Home » Economy » BankingNirav Modi and his uncle Mehul Choksi being investigated by ED and CBI

PNB घोटाला: यूके भाग चुका है नीरव मोदी, वहां चाहता है राजनीतिक शरण- रिपोर्ट

करीब 13 हजार करोड़ रुपए पीएनबी घोटाले का मुख्य आरोपी नीरव मोदी यूके भाग चुका है और वह वहां राजनीतिक शरण पाना चाहता है।

Nirav Modi and his uncle Mehul Choksi being investigated by ED and CBI

लंदन. करीब 13 हजार करोड़ रुपए पीएनबी घोटाले का मुख्य आरोपी नीरव मोदी यूके भाग चुका है और वह वहां राजनीतिक शरण पाना चाहता है। एक ब्रिटिश मीडिया रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। मनी लॉन्ड्रिंग के तहत प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) नीरव मोदी और उसका मामा मेहुल चौकसी के खिलाफ जांच कर रहा है। घोटाला सामने आने से पहले ही दोनों देश छोड़कर भाग गए हैं। इस घोटाले को बैंक के कुछ कर्मचारियों की मिलीभगत से अंजाम दिया गया। 

 


लंदन में है नीरव मोदी
फाइनेंशियल टाइम्स की रिपोर्ट के अनुसार, नीरव मोदी लंदन में है और वह राजनीतिक शरण चाहता है। इसकी वजह वह राजनीतिक रूप से खुद को सताया जाना बता रहा है। रिपोर्ट में यूके फॉरेन ऑफिस के एक वरिष्‍ठ अधिकारी ने कहा गया है कि पहले से ही कई जटिल मामले सामने हैं और दोनों देशों के रिश्‍तों में इन्‍हें लेकर कुछ तनाव भी आया। लेकिन दोनों देशों की तरफ से इस बात सहमति है कि हम कानूनी प्रक्रिया के तहत इन मामलों पर आगे बढ़ेंगे। साथ ही हम मानव अधिकार कानून का भी पालन करतके हैं। हालांकि ब्रिटेन स्थित भारतीय उच्चायुक्त ने किसी भी मामले में कोई जानकारी नहीं दी है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने फाइनेंशियल टाइम्स को बताया कि भारत सरकार खुद उसका इंतजार कर रही है। देश की लॉ एन्फोर्समेंट एजेंसियां उसका प्रत्यर्पण (एक्स्ट्रीशन) कराने की कोशिश कर रही थीं, लेकिन यह हो नहीं पाया।
 
CBI दाखिल कर चुकी है चार्जशीट
दिल्‍ली में अधिकारियों ने बताया कि मई में सीबीआई मुंबई की एक कोर्ट के सामने दो चार्जशीट फाइल कर चुकी है। ईडी ने भी नीरव मोदी और उसके सहयोगियों के खिलाफ चार्जशीट फाइल किया है। उन्‍होंने बताया कि मनी लॉन्ड्रिंग कानून की विभिन्‍न धाराओं के तहत करीब 12 हजार पन्‍नों की चार्जशीट फाइल की गई है। चार्जशीट 25 लोगों के खिलाफ आरोपपत्र दायर कर चुकी है। इसमें नीरव मोदी, मेहुल चौकसी, पीएनबी की पूर्व प्रमुख उषा अनंतसुब्रह्मणियन, पीएनबी के दो डायरेक्टर और नीरव की तीन कंपनियां शामिल हैं। उधर, नीरव और चौकसी लगातार इस बात से इनकार कर रहे हैं कि उन्होंने कुछ भी गलत किया है। बता दें, भारत सरकार लंदन में रह रहे विजय माल्या का भी प्रत्यर्पण चाहती है। वे पिछले साल मार्च में लंदन भाग गए थे। उन पर भारतीय बैंकों का 9 हजार करोड़ से ज्यादा का कर्ज है।

 

नीरव-मेहुल के पासपोर्ट हो चुके हैं रद्द 
नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के खिलाफ लुकआउट/ब्लू कॉर्नर नोटिस के साथ गैरजमानती वारंट भी जारी हो चुके हैं। विदेश मंत्रालय ने दोनों के पोसपोर्ट रद्द कर दिए हैं। ईडी देश भर में नीरव मोदी और मेहुल चौकसी के ठिकानों पर 251 छापे मार चुका है। इसमें करीब 7,638 करोड़ रुपए की प्रॉपर्टी अटैच की गई।

 

कैसे सामने आया घोटाला?
पीएनबी घोटाला इस साल फरवरी में सामने आया था। पंजाब नेशनल बैंक ने सेबी और बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को 11,356 करोड़ रुपए के घोटाले की जानकारी दी। बाद में पीएनबी ने सीबीआई को बैंक में 1300 करोड़ के नए फ्रॉड की जानकारी दी। घोटाले की रकम बढ़कर करीब 13 हजार करोड़ हो चुकी है। घोटाले की शुरुआत पीएनबी की मुंबई की ब्रेडी हाउस ब्रांच में 2011 से हुई। फ्रॉड फर्जी लेटर ऑफ अंडरटेकिंग्स (एलओयू) के जरिए किया गया। फर्जी एलओयू तैयार कर 2011 से 2018 तक हजारों करोड़ की रकम विदेशी अकाउंट्स में ट्रांसफर की गई।

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट