Home » Economy » Bankingआरबीआई ने 10 रुपए के सभी सिक्‍कों को बताया वैध - RBI says, all Rs 10 coins are legal tender and can be accepted for transactions

सभी 14 तरह के 10 रुपए के सिक्‍के वैलिड और लीगल टेंडर: आरबीआई

10 रुपए के सिक्‍कों को लेकर बनी भ्रम की स्थिति पर एक बार फिर आरबीआई ने अपना रुख साफ किया है..

1 of

नई दिल्ली.  रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (आरबीआई) ने 10 रुपए के सिक्‍कों को लेकर बनी भ्रम की स्थिति पर एक बार फिर अपना रुख साफ किया है। बुधवार को जारी अपने बयान में केंद्रीय बैंक ने कहा कि बाजार में चल रहे सभी 14 तरह के 10 रुपए के सिक्के वैलिड और लीगल टेंडर हैं।  10 रुपए के सभी सिक्के देश में चलेंगे। कोई भी सिक्का अमान्य नहीं है।

 

सभी सिक्‍केे हैं वैध  

आरबीआई के मुताबिक, उसे पता चला है कि देश के अलग-अलग हिस्‍सों में बहुत से ट्रेडर 10 रुपए की कीमत वाले सिक्‍कों को लेने से मना कर रहे हैं। हम साफ करना चाहते हैं कि हमारी ओर से जारी किए गए ये सिक्‍के वैध हैं। इन्‍हें भारत सरकार के टकसाल विभाग की ओर से तैयार किया गया है। इन सिक्‍कों को देश की  इकोनॉमिक, सोशल और कल्‍चरल वैल्‍यूज की थीम के हिसाब से डिजाइन किया जाता है। इन्‍हें समय-समय पर मार्केट में उतारा जाता है।

 

अब तक 14 सिक्‍के हुुुए जारी 

बयान के मुताबिक,  केंद्रीय बैंक की ओर से 10 रुपए के अब तक 14 सिक्‍के जारी किए जा चुके हैं। इनकी जानकारी समय-समय पर प्रेस के माध्‍यम से लोगों तक पहुंचाई भी गई है। ये सभी सिक्‍के लीगल हैं और इन्‍हें किसी भी ट्रांजेक्‍शन के लिए यूज किया जा सकता है। 

 

पहले भी जारी किया बयान 

पिछले साल नवंबर और अप्रैल में भी आरबीआई ने इसी तरह का बयान जारी कर 10 रुपए के सिक्‍कों को वैध बताया था। बयान में आरबीआई ने शेरावाली, संसद की फोटो वाली के साथ 10 लिखे हुए, होमी भाभा और महात्‍मा गांधी की तस्‍वीर वाले सिक्कों को भी मान्‍य बताया था।

 

10 रुपए के कुछ सिक्‍कों को लोग बता रहे नकली 

बीते कई महीनों से 10 रुपए लिखे हुए सिक्को को लेकर विवाद है। आरबीआई की ओर से जारी अलग अलग 10 रुपए के सिक्‍कों में से कुछ को लोग नकली बताते रहे हैं। आरबीआई ने समाचार एजेंसी 'भाषा' को ईमेल के जरिए दी गई जानकारी में बताया था कि 10 रुपए लिखा हुआ सिक्का और बाकी के डिजाइन वाले सभी सिक्के पूरी तरह से मान्य हैं। आरबीआई ने कहा है कि अलग-अलग समय में सिक्के जारी होने की वजह से उनके डिजाइन अलग-अलग हैं।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट