बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Bankingमर्जर की वजह से बंद हुए 41 लाख SBI अकाउंट, बैंक ने दी सफाई

मर्जर की वजह से बंद हुए 41 लाख SBI अकाउंट, बैंक ने दी सफाई

2017-18 में 41 लाख एसबीआई खातों के बंद हो जाने के कारण को लेकर बैंक ने सफाई दी है।

1 of

मुंबई. 2017-18 में 41 लाख एसबीआई खातों के बंद हो जाने के कारण को लेकर बैंक ने सफाई दी है। एसबीआई ने बृहस्‍पतिवार को एक बयान में कहा कि इन अकाउंट्स को मिनिमम बैलेंस मेंटेन न कर पाने की वजह से नहीं बल्कि एसोसिएट बैंकों के साथ इसके मर्जर की वजह से बंद किया गया है। 


 
बता दें कि इतने ज्‍यादा एसबीआई अकाउंट मौजूदा वित्‍त वर्ष की अप्रैल से जनवरी की अवधि में बंद हुए हैं। इसके पीछे कस्‍टमर्स द्वारा मिनिमम एवरेज बैलेंस मेंटेन नहीं किए जाने को माना जा रहा था। मीडिया में ऐसी रिपोर्ट्स आने के बाद बैंक ने यह सफाई दी है। एसबीआई ने कहा कि कस्‍टमर्स के इसके एसोसिएट बैंकों और एसबीआई में भी कई अकाउंट्स थे। अप्रैल 2017 में हुए मर्जर के बाद इनमें से कई अकाउंट को बंद किया गया।   
 


2017-18 में खुले 2 करोड़ नए सेविंग्‍स अकाउंट

इस वक्‍त एसबीआई में 41 करोड़ सेविंग्‍स अकाउंट हैं और मौजूदा वित्‍त वर्ष में 2 करोड़ नए सेविंग्‍स अकाउंट खोले गए हैं। इनमें से 1 करोड़ से ज्‍यादा अकाउंट प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत हैं, जिन्‍हें मिनिमम मंथली बैलेंस से छूट है। बैंक ने यह भी कहा कि जो कस्‍टमर्स मिनिमम मंथली बैलेंस रख पाने में सक्षम नहीं हैं, वे अपने रेगुलर सेविंग्‍स बैंक अकाउंट को बेसिक सेविंग्‍स बैंक अकाउंट में बिना किसी चार्ज के कन्‍वर्ट करा सकते हैं। 


 
हाल ही में घटाया है लो बैलेंस पर चार्ज 

एसबीआई ने मंगलवार को सेविंग्‍स अकाउंट में मिनिमम मंथली एवरेज बैलेंस मेंटेन न कर पाने पर लगने वाले चार्ज को 75 फीसदी तक घटाया है। नया चार्ज 1 अप्रैल 2018 से प्रभावी होगा।  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट