बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Bankingसामान्‍य मानूसन के चलते RBI अगस्‍त में घटा सकता है ब्‍याज दरें: बैंक ऑफ अमेरिका

सामान्‍य मानूसन के चलते RBI अगस्‍त में घटा सकता है ब्‍याज दरें: बैंक ऑफ अमेरिका

अच्‍छी बारिश के अनुमान ने कर्ज सस्‍ता होने या लोन की EMI कम होने की उम्‍मीद जताई है।

1 of

नई दिल्‍ली. अच्‍छी बारिश के अनुमान ने कर्ज सस्‍ता होने या लोन की EMI कम होने की उम्‍मीद बढ़ गई है। बैंक ऑफ अमेरिका मेरिल लिंच नेे कहा है कि सामान्‍य मानसून के पूर्वानुमान को देखते हुए रिजर्व बैंक अगस्‍त में होने वाली पॉलिसी रिव्‍यू मीटिंग में प्रमुख दरों में 0.25 फीसदी की कटौती कर सकता है। 

सेंट्रल बैंक के अनुसार, सामान्‍य मानसून से रूरल डिमांड को बूस्‍ट मिलेगा। खासकर तुलनात्‍मक रूप से रबी फसल से बहुत ज्‍यादा उत्‍पादन नहीं होने के बाद यह अच्‍छी खबर है। रिसर्च नोट में बैंक ने कहा है कि हमें ज्‍यादा भरोसा है कि मौसम विभाग के मानसून पर पूर्वानुमान के बाद रिजर्व बैंक 1 अगस्‍त को ब्‍याज दरों में चौथाई फीसदी की कटौती कर सकता है। मौसम विभाग ने 97 फीसदी सामान्‍य साउथ-वेस्‍ट मानसून का अनुमान जताया है। 


मानसून सीजन में करीब 75% होती है बारिश 
चार महीने तक जून से सितंबर तक चलने वाले मानसून सीजन के दौरान देश में करीब 75 फीसदी बारिश होती है। अभी सकल घरेलू उत्‍पाद (जीडीपी) सबसे अधिक एग्रीकल्‍चर सेक्‍टर से प्रभावित होती है। भारत के अधिकांश हिस्‍सों में खेती की हालत खराब है और अच्‍छी बारिश होने से कुछ हद तक राहत मिलने की उम्‍मीद है। 

 

खरीफ की अच्‍छी पैदावार की उम्‍मीद
गर्मी की रबी फसल के तुलनात्‍मक रूप से कमजोर रहने के बाद इस बार सामान्‍य मानसून से कृषि क्षेत्र की महंगाई काबू में रहेगी। 2018-19 में महंगाई दर औसतन 4.3 फीसदी होनी चाहिए। आरबीआई के मुताबिक महंगाई दर 2-6 फीसदी के दायरे में होनी जरूरी है। 

 

पहली बाय-मंथली पॉलिसी में रेपो रेट नहीं बदला 
2018-19 के लिए पहली बाय-मंथली मॉनिटरी पॉलिसी रिव्‍यू में रिजर्व बैंक ने रेपो रेट को 6 फीसदी पर बरकरार रखा। पिछले साल अगस्‍त से लगातार चौथी बार मॉनिटरी पॉलिसी कमिटी (एमपीसी) ने ब्‍याज दरों में अपरिवर्तित रखा है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट