Advertisement
Home » इकोनॉमी » बैंकिंगRBI employees defer 2 day mass leave programme

नाराज RBI कर्मचारियों ने टाली हड़ताल, नहीं प्रभावित होंगी बैंकिंग सेवाएं

RBI प्रबंधन से बातचीत के बाद कर्मचारियों ने लिया फैसला

RBI employees defer 2 day mass leave programme

नई दिल्ली। पेंशन से जुड़ी अपनी अलग-अलग मांगों को लेकर समूहिक अवकाश जाने की घोषणा को आरबीआई के कर्मचारी संगठन ने टाल दी है। बैंक के कर्मचारी  4 और 5 सितंबर को सामूहिक हड़ताल जाने वाले थे, हालांकि आरबीआई प्रबंधन से बातचीत के बाद कर्मचारियों ने यह हड़ताल टाल दी।  रिजर्व बैंक के अधिकारियों व कर्मचारी यूनियन के संयुक्त मंच ने  सोमवार को यह जानकारी दी। इसके चलते 4 और 5 सितंबर  को प्रस्तावित हड़ताल अब नहीं होगी।

 

काम काज पर पड़ सकता था असर 
 कुछ मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इस हड़ताल का असर  आम नागरिकों की बैंक सर्विस पर भी पड़नेवाला था। ऐसा माना जा रहा था कि प्रस्तवित छुट्टी की योजना से केंद्रीय बैंक समेत देश के प्रमुख वित्तीय संस्थानों का काम-काज ठप हो जाता। हालांकि संगठन ने कहा कि यदि मुद्दे हल नहीं हुए तो उन्हें मजबूरन दो दिन की हड़तल करनी पड़ेगी। संगठन ने अपने बयान में कहा किरिजर्व बैंक के शीर्ष प्रबंधन और कर्मचारी संगठन के बीच हुई वार्ताओं के बाद 4 और 5 सितंबर को प्रस्तावित सामूहिक अवकाश की योजना को टाल दिया गया है। बैंक प्रबंधन ने कर्मचारियों की मांग मानने के लिए कुछ और समय देने का अनुरोध किया है। 

Advertisement


मनी ट्रांसफर की गतिविधियों पर पड़ता असर 
बताया गया था कि आरबीआई का पूरा ऑपरेशन ठप होने से फॉरेक्स और मनी मार्केट की ज्यादातर गतिविधियां लगभग ठप हो जातीं। बैंक की अल्पकालिक लेनदेन भी बंद रहता, जिसका असर कैश और कॉन्ट्रैक्ट दोनों सेग्मेंट में दिखता। इतना ही नहीं, बैंकों के ऑपरेशंस पर सीधा असर पड़ता और वित्तीय लेनदेन बाधित हो सकता था। 


ये हैं कर्मचारियों की मांग 
कर्मचारियों की मांग में अंशदान आधारित भविष्य निधि के दायरे में आने वालों के लिए पेंशन को अपडेट करना और 2012 के बाद नियुक्त कर्मचारियों के लिए सीपीएफ/अतिरिक्त भविष्य निधि का लाभ देना शामिल है। 

Advertisement

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement