Advertisement
Home » Economy » BankingNow cheaters start new way to cheat EMV ATM Holders

चिप वाले नए एटीएम कार्ड से ठगी के लिए शातिरों ने निकाला नया तरीका, आप बरतें सावधानी नहीं तो अकाउंट हो सकता है खाली

आरबीआई के निर्देश पर बैंक अपने ग्राहकों को मुफ्त में नया एटीएम दे रहे हैं

1 of

नई दिल्ली। ऑनलाइन और साइबर ठगी को रोकने के लिए बैंक मैग्निटक कार्डों को बंद करके नए ईएमवी चिप वाले एटीएम कम डेबिट कार्ड जारी कर रहे हैं। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के निर्देशों के बाद बैंक अपने ग्राहकों को मुफ्त में एटीएम या डेबिट कार्ड जारी कर रहे हैं। इन कार्डों से ठगी पर लगाम कसने के दावे किए जा रहे हैं। लेकिन अब शातिरों ने इन कार्डधारकों को ठगने का नया तरीका निकाला है। ऐसा ही एक मामला सामने आया है जिसमें शातिरों ने ईएमवी चिप वाले एटीएम धारक से ठगी का प्रयास किया।

 

ये है ठगी का नया तरीका
ईएमवी कार्ड से ठगी के लिए शातिरों ने एक नया तरीका अपनाया है। एक हिन्दी अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, शातिर ठगी के लिए ईएमवी कार्ड धारकों को फोन लगा रहे हैं। फोन पर शातिर खाताधारकों को नया कार्ड लेने के बारे में पूछते हैं। जब कोई ग्राहक नया कार्ड लेने की बात कहता है तो कॉल करने वाला खुद को बैंक का कर्मचारी बताता है। इसके बाद कॉल करने वाला ग्राहक से कहता है कि न तो उसने पुराने कार्ड को जमा किया है और न ही नए कार्ड की डिटेल बैंक के पास जमा की है। इसके बाद कॉल करने वाला कॉल किए गए नंबर पर पुराने और नए दोनों नंबरों की डिटेल भेजने के लिए कहता है। ऐसा नहीं करने पर ग्राहक को कार्ड ब्लॉक करने की धमकी दी जाती है। हाल ही में गाजियाबाद के एसबीआई के एक ग्राहक से इस प्रकार से ठगी का प्रयास किया गया है।

बैंक को वापस कर दें पुराना कार्ड


नेशनल आर्गेनाइजेशन आफ बैंक वर्कर्स के उपाध्यक्ष अश्विनी राणा का कहना है कि बैंक ग्राहक अपना एटीएम कार्ड बदलवाते समय पुराने कार्ड को बैंक को आवश्यक रूप से लौटा दें। इससे ठगी की संभावना नहीं रहेगी। बैंक पुराने कार्ड को ब्लॉक करके आपको नया कार्ड दे देंगे। उन्होंने कहा कि कोई भी ग्राहक अपने कार्ड की जानकारी, पिन नंबर या सीवीवी नंबर किसी को न बताएं। इससे ठगी की संभावना नहीं रहेगी। अश्विनी राणा का कहना है कि यदि कोई फोन करके आप पर कार्ड की जानकारी देने के लिए दबाव बनाता है या किसी प्रकार की धमकी देता है तो बैंक या पुलिस को जरुर बताएं। कोई भी बैंक फोन करके अपने ग्राहकों से कोई जानकारी नहीं मांगती है। 

31 दिसंबर तक बदले जा सकते हैं कार्ड


आरबीआई के निर्देशों के बाद सभी बैंक अपने मैग्नेटिक स्ट्रिप वाले एटीएम कम डेबिट और क्रेडिट कार्डों को बदल रहे हैं। इसके लिए बैंकों की ओर से ग्राहकों को एसएमएस, ई-मेल, सोशल मीडिया और अन्य माध्यमों से सूचना दी जा रही है। बैंकों की ओर से नए ईएमवी कार्ड मुफ्त में उपलब्ध बताए जा रहे हैं। सूत्रों के अनुसार, अब तक लाखों कार्ड बदले जा चुके हैं। नए कार्ड में सुरक्षा का विशेष ध्यान रखा गया है। यदि आप अभी तक अपना कार्ड नहीं बदलवा पाए तो 31 दिसंबर तक नया कार्ड ले सकते हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement