बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Bankingचौतरफा आलोचना से SBI दबाव में, घटा सकता है मिनिमम बैलेंस अमाउंट और पेनल्‍टी

चौतरफा आलोचना से SBI दबाव में, घटा सकता है मिनिमम बैलेंस अमाउंट और पेनल्‍टी

एसबीआई ने कहा कि वह मिनिमम बैलेंस अमाउंट और इसे बरकरार न रख पाने पर लगने वाली पेनल्‍टी को घटाने पर विचार कर रहा है।

1 of

मुंबई. कस्‍टमर्स द्वारा सेविंग्‍स अकाउंट में मिनिमम मंथली एवरेज बैलेंस (MAB) न रख पाने पर पेनल्‍टी से करोड़ों की कमाई को लेकर चौतरफा आलोचना का सामना कर रहे SBI ने अब इस दिशा में कदम उठाने का फैसला किया है। SBI ने शुक्रवार को कहा कि वह मिनिमम बैलेंस अमाउंट और इसे बरकरार न रख पाने पर लगने वाली पेनल्‍टी को घटाने पर विचार कर रहा है। 

 

बता दें कि पिछले दिनों वित्‍त मंत्रालय द्वारा जारी आंकड़ों से सामने आया कि अप्रैल से नवंबर 2017 के बीच बैंक ने सेविंग्‍स अकाउंट में MAB बरकरार न रख पाने वाले कस्‍टमर्स से जो पेनल्‍टी वसूली, वह 1,771 करोड़ रुपए रही। यह आंकड़ा बैंक के दूसरी तिमाही के प्रॉफिट से भी ज्‍यादा है। तभी से SBI को चौतरफा आलोचना का सामना करना पड़ रहा है। 

 

5 सालों बाद दोबारा अनिवार्य किया था MAB

SBI में 40.2 करोड़ से भी ज्‍यादा सेविंग्‍स बैंक अकाउंट हैं।SBI ने 5 सालों के अंतराल के बाद अप्रैल 2017 में फिर से सेविंग्‍स अकाउंट में एक तय MAB बरकरार रखना अनिवार्य कर दिया था। इसके तहत SBI ने सेविंग्‍स अकाउंट में मेट्रो शहरों में 5,000 रुपए और ग्रामीण इलाकों में 1,000 रुपए का मिनिमम बैलेंस अनिवार्य किया था। इसी तरह अर्द्ध शहरी व शहरी इलाकों के लिए भी बैलेंस का अमाउंट तय था। इस बैलेंस को बरकरार न रख पाने पर बैंक ने एक पेनल्‍टी भी निश्चित की। 

 

अक्‍टूबर में की थी कटौती 

SBI में रिटेल और डिजिटल बैंकिंग मैनेजिंग डायरेक्‍टर पीके गुप्‍ता ने कहा कि अप्रैल 2017 से मंथली एवरेज बैलेंस अनिवार्य किए जाने के बाद से हम लगातार इस का रिव्‍यू कर रहे हैं और अक्‍टूबर में हमने इसे कुछ कम भी किया था। अब हम फिर से इसका रिव्‍यू कर रहे हैं। वर्तमान में SBI में मेट्रो व शहरी क्षेत्रों के लिए MAB 3000 रुपए है व इसे बरकरार न रख पाने पर पेनल्‍टी 30-50 रुपए प्‍लस टैक्‍स है। अर्द्ध शहरी और ग्रामीण इलाकों के लिए MAB क्रमश: 2000 व 1000 रुपए और पेनल्‍टी 20-40 रुपए प्‍लस टैक्‍स है। अप्रैल से अक्‍टूबर के दौरान SBI सेविंग्‍स अकाउंट के लिए MAB मेट्रो शहरों के लिए 5000 रुपए और पेनल्‍टी 50-100 रुपए थी। 

 

यह भी पढ़ें- SBI ने आपके अकाउंट से चुपके से कमा लिए करोड़ों, ऐसे कट रही आपकी जेब

 

पेनल्‍टी में भी हो सकती है कटौती 

गुप्‍ता ने आगे कहा कि MAB के साथ ही इसके नॉन-मेंटीनेंस पर पेनल्‍टी का भी रिव्‍यू हो रहा है। रिव्‍यू इस पेनल्‍टी को लेकर मिले फीडबैक पर आधारित है और जल्‍द ही इसकी घोषणा की जाएगी। 

 

सर्विस कॉस्‍ट से काफी कम है MAB से हासिल राशि 

SBI ने हाल ही में कहा था कि मेट्रो शहरों में 3000 रुपए के मंथली एवरेज बैलेंस पर बैंक को केवल 6 रुपए प्रति माह की आय हुई है, जबकि ग्रामीण इलाकों के 1000 रुपए के MAB पर केवल 2 रुपए प्रति माह हासिल हुआ है। यह राशि बैंक द्वारा प्रदान की जाने वाली सर्विसेज (फ्री चेक बुक, 8 फ्री एटीएम ट्रान्‍जेक्‍शंस, फ्री ब्रांच ट्रान्‍जेक्‍शंस) और इन पर आने वाली लागत के मुकाबले बहुत कम है। 

 

इन सेविंग्‍स अकाउंट्स को है छूट 

बैंक ने यह भी कहा था प्रधानमंत्री जन धन योजना, स्‍मॉल अकाउंट्स और बेसिक सेविंग बैंक डिपॉजिट अकाउंट्स, पेंशनर्स, माइनर्स और सभी सोशल बेनिफीशियरीज अकाउंट्स जैसे सेविंग्‍स अकाउंट्स को MAB अनिवार्यता से छूट है और इन पर कोई चार्ज नहीं लिया जाता है। 

 

यह भी पढ़ें- बैंकों में खुलवाइए ये अकाउंट, नहीं रखना पड़ेगा मिनिमम बैलेंस

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट