Advertisement
Home » Economy » BankingGoyal vows to clean up banking sector

RBI की वॉच लिस्‍ट वाले बैंकों की मदद करेगी सरकार, गोयल ने 11 PSB को दिया आश्‍वासन

वित्‍तमंत्री पीयूष गोयल ने कहा है कि वह बैंकिंग सेक्‍टर को जल्‍द से जल्‍द रास्‍ते पर ले अाएंगे।

1 of

नई दिल्‍ली. सरकार उन सभी 11 सरकारी बैंकों की मदद करेगी, जो रिजर्व बैंक (आरबीआई) की वाचलिस्ट में हैं।  वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने बृहस्पतिवार को इन बैंकों के प्रमुखों के साथ मीटिंग के दौरान यह भरोसा दिलाया है। दरअसल 11 सरकारी बैंकों को RBI ने प्रॉम्‍ट करेक्टिव एक्‍शन (PCA) लिस्‍ट में डाला है। RBI उन बैंकों को इस लिस्‍ट में डालता है जिनका वित्‍तीय प्रदर्शन खराब होता है। 

 

PCA के दौरान बैंकों पर रहता है प्रतिबंध 
RBI जिन बैंकों को PCA में डालता है उन बैंकों पर कई प्रतिबंध भी लागू होते हैं। ऐसे बैंक डिविडेंड नहीं दे सकते हैं। ऐसे बैंक अपनी नई ब्रांच नहीं खोल सकेंगे और ज्‍यादा प्रॉविजन करने होते हैं। गोयल ने कहा कि केंद्र सरकार इन बैंकों की सहायता के लिए जल्‍द जल्‍द से कुछ करेगी। 

 

 

PCA लिस्‍ट हैं ये बैंक 
RBI ने जिन बैंकों को PCA लिस्‍ट में डाला है उनमें देना बैंक, इलाहाबाद बैंक, यूनाइटेड बैंक, कार्पोरेशन बैंक, आईडीबीआई बैंक, यूको बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, सेंट्रल बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, ओरियंटल बैंक ऑफ कामर्स और बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र शामिल हैं। 

 

 

गोयल को मिला है अतिरिक्‍त कार्यभार 
वित्‍त मंत्री अरुण जेटली की किडनी के आपरेशन के चलते पीयूष गोयल को फाइनेंस मिनिस्‍ट्री का अतिरिक्‍त कार्यभार मिला है। उन्‍होंने गुरुवार को मंत्रालय में आयोजित बैंकिंग प्रमुखों के साथ एक बैठक की। मीटिंग के बाद उन्‍होंने कहा कि इंडस्‍ट्री को आश्‍वासन दिया है कि वह इसे व्‍यवस्थित करने का पूरा प्रयास करेंगे। लेकिन उन्‍होंने सरकारी बैंकों से पूरी ईमानदारी और पूरी जिम्‍मेदारी से काम करने का अाग्रह किया। 

 

 

जेटली के करीबी हैं गोयल 
पीयूष गोयल को अरुण जेटली का करीबी समझा जाता है। वह फिलहाल वित्‍त मंत्रालय का ज्‍यादातर काम अपने रेल भवन से ही निपटा रहे हैं। उन्‍होंने बताया कि कल उनकी जेटली से मुलाकात हुई थी। गोयल ने बताया कि उनका स्‍वास्‍थ तेजी से सुधर रहा है। उन्‍होंने कहा कि जेटली ने उनसे कुछ विषयों पर मार्गनिर्देशन दिया है, जिस पर वह काम कर रहे हैं। 


 

विरासत में मिली हैं दिक्‍कतें
गोयल रेलवे और कोयला विभाग के मंत्री हैं, लेकिन आजकल वह जेटली की बीमारी के चलते वित्‍त मंत्रालय का काम भी देख रहे हैं। जेटली के आने तक उन्‍हें वित्‍तमंत्रालय की अतिरिक्‍त जिम्‍मेदारी मिली है। उन्‍होंने कहा कि हम लोग जल्‍द से जल्‍द बैंकिंग सेक्‍टर को सुधारना चाहते हैं, हालांकि उन्‍होंने क‍ि बैंंकिंग सेक्‍टर में उन्‍हें दिक्‍कतें विरासत में मिली हैं। उन्‍होंने कहा कि NPA वाले ज्‍यादातर लोन पिछली सरकारों के समय में दिए गए हैं। उन्‍होंने कहा कि पॉवर, स्‍टील और टेलीकॉम सेक्‍टर की दिक्‍कतों के चलते इस क्षेत्र की कंपनियों के लोन दबाव में हैं। 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement
Don't Miss