Home » Economy » BankingSimbhaoli Sugars says committed to clear all dues

सिंभावली शुगर्स ने कहा, सारा कर्ज चुका देंगे

सिंभावली शुगर्स का कहना है कि‍ वह ओरि‍एंटल बैंक से लि‍ए गए लोन को चुकाने के लि‍ए प्रति‍बद्ध है।

Simbhaoli Sugars says committed to clear all dues

नई दिल्‍ली। लोन फ्रॉड के मामले में फंसी सिंभावली शुगर्स का कहना है कि‍ वह ओरि‍एंटल बैंक से लि‍ए गए लोन को चुकाने के लि‍ए प्रति‍बद्ध है। सीबीआई ने सिंभावली शुगर्स लिमिटेड, उसके अध्यक्ष गुरमीत सिंह मान, उप महाप्रबंधक गुरपाल सिंह और अन्य के खिलाफ 97.85 करोड़ रुपये की कथित बैंक ऋण धोखाधड़ी का मामला दर्ज किया है। यह देश की सबसे बड़ी चीनी मिलों में से एक है। 
स्‍टॉक एक्‍सचेंज को दी गई सूचना में कंपनी ने कहा कि उन्‍होंने पहले भी बैंकों से पैसा लि‍या है  और समय पर चुका भी दि‍या है मगर इस बार चीनी इंडस्‍‍‍‍‍ट्री में आए बुरे दौर की वजह से ऐसा नहीं हो पाया। इस मामले में कंपनी और उसका प्रबंधन जांच एजेंसि‍यों को अपनी सफाई देंगे और उनके साथ पूरी तरह से सहयोग भी करेंंगेे।

 

क्‍या है मामला 
बैंक का कहना है कि कंपनी ने वर्ष 2011 में 148.60 करोड़ रुपए का लोन लि‍या। यह  लोन आरबीआई की एक स्‍कीम के तहत 5762 गन्‍ना कि‍सानों को भुगतान करने लि‍ए लि‍या गया था। कंपनी ने बेईमानी करते हुए इस पैसे का इस्‍तेमाल अपनी अन्‍य जरूरतें पूरी करने में लगा दि‍या। यह एकाउंट 31 मार्च 2015 को एनपीए हो गया। बैंक ने 13 मई 2015 को इसे फ्रॉड का दर्जा दि‍या। इस फ्रॉड की रकम 97.85 करोड़ रुपए आंकी गई। 


बैंक का आरोप है कि‍ उस एनपीए के बावजूद कंपनी ने अन्‍य तरीकों से बैंक से 28 जनवरी 2015 को 110 करोड़ रुपए का लोन हासि‍ल कर लि‍या। कंपनी ने इस लोन का मकसद पुराने बकाए को चुकाना बताया था लेकि‍न ऐसा हुआ नहीं और ये लोन भी 20 नवंबर 2016 को एनपीए हो गया। इसके चलते संभावली शुगर मि‍ल्‍स पर 97.85 करोड़ का जो लोन था वो तो चुकता हुआ नहीं और 109.08 करोड़ का लोन और चढ़ गया।  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट