विज्ञापन
Home » Economy » BankingRBI cut repo rate

जो काम न कर पाए उर्जित पटेल, उसे शक्तिकांत दास ने पहली बैठक में पहुंचाया अंजाम तक

केंद्र सरकार की पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल से कुछ टकराव की बाते सामने आई थी।

RBI cut repo rate

RBI cut repo rate: रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांस दास ने अपनी पहली मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक में रेपो रेट में कटौती की। केंद्र सरकार लंबे समय से रेपो रेट में कटौती करना चाह रही थी। ऐसे में केंद्र सरकार की पूर्व गवर्नर उर्जित पटेल से कुछ टकराव की बाते सामने आई थी। लेकिन उनके गर्वनर पद से हटन के बाद सरकार ने शक्तिकांत दास को आरबीआई गवर्नर का पदभार दिया

नई दिल्ली. रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांस दास ने अपनी पहली मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक में रेपो रेट में कटौती की। केंद्र सरकार लंबे समय से रेपो रेट में कटौती की उम्मीद में थी। लेकिन रघुराम राजन और उर्जित पटेल के गवर्नर रहते ऐसा न हो सका। लेकिन उनके गर्वनर पद से हटने के बाद सरकार ने शक्तिकांत दास को आरबीआई गवर्नर का पदभार दिया।

 

मार्केट जानकारों को साबित किया गलत

शक्तिकांत दास ने आरबीआई की पहली मौद्रिक नीति समीक्षा बैठक में ही सरकार के अनुरुप रेपो रेट में कटौती का फैसला लिया। उनके फैसले ने व्यापार जगत के जानकारों की उस सभी अटकलों को खारिज कर दिया, जिसमें कहा जा रहा था कि आरबीआई की ओर से रेपो रेट में कोई कटौती नहीं की जाएगी।  

 

पूरे भारत में रियल एस्टेट को मिलेगा बढ़त

डॉ.निरंजन हीरानंदानी, प्रेसिडेंट, नारेडको, ने कहा कि “आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास के तहत पहली मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक से काफी सकारात्मक परिणाम सामने आए हैं और  25 बीपीएस की दर में कटौती एक बेहतर बदलाव है। रेपो रेट अब 6.25 प्रतिशत होगा, जबकि रिवर्स रेपो दर 6 प्रतिशत तक रह गई है। यह वित्त मंत्री पीयूष गोयल द्वारा बजट भाषण के बाद उसी दिशा में उठाया गया एक और कदम है, और यह न केवल अर्थव्यवस्था में पूंजी की तरलता को बढ़ाएगा, बल्कि निवेश को भी बढ़ावा देगा और अर्थव्यवस्था को सकारात्मक विकास का आधार मजबूत करेगा। आगामी समीक्षाओं में आगे की दरों में कटौती का विकल्प भी खुला रहेगा, और मुझे उम्मीद है कि हम आरबीआई से इस तरह के और भी ’सकारात्मक कदम’ देखेंगे। रियल एस्टेट के नजरिए से, यह होम लोन की ब्याज दरों को प्रभावित करेगा, और घटी हुई ईएमआई इस बाजार को सकारात्मक बनाने में अहम भूमिका अदा करेगी। इससे पूरे भारत में रियल एस्टेट को आगे बढ़त मिलेगी।”

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन