Home » Economy » Bankingvirtual currency in india like bitcoin account will close after doubtful activity

सिर्फ संदेह के आधार पर बंद हो सकता है बिटकॉइन का अकाउंट, कैसे निपटें इससे

कानून की कमी का उठाया जा रहा फायदा

1 of

नई दिल्ली। भारत में वर्चुअल करेंसी के चलन को रोकने के लिए रिजर्व बैंक की ओर से कई कदम उठाए गए हैं। इसमें बैंकों को क्रिप्टोकरेंसी के कारोबार में शामिल लोगों की बैंकिंग सहायता बंद करने का निर्देश दिया गया है। लेकिन कानूनी तौर पर इसमें कई लूपहोल हैं, जिसका फायदा उठाया जा रहा है। इस खेल में तकनीक की मदद ली जा रही है।

 

पीयर-टू-पीयर सर्विस

केंद्र सरकार को मामले में कड़े कदम उठाने हैं। इसे लेकर सरकार की ओर से गठित समिति की रिपोर्ट आनी बाकी है। देश में कानून की कमी की वजह से क्रिप्टोकरेंसी एक्सचेंज कारोबारी बैंकिंग प्रतिबंधों को दरकिनार कर रहे हैं। इस कारोबार को चलाने केलिए पीयर-टू-पीयर की सुविधा लेनदेन का फायदा उठाया जा रहा है।  

 

आगे पढ़ें- क्या हैं कानूनी प्रावधान

 

यह भी पढ़ें, फेसबुक ला सकता है अपनी क्रिप्‍टोकरंसी, 2 अरब से ज्‍यादा यूजर्स को मिलेगा पेमेंट ऑप्‍शन

क्या हैं कानूनी प्रावधान


RBI की गाइडलाइन के मुताबिक अगर बैंक को किसी भी खाते पर क्रिप्टोकरेंसी की गतिविधियों में शामिल होने का संदेह होता है, तो बैंक के पास उस खाते को बंद करने के पूरे अधिकार हैं। हालांकि खाते में जमा पैसों को जब्त करने का कोई प्रावधान नहीं है। वहीं इस तरह की गतिविधियों में लिप्त लोगों के लिए सजा का कोई प्रावधान नहीं है। नियम के अभाव में इस तरह की गतिविधियों को गैरकानूनी नहीं ठहराया जा सकता है। 

 

आगे पढ़ें, खाता बंद होने पर विकल्प

 

खाता बंद होने की सूरत में विकल्प 

 

अगर आपने क्रिप्टोकरेंसी में लेनदेन नहीं किया है और शक के संदेह में आपका खाता बंद कर दिया गया है, तो ऐसी परिस्थिति में आपके पास तीन विकल्प होते हैं। 


- संबंधित बैंक के नोडल अधिकारी से अपनी शिकायत दर्ज करा सकते हैं।
- खाताधारक बैंकिंग लोकपाल से शिकायत कर सकता है।
- खाताधारक उपभोक्ता अदालत जा सकता है।

 

आगे पढ़ें, क्या है बैंकों की राय

 

ये है बैंकों की राय 


बैंकों की ओर से लगातार अपने ग्राहकों को वर्चुअल करेंसी के कारोबार से दूर रहने की सलाह दी जा रही है। वहीं मामले में शक के संदेह में भी बैंक खाता बंद करने की चेतावनी मिल रही है। ऐसे में क्रिप्टोकरेंसी जैसे वर्चुअल करेंसी के चलन को लेकर कारोबारियों में असमंजस की स्थिति है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट