विज्ञापन
Home » Economy » BankingDigital payment committee

कभी आधार का प्रोजेक्ट किया था तैयार, अब डिजिटल पेमेंट की खामियों को करेंगे दूर, RBI ने नीलेकणि को दी अहम जिम्मेदारी

RBI ने गठित की 5 सदस्यीय समिति, जिसे 90 दिनों में देनी होगी रिपोर्ट

Digital payment committee

भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने और उसकी खामियों को दूर करने के लिए एक पांच सदस्यीय समिति का गठन किया है, जिसकी अध्यक्षता नंनद नीलेकणि करेंगे। इन्फोसिस को-फाउंडर को नीलेकणि को भारतीय विशिष्ट पहचान संख्या प्राधिकरण (आधार) का प्रोजेक्ट तैयार किया था। आरबीआई की ओर से जारी बयान में कहा कि समिति को अपनी पहली बैठक के बाद 90 दिनों में रिपोर्ट देनी होगी। 

दिल्ली. भारतीय रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने और उसकी खामियों को दूर करने के लिए एक पांच सदस्यीय समिति का गठन किया है, जिसकी अध्यक्षता नंनद नीलेकणि करेंगे। इन्फोसिस को-फाउंडर को नीलेकणि को भारतीय विशिष्ट पहचान संख्या प्राधिकरण (आधार) का प्रोजेक्ट तैयार किया था। आरबीआई की ओर से जारी बयान में कहा कि समिति को अपनी पहली बैठक के बाद 90 दिनों में रिपोर्ट देनी होगी। 

 

समिति में शामिल होंगे ये सदस्य 

नीलेकणि की अध्यक्षता वाली समिति में रिजर्व बैंक के पूर्व डिप्टी गवर्नर एस आर खान, विजया बैंक के पूर्व प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी किशोर सांसी, सूचना प्रौद्योगिकी विभाग की पूर्व सचिव अरुणा शर्मा और आईआईएम अहमदाबाद के सेंटर फार इन्नोवेशन, इनक्युबेशन एंड आंत्रप्रेशनरशिप के मुख्य इन्नोवेशन अधिकारी संजय जैन सदस्य बनाए गए हैं।

 

डिजिटल भुगतान को सुरक्षित बनाने पर होगा जोर 

समिति को देश में भुगतान के डिजिटलीकरण, वर्तमान तंत्र में डिजिटल भुगतान में अंतर को दूर करने के उपाय, वित्तीय समावेशन में वर्तमान में डिजिटल भुगतान के साथ ही देश में डिजिटल भुगतान को सुरक्षित बनाने पर सुझाव देना होगा।  

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss