बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Bankingस्‍टर्लिंग बॉयोटेक की 4700 करोड़ की एसेट अटैच, बैंक फ्रॉड में कार्रवाई

स्‍टर्लिंग बॉयोटेक की 4700 करोड़ की एसेट अटैच, बैंक फ्रॉड में कार्रवाई

ED ने स्‍टर्लिंग बॉयोटेक की 4700 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी को अटैच की है।

1 of

 

नई दिल्‍ली. ED ने स्‍टर्लिंग बॉयोटेक की 4700 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी को अटैच की है। कंपनी पर बैंक के साथ 5 हजार करोड़ रुपए का फ्रॉड करने का आरोप है। मुंबई और अहमदाबाद में इन प्रॉपर्टी को मनी लॉन्ड्रिंग एक्‍ट के तहत अटैच किया गया है।

 

200 बैंक अकाउंट अटैच

अधिकारियों के अनुसार कंपनी की 4000 एकड़ प्रॉपर्टी, प्‍लांट मशीनरी और 200 बैंक अकाउंट के अलावा प्रमोटर्स के 6.67 करोड़ रुपए वैल्‍यू के शेयर्स जब्‍त किए हैं। इसके अलावा कई लग्‍जरी कारें भी जब्‍त की गई हैं।

 

CBI की FIR के बाद हुआ एक्‍शन

ED ने यह एक्‍शन CBI की FIR के बाद उठाया है। इस एफआईआर में स्‍टर्लिंग बॉयोटेक, उसके निदेशक चेतन जयंतीलाल, दीप्ति चेतन, राजभूषण, ओमप्रकाश दीक्षित, नितिन जयंतीलाल और विलास जोशी के अलावा CA हेमंत हाथी, अनूप प्रकाश के नाम शामिल हैं। इन सब पर बैंक से धोखाधड़ी करने का आरोप है।

 

स्‍टर्लिंग ने लिया था 5 हजार करोड़ रुपए का लोन

स्‍टर्लिंग बॉयोटेक ने कई बैंकों के समूह से 5 हजार करोड़ रुपए का लोन लिया था, जिसमें बैंकों के समूह का प्रतिनिधित्‍व आंध्रा बैंक कर रहा था। बाद में यह लोन NPA हो गया था। FIR के अनुसार कंपनी पर बैंकों का 31 दिसंबर 2016 तक 5383 करोड़ रुपए बकाया था।

 

आंध्र बैंक के डायरेक्‍टर को पैसे देने के मिले सबूत

डायरेक्‍टरेट के अनुसार कंपनी पर छापेमारी के दौरान 2011 में इनकम टैक्‍स विभाग को मिली डायरियों में लिखा था कि 1.52 करोड़ रुपए ‘गर्ग डायरेक्‍टर आंध्रा बैंक’ को दिए गए। यह भुगतान कैश में किए जाने का जिक्र था। डायरियों के अनुसार यह भुगतान 2008 और 2009 में किया गया। बाद में जनवरी 2013 में उनको गिरफ्तार किया गया था। इसके अलावा इस मामले में नवंबर 2013 में दिल्‍ली स्थित कारोबारी गगन धवन को भी गिरफ्तार किया गया था।

 

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट