बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Bankingचेक बाउंसिंग पर 500 रु. तक है चार्ज+GST, कोर्ट के भी लगाने पड़ सकते हैं चक्‍कर

चेक बाउंसिंग पर 500 रु. तक है चार्ज+GST, कोर्ट के भी लगाने पड़ सकते हैं चक्‍कर

निगोशिएबल इंस्‍ट्रूमेंट एक्‍ट, 1881 में हुए संशोधन के बाद सेक्‍शन 138 के तहत चेक बाउंस होना कानूनी अपराध माना गया है।

1 of

नई दिल्‍ली. चेक से ट्रान्‍जैक्‍शन करते वक्‍त सबसे पहले अपना अकाउंट बैलेंस जरूर चेक कर लें। अगर आपके अकाउंट में उतना बैलेंस नहीं हुआ, जितना चेक में अमाउंट है तो चेक बाउंस हो जाएगा और आपको 500 रुपए तक का चार्ज प्‍लस GST देना पड़ेगा। 

इसके अलावा चेक बाउंस होना कानूनी अपराध भी है। भारत में निगोशिएबल इंस्‍ट्रूमेंट एक्‍ट, 1881 में हुए संशोधन के बाद सेक्‍शन 138 के तहत चेक बाउंस होना कानूनी अपराध माना गया है। इसके तहत 2 साल तक की जेल या चेक में भरी राशि का दोगुना तक जुर्माना या दोनों लगाया जा सकता है। हालांकि मुकदमा तभी हो सकता है, जब चेक अपर्याप्‍त बैलेंस के चलते बाउंस हुआ हो। नॉन-फाइनेंशियल कारणों जैसे- तारीख डालना भूल जाना या हस्‍ताक्षर नहीं करना आदि के लिए ऐसा नहीं हो सकता। 

 

चेक बाउंस होने पर अलग-अलग बैंकों में चार्ज की दर अलग-अलग है। आइए आपको बताते हैं कि देश के प्रमुख बैंकों में चेक बाउंस होने पर चार्ज की दर कितनी है- 

 

SBI

SBI में कम राशि के चलते चेक रिटर्न होने पर चार्ज 500 रुपए प्‍लस GST है। वहीं किसी तरह की तकनीकी खराबी की वजह से अगर चेक रिटर्न हुआ तो बैंक 150 रुपए प्‍लस GST चार्ज लेता है। हालांकि अगर कस्‍टमर की गलती न हो तो उस पर चार्ज नहीं लगता है। 

 

सोर्स: https://www.sbi.co.in/portal/documents/28392/54637/UPDATED+LIST+OF+SERVICE+CHARGES+UPLOAD++24072017.pdf/84dcf3d8-18f6-4c10-aa8e-277455f1c9b9

 

ICICI बैंक

यहां चेक रिटर्न होने के लिए चार्ज 750 रुपए तक है, जो कि ICICI से दूसरे बैंक और आउटस्‍टेशन रिटर्निंग के आधार पर लगता है। बैंक में लोकल एरिया के हिसाब से ICICI ब्रान्‍च के अंदर ही चेक भेजने पर महीने में 1 चेक रिटर्न होने पर चार्ज 350 रुपए है, वहीं महीने में 1 से ज्‍यादा चेक कम बैलेंस के चलते रिटर्न होने पर चार्ज 750 रुपए प्रति चेक है। सिग्‍नेचर वेरिफिकेशन को छोड़ अन्‍य नॉन-फाइनेंशियल कारणों से चेक रिटर्न होने पर चार्ज 50 रुपए है। 

 

अन्‍य बैंकों को चेक भेजे जाने की सूरत में फाइनेंशियल कारण से चेक रिटर्न होने पर चार्ज 100 रुपए प्रति चेक है। वहीं आउटस्‍टेशन के मामले में यह चार्ज 150 रुपए प्‍लस अन्‍य बैंक का चार्ज है। 

 

सोर्स: https://www.icicibank.com/service-charges/fee-based-services.page?

 

आगे पढ़ें- HDFC व एक्सिस बैंक

HDFC बैंक

HDFC बैंक में अपर्याप्‍त बैलेंस के चलते चेक रिटर्न होने पर चार्ज 500 रुपए प्रति चेक है। फंड ट्रांसफर के चलते चेक रिटर्न होने पर चार्ज 350 रुपए और तकनीकी कारणों से रिटर्न होने पर 50 रुपए है। 

 

सोर्स: https://www.hdfcbank.com/personal/products/accounts-and-deposits/savings-accounts/regular-savings-account/rates-fees

 

एक्सिस बैंक

एक्सिस बैंक में अपर्याप्‍त बैलेंस के चलते चेक रिटर्न होने पर चार्ज 500 रुपए है। नया चार्ज 1 मई 2018 से प्रभावी हुआ है। 

 

सोर्स: https://application.axisbank.com/FeesAndChargeMaster/pdf/WebsiteNotice-sv.pdf

 

आगे पढ़ें- बैंक ऑफ बड़ौदा व कोटक महिन्‍द्रा बैंक

बैंक ऑफ बड़ौदा

बैंक ऑफ बड़ौदा में फाइनेंशियल कारणों से चेक रिटर्न होने पर अलग-अलग अमाउंट के लिए चार्ज अलग-अलग है। यहां 1 लाख रुपए तक का चेक फाइनेंशियल कारणों से रिटर्न होने पर चार्ज 250 रुपए, 1 लाख से लेकर 1 करोड़ रुपए तक के चेक के लिए 500 रुपए और 1 करोड़ रुपए से ज्‍यादा अमाउंट के चेक के लिए 750 रुपए है। वहीं नॉन-फाइनेंशियल कारणों से चेक रिटर्न होने पर चार्ज 250 रुपए है। 

 

सोर्स: https://www.bankofbaroda.co.in/service-charges-fees.htm

 

 

कोटक महिन्‍द्रा बैंक

यहां भी अपर्याप्‍त बैलेंस के चलते चेक रिटर्न होने पर चार्ज 500 रुपए है। 

 

सोर्स: https://www.kotak.com/en/personal-banking/privy-league/privy-services/fees-and-charges.html

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट