बिज़नेस न्यूज़ » Economy » BankingPNB फ्रॉड केसः मुख्‍य आरोपी गिरफ्तार, कांग्रेस, भाजपा ने एक दूसरे पर साधा निशाना

PNB फ्रॉड केसः मुख्‍य आरोपी गिरफ्तार, कांग्रेस, भाजपा ने एक दूसरे पर साधा निशाना

पीएनबी घोटाले को लेकर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मेादी पर निशाना साधा है।

1 of

 

 

नई दिल्ली.  पीएनबी घोटाले को लेकर कांग्रेस ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मेादी पर निशाना साधा है। कांग्रेस नेता कपिल सिब्‍बल ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्‍त मंत्री अरुण जेटली को इस घोटाले की पहले से जानकारी थी। वहीं रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि कांग्रेस देश को पीएनबी घोटाले पर गुमराह कर रही है। यह घोटाला यूपीए के समय में हुआ है। 
कांग्रेस अध्‍यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि‍ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सामने आकर बताना चाहि‍ए कि‍ नीरव मोदी के मामले में क्‍या हुआ और क्‍यूं हुआ। वह इसके बारे में क्‍या कर रहे हैं। उन्‍होंने भाजपा के इस आरोप का खंडन कि‍या कि‍ उनके नीरव से व्‍यक्‍तिगत संबंध थे। राहुल ने कहा कि भाजपा मुद्दे से ध्‍यान भटकाने के लि‍ए ऐसा कर रही है। 

ईडी ने जब्‍त की 5674 करोड़ रुपए की संपत्ति 
पीएनबी के 11,400 करोड़ रुपए के फ्रॉड मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने लगातार तीसरे दिन नीरव मोदी और अन्य के ठिकानों पर छापेमारी की। एजेंसी ने आज 25 करोड़ रुपए के और हीरे-जेवरात जब्त किए। कुल मिलाकर अब तक 5,674 करोड़ रुपये की जब्ती हो चुकी है। एक बयान में ईडी ने कहा, ‘आज नीरव मोदी मामले में देश में विभिन्न इलाकों में 21 स्थानों पर छापेमारी कर 25 करोड़ रुपए कीमत के हीरे-जेवरात और जब्त किए गए हैं। इस तरह अब तक जब्ती का आंकड़ा 5,674 करोड़ रुपए पर पहुंच गया है।’ ईडी अधिकारियों ने कहा कि छापेमारी 15 फरवरी को शुरू हुई थी और यह कल भी जारी रह सकती है। 

 

 

 

सीवीसी ने वित्‍त मंत्रालय और पीएनबी मैनेजमेंट को किया तलब 

 

इस बीच केंद्रीय सतर्कता आयोगी यानी सीवीसी ने वित्‍त मंत्रालय के अधिकारियों और पंजाब नेशनल बैंक के के मैनेजमेंट को तलब किया है। सीवीसी ने पीएनबी घोटाले को लेकर इन विभागों के अधिकारियों को पेश होने को कहा है। सीवीसी ने अधिकारियों को 19 फरवरी तक का समय दिया है। 

 

पीएनबी का पूर्व डिप्‍टी मैनेजर गिरफ्तार 

 

 

केंद्रीय जांच एजेंसी (सीबीआई) को पंजाब नेशनल बैंक में हुए 11,400 करोड़ रुपए के फ्रॉड में बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। सीबीआई ने फ्रॉड के मुख्य आरोपी माने जा रहे बैंक के पूर्व डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी को गिरफ्तार कर लिया है। इस केस में यह पहली गिरफ्तारी है। खबरों के मुताबिक शेट्टी के अलावा दो और लोगों को भी गिरफ्तार किया गया है, जिनमें बैंक का एक सिंगल विंडो ऑपरेटर मनोज खरात और नीरज मोदी के ऑथराइज सिग्नेचरी हेमंत भट्ट शामिल हैं। मुंबई की स्‍पेशल कोर्ट ने तीनों आरोपि‍यों को 3 मार्च तक के  लि‍ए सीबीआई की हि‍रासत में भेज दि‍या है। 

बैंकिंग इतिहास में इस सबसे बड़े घोटाले में नीरव मोदी के बाद सबसे ज्यादा सुर्खियों में गोकुलनाथ शेट्टी का ही नाम है। शेट्टी पिछले साल मई में ही पंजाब नेशनल बैंक से डिप्टी मैनेजर के पद से रिटायर हुए थे। 

 

गोकुलनाथ और खरात पर हैं ये आरोप

जांच में पता चला कि मार्च 2010 से बैंक के फॉरेक्स डिपार्टमेंट में काम कर रहे डिप्टी मैनेजर गोकुलनाथ शेट्टी ने विंडो ऑपरेटर मनोज खरात नाम के साथ मिलकर नीरव की कंपनियों को फर्जी तरीके से एलओयू (लेटर ऑफ अंडरस्टैंडिंग) दिया।

यह हेराफेरी पकड़ में न आए, लिहाजा बैंक के रिकॉर्ड में इसकी एंट्री भी नहीं की गई थी। बाद में इन्हीं जाली एलओयू के आधार पर एक्सिस और इलाहाबाद जैसे बैंकों की विदेशी शाखाओं ने बैंक को डॉलर में लोन दिए थे।

इन लोन का इस्तेमाल बैंक के नोस्ट्रो अकाउंट्स की फंडिंग के लिए किया गया था। इन अकाउंट्स से फंड को विदेश में कुछ फर्मों के पास भेजा गया, जो नीरव मोदी की कंपनी से ताल्लुक रखती थीं।

 

 

LoU क्या होता है?

ये पुराने समय की हुंडी की तरह है, जिसके जरिए गारंटी लेकर क्लाइंट को दूसरी जगहों पर बड़ी रकम हासिल करने की सुविधा दी जाती थी।

 

 

शुक्रवार को क्या कार्रवाई हुई थी?

शुक्रवार को 4 एजेंसियों ने कार्रवाई की। विदेश मंत्रालय ने नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के पासपोर्ट 4 हफ्ते के लिए सस्पेंड कर दिए।

ईडी ने 35 और सीबीआई ने 26 जगह छापे मारे। 549 करोड़ के हीरे और ज्वैलरी जब्त की गई। अब तक 5,649 करोड़ का सामान जब्त हुआ है। इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने भी 29 प्रॉपर्टी और 105 खाते अटैच किए। ईडी ने विदेशों में नीरव के स्टोर बंद रखने को कहा है। मेहुल की कंपनियों ने 2017-18 में 4,886 करोड़ रु. का फ्रॉड किया।

 

 

नीरव के न्यूयॉर्क में होने की खबर

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, नीरव मोदी न्यूयॉर्क में है। हालांकि, विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा- उसका ठिकाना पता नहीं। पर वह जहां भी होगा, वहां से भाग नहीं सकता।

बताया जा रहा है कि नीरव अपने परिवार के साथ न्यूयॉर्क की एक होटल में ठहरा हुआ है। इसका एक सुइट 90 दिन के लिए बुक किया गया है। इसका एक दिन का किराया 75000 रुपए है। इसके हिसाब से 90 दिन का किराया 67.5 लाख रुपए होगा।

 

 

नीरव-मेहुल को ईडी का समन

भगोड़े हीरा कारोबारियों को ढूंढ़ने के लिए इंटरपोल से भी मांगी मदद ईडी ने नीरव और मेहुल को मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट के तहत 23 फरवरी को तलब किया है। नोटिस कंपनी डायरेक्टरों को दिए गए। नीरव और परिवार का पता लगाने के लिए इंटरपोल से भी मदद मांगी है। नीरव और उसका भाई निशाल 1 जनवरी को भारत छोड़कर चले गए थे। मेहुल 4 जनवरी को गया था।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट