगाए गए हैं।
 

12 फीसदी टूटा PNB का स्टॉक
उधर मार्च क्वार्टर में बैंकिंग हिस्ट्री का सबसे ज्यादा 13417 करोड़ रुपए का घाटा दर्ज करने के बाद पीएनबी के स्टॉक में 12 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। बुधवार को पीएनबी का स्टॉक 75.55 रुपए पर बंद हुआ, जो उसका 52 हफ्ते का निचला स्तर है। बैंक के घाटे की वजह 13 हजार करोड़ रुपए का पीएनबी फ्रॉड रहा।
जनवरी-मार्च क्वार्टर में पीएनबी ने 12,417 करोड़ रुपए का घाटा दर्ज किया। यह घाटा इतना ज्यादा है, जितना आज तक भारत में किसी भी बैंक को नहीं हुआ। वहीं मार्च, 2017 में समाप्त तिमाही के दौरान बैंक को 261.90 करोड़ रुपए का प्रॉफिट हुआ था।


पहली चार्जशीट में पीएनबी की पूर्व चीफ सहित 22 नाम
पहली चार्जशीट में बैंक की पूर्व प्रमुख ऊषा अनंतसुब्रमण्यन अलावा करीब 22 लोगों के नाम थे। इनमें कुछ अधिकारियों के नाम भी शामिल हैं। ऊषा फिलहाल इलाहबाद बैंक की सीईओ और एमडी हैं। सरकार के आदेश पर इलाहाबाद बैंक के बोर्ड ने अनंतसुब्रमण्यन के सभी अधिकार खत्म कर दिए हैं।

 

अन्य आरोपियों के अधिकार छीनने के निर्देश
डिपार्टमेंट ऑफ फाइनेंशियल सर्विसेज के सचिव राजीव कुमार ने बताया कि विभाग ने दोनों बैंकों को बोर्ड स्तर के तीन अधिकारियों और दो कार्यकारी निदेशकों के अधिकार समाप्त कर पद से हटाने के निर्देश दिए हैं। इन अधिकारियों को पद से हटा दिया गया है।

 

2015 से 2017 तक पीएनबी के चीफ रह चुकी हैं ऊषा
- बता दें कि ऊषा अनंतसुब्रमण्यन 2015 से 2017 तक पीएनबी की एमडी और सीईओ रह चुकी हैं। पीएनबी फ्रॉड के सिलसिले में सीबीआई उनसे पूछताछ कर चुकी है। 
- सीबीआई की चार्जशीट में बैंक के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर केवी ब्रम्हाजी राव और संजीव शरण का नाम भी है। इसके अलावा जनरल मैनेजर (इंटरनेशनल ऑपरेशन) नेहल अहद को भी आरोपी बनाया गया है।

 

कब और कैसे हुआ था बैंक फ्रॉड?
- पीएनबी में फ्रॉड की शुरुआत मुंबई की ब्रेडी हाउस ब्रांच में 2011 से हुई। फ्रॉड फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग्स (एलओयू) के जरिए किया गया। आरोपियों ने बैंक अफसरों के साथ मिलकर फर्जी एलओयू तैयार किए और 2011 से 2018 तक हजारों करोड़ की रकम विदेशी अकाउंट्स में ट्रांसफर की।

 

फ्रॉड का खुलासा कब हुआ?

- 13 हजार करोड़ के फ्रॉड का खुलासा फरवरी के पहले हफ्ते में हुआ। पंजाब नेशनल बैंक ने सेबी और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को 11,356 करोड़ रुपए के घोटाले की जानकारी दी। बाद में पीएनबी ने सीबीआई को बैंक में 1300 करोड़ के नए फ्रॉड की जानकारी दी। इस तरह यह रकम बढ़कर करीब 13 हजार करोड़ तक पहुंच गई।

 

 

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Trending

NEXT STORY

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.