Home » Economy » Bankingइंडसइंड बैंक के साथ मिलकर Paytm शुरू करेगा FD सुविधा- Paytm Payments Bank, IndusInd tie-up for FD facility

आपके पैसों पर Paytm देगा 6.85% तक ब्‍याज, हासिल करने का यह है तरीका

अगर आप पेटीएम पेमेंट्स बैंक के कस्‍टमर हैं तो आपके लिए एक अच्‍छी खबर है।

1 of

नई दिल्‍ली. अगर आप पेटीएम पेमेंट्स बैंक के कस्‍टमर हैं तो आपके लिए एक अच्‍छी खबर है। पेटीएम पेमेंट्स बैंक अपने कस्‍टमर्स के लिए जल्‍द ही FD यानी फिक्‍स्‍ड डिपॉजिट की सुविधा शुरू करने वाला है। Paytm अपने कस्‍टमर्स को FD पर सालाना 6.85 फीसदी तक ब्‍याज देगा। इसके लिए पेटीएम पेमेंट्स बैंक ने इंडसइंड बैंक के साथ पार्टनरशिप भी की है। 

 

बता दें कि इंडसइंड बैंक में 15 लाख से कम और 15 लाख से 1 करोड़ तक की 1 साल से कम अवधि वाली FD पर ब्‍याज 6.61 फीसदी सालाना है। FD पर सबसे ज्‍यादा ब्‍याज देने वाले बैंकों में इंडसइंड 6ठे नंबर पर है। यानी Paytm के जरिए आपको FD पर इंडसइंड बैंक से भी ज्‍यादा ब्‍याज हा‍सिल हो सकता है। 

 

आपको कैसे मिलेगा फायदा 

बता दें कि RBI के निर्देशानुसार किसी भी पेमेंट्स बैंक अकाउंट में कस्‍टमर का दिन के आखिर में बैलेंस 1 लाख रुपए से ज्‍यादा नहीं होना चाहिए। ऐसे में अगर कस्‍टमर का बैलेंस 1 लाख रुपए से ज्‍यादा हो जाता है तो Paytm उस अतिरिक्‍त बैलेंस को आपकी ओर से FD में बदल देगा। ऐसा होने पर आपको उन पैसों पर 6.85 फीसदी तक का सालाना ब्‍याज मिलेगा। Paytm की वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के मुताबिक, ब्‍याज की गणना इंडसइंड की इंटरेस्‍ट टेबल के हिसाब से होगी। 

 

आगे पढ़ें- कितने दिनों के लिए होगी FD

 

यह भी पढ़ें- 1 साल की एफडी पर ये बैंक दे रहे सबसे ज्‍यादा ब्‍याज, आप भी उठाएं फायदा

कितना होगा मैच्‍योरिटी पीरियड 

Paytm की वेबसाइट के मुताबिक, पेटीएम पेमेंट्स बैंक द्वारा की जाने वाली FD का मैच्‍योरिटी पीरियड 13 महीनों का होगा। पेटीएम पेमेंट्स बैंक के कस्‍टमर्स अपने डिपॉजिट को किसी भी वक्‍त निकाल सकते हैं। इसके लिए उन पर कोई भी प्री-क्‍लोजर चार्ज नहीं लगेगा। हालांकि इसके लिए उन्‍हें 7 दिन की न्‍यूनतम अवधि तक FD रखनी होगी। 7 दिन पूरे होने से पहले डिपॉजिट निकाल लेने पर आपको उस FD पर कोई ब्‍याज नहीं मिलेगा। 

 

आगे पढ़ें- पेटीएम इसमें देगा एक और सुविधा

एक अन्‍य सुविधा भी देगा बैंक

Paytm के मुताबिक, अगर कोई कस्‍टमर FD का मैच्‍योरिटी पीरियड खत्‍म होने से पहले सीनियर सिटीजन की कैटेगरी में आ जाता है तो उसका अकाउंट मैच्‍योरिटी पीरियड खत्‍म होने पर ऑटोमेटिक तरीके से सीनियर सिटीजन स्‍कीम के तहत आ रिन्‍यू हो जाएगा। साथ ही उसे और अधिक ब्‍याज भी मिलेगा। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट