बिज़नेस न्यूज़ » Economy » BankingRBI इस साल की चौथी तिमाही से शुरू करेगा ब्‍याज दरों में बढ़ोत्‍तरी, मार्गन स्‍टैनली का अनुमान

RBI इस साल की चौथी तिमाही से शुरू करेगा ब्‍याज दरों में बढ़ोत्‍तरी, मार्गन स्‍टैनली का अनुमान

मार्गन स्‍टैनली की रिपोर्ट की माने तो रिजर्व बैंक इस साल की चौथी तिमाही से ब्‍याज दरों में बढ़ोत्‍तरी शुरू कर सकता है।

1 of

नई दिल्‍ली. क्‍या एक बार फिर ब्‍याज दरों में बढ़ोत्‍तरी का दौर लौट सकता है? फाइनेंशियल सर्विसेज देने वाली कंपनी मार्गन स्‍टैनली की रिपोर्ट की माने तो रिजर्व बैंक इस साल की चौथी तिमाही से ब्‍याज दरों में बढ़ोत्‍तरी शुरू कर सकता है। रिपोर्ट के अनुसार, इस साल की आखिर तक इकोनॉमी रिकवर हो सकती है और तब  आरबीआई नीतिगत दरों (पॉलिसी रेट्स) में इजाफा शुरू कर सकता है।

 

 

ये दो वजहें करेंगी काम 
मॉर्गन स्‍टैनली ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि 2018 की चौथी तिमाही से पॉलिसी रेट बढ़ोत्‍तरी शुरू होने की दो वजहें हैं। आरबीआई के लक्ष्य की तुलना में महंगाई में कोई खास तेजी की आशंका नहीं है और तब तक आर्थिक सुधारों के मजबूत स्थिति में पहुंच जाने का भी अनुमान है। फर्म का मानना है कि इस साल के आखिर तक प्राइवेट कैपिटल एक्‍सपेंडिजर में भी रिकवरी दिखाई देगी। इस तरह, ग्रोथ में निश्चित रिकवरी और स्‍थायित्‍व को देखते हुए रिजर्व बैंक धीरे-धीरे ब्‍याज दरों में बढ़ोत्‍तरी का दौर शुरू कर सकता है। 

 

पहली द्विमासिक समीक्षा में नहीं बदलीं ब्‍याज दरें 
वित्‍त वर्ष 2018-19 की पहली द्विमासिक मॉनिटरी पॉलिसी में आरबीआई ने रेपो रेट में कोई बदलाव न करते हुए उसे 6 फीसदी पर बरकरार रखा। मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी ने लगातार चौथी बार रेट्स में कोई बदलाव नहीं किया है। पिछले साल अगस्त से रेट रेट 6 प्रतिशत ही है। मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी के पांच सदस्य, जिसमें आरबीआई गवर्नर उर्जित पटेल भी शामिल हैं, ने रेपो रेट में कोई बदलाव न करने के पक्ष में थे, वहीं एग्जिक्युटिव डायरेक्टर माइकल पात्रा इकलौते ऐसे सदस्य थे जो 25 बेसिस प्‍वाइंट यानी चौथाई फसदी बढ़ाने के पक्ष में थे। 

 

0.75% ब्‍याज दरें बढ़ने की उम्‍मीद 
डाइचे बैंक की एक रिसर्च रिपोर्ट के अनुसार, मौजूदा और अगले कुछ महीनों में ग्रोथ और महंगाई का मिलाजुला रुझान देखते हुए आरबीआई इस स्थिति को बनाए रख सकता है। क्रूड की कीमतें 70 डॉलर प्रति बैरल से नीचे और सामान्‍य मानसून रहता है तो अभी हाल-फिलहाल ब्‍याज दरों में कोई बदलाव नहीं रहेगा। डाइचे की रिपोर्ट कहती है कि हम इस साइकल में ब्‍याज दरों में 0.75 फीसदी बढ़ोत्‍तरी की उम्‍मीद कर रहे हैं लेकिन यह अगले साल की शुरुआत से ही शुरू होगा। 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट