Home » Economy » BankingJan Dhan Yojana benefit doubled to Rs 2 lakh by Modi government, overdraft amount increased to Rs 10,000

मोदी सरकार ने लिया बड़ा फैसला, अनहोनी में 1 लाख की जगह अब मिलेंगे 2 लाख

जनधन खातों में ओडी की सीमा 5 से 10 हजार हुई, हर परिवार की जगह हर व्यक्ति का खाता खोलेगी मोदी सरकार

1 of

 

नई दिल्ली. मोदी सरकार ने प्रधानमंत्री जनधन योजना को दुनिया की सबसे बड़ी फाइनेंशियल इन्क्लूजन स्कीम बताते हुए इसेे आगे भी जारी रखने का फैसला किया है। इस योजना के बेनिफिट‌्स भी अब पहले के मुकाबले दोगुनेे कर दिए गए हैं। जनधन खाते में मिलने वाली ओवर ड्राफ्ट (ओडी) की सीमा और बीमा राशि को दोगुना कर दिया गया है। इस स्कीम का लक्ष्य बदलते हुए अब हर परिवार की जगह हर व्यक्ति का बेसिक अकाउंट खोलने का फैसला किया गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में बुधवार देर शाम हुई कैबिनेट की बैठक में यह निर्णय लिया गया।  

ओवर ड्राफ्ट (OD)  की सीमा 10 हजार हुई 

कैबिनेट ने नए जनधन खातों पर ओवर ड्राफ्ट यानी OD की सीमा को 5 हजार की बजाय 10 हजार रुपए कर दिया है।  हालांकि मौजूदा जनधन खातों पर  OD की सीमा 5 हजार रुपए ही रहेगी, लेकिन नए खातों के लिए यह सीमा 10 हजार रुपए करने का निर्णय लिया गया है। 2 हजार रुपए तक की OD  के लिए कोई शर्त नहीं होगा। यही नहीं OD लेने वालों की उम्र सीमा पहले 18 से 60 वर्ष थी। इसे बढ़ाकर अब 18 से 65 वर्ष कर दिया गया है। 

 

1 की जगह 2 लाख का इंश्योरेंस कवर 

जनधन खातों के साथ मिलने वाले रुपे कार्ड पर  इंश्योरेंस अब 1 की जगह 2 लाख हो गया है। यह इंश्योरेंस दुर्घटना की स्थिति में दिया जाता था। हालांकि सरकार ने साफ किया है कि  28 अगस्त 2018 के बाद खुलने वाले खाताें के लिए जारी कार्ड पर ही 1 की जगह 2 लाख का एक्सीडेंटल क्लेम मिलेगा। पहले के खुले खातों पर 1 लाख का ही क्लेम मिलेगा। 

 

बढ़ाई गई योजना का अवधि 

वित्त मंत्री अरुण जेटली के मुताबिक, शुरू में इस योजना को 4 साल के लिए  चलाया गया था। यह इस साल 14 अगस्त को समाप्त हो गई थी। अब इसकी मियाद बढ़ा दी गई है। यह योजना अब अगले फैसले तक जारी रहेगी। योजना को कब समाप्त करना है, इस बारे में निर्णय बाद में लिया जाएगा।

 

 

आगे पढ़ें- हर व्यक्ति की जगह हर परिवार का खाता खोलेग सरकार...

 

हर व्यक्ति की जगह हर परिवार का खाता खोलेगी सरकार 

मोदी सरकार ने अब जनधन योजना का लक्ष्य बदलने का फैसला किया है। अभी तक इस योजना के तहत हर परिवार का कम से कम एक जनधन खाता खोला जा रहा था, अब वह हर वयस्क व्यक्ति का खाता खोलेगी। 

 

 

आगे पढ़ें- दुनिया की सबसे बड़ी फाइनेंशियल इन्क्लूजन स्कीम 

 

 

 

दुनिया की सबसे बड़ी फाइनेंशियल इन्क्लूजन स्कीम

बता दें कि मोदी सरकार जनधन को दुनिया की सबसे बड़ी फाइनेंशियल इन्क्लूजन स्कीम बताती रही है। सरकार के मुताबिक, इस स्कीम में 53 प्रतिशत खाते ग्रामीण क्षेत्र की महिलाओं के हैं। 59 प्रतिशत बैंक खाते ग्रामीण और अर्ध शहरी क्षेत्रों में खोले गए हैं। अभी तक 83 प्रतिशत बैंक खातों को आधार से जोड़ा जा चुका है और 24.4 करोड़ लोगों के पास रुपे कार्ड है।

 

आगे पढ़ें-DBT का बड़ा जरिया है जनधन स्कीम

 

 

 

DBT का बड़ा जरिया है जनधन स्कीम 

बता दें कि जनधन स्कीम डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (DBT) का बडा जरिया रही है। इस स्कीम के तहत सरकार 7.5 करोड़ बैंक खातों में DBT की सुविधा दे रही है। इन खातों में मिलने वाली 5000 रुपए की ओवर ड्राफ्ट की सुविधा का 30 लाख लोगों ने उपयोग किया है। 31 जनवरी 2015 से पहले के खातों में 30 हजार रुपए के बीमे की सुविधा से 4981 परिवारों को लाभ मिला है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट