Home » Economy » BankingWhy we should invest Post office small savings scheme

पोस्‍ट ऑफिस की छोटी बचत से बनाएं लाखों का फंड, ये है पूरी डिटेल

पोस्‍ट ऑफिस में बच्‍चे के जन्‍म से लेकर रिटायरमेंट के बाद तक के प्‍लान हैं, और उन पर अच्‍छा रिटर्न भी मिल रहा है।

1 of

नई दिल्‍ली. नए वित्‍त वर्ष 2018-19 की शुरुआत 1 अप्रैल 2018 से हो गई है। इसके साथ ही आम करदाताओं ने इनकम के साथ-साथ सेविंग, इन्‍वेस्‍टमेंट, रिटर्न का भी गणित लगाना शुरू कर दिया है। आम निवेशकों के पास निवेश करने, टैक्‍स बचाने और अच्‍छा रिटर्न कमाने के कई सारे ऑप्‍शन हैं। इनमें बैंक की स्‍कीम्‍स, पोस्‍ट ऑफिस की स्‍कीम्‍स, स्‍टॉक मार्केट, गोल्‍ड, कमोडिटी, प्रॉपर्टी आदि शामिल है। 

 

 

बाजार में हर तरह के निवेश के साथ जोखिम भी जुड़ा हुआ है। कहीं ज्‍यादा, कहीं कम तो कहीं न के बराबर है। यदि आप निवेश के बदला अच्‍छा रिटर्न चाहते हैं लेकिन जोखिम भी कम चाहते हैं तो ऐसे में आप पोस्‍ट ऑफिस की स्‍माल सेविंग स्‍कीम्‍स वाले ऑप्‍शन पर विचार कर सकते हैं। पोस्‍ट ऑफिस में बच्‍चे के जन्‍म से लेकर रिटायरमेंट के बाद तक के प्‍लान हैं, और उन पर अच्‍छा रिटर्न भी मिल रहा है। स्‍माल सेविंग स्‍कीम्‍स पर हर तिमाही ब्‍याज दरें तय की जाती हैं जोकि सरकारी यील्‍ड से लिंक हैं। 


पोस्‍ट ऑफिस में 9 स्‍माल सेविंग स्‍कीम्‍स ऑफर करता है। 
1. पोस्‍ट ऑफिस सेविंग्‍स अकाउंट 
2. 5 साल की पोस्‍ट ऑफिस रेकरिंग डिपॉजिट अकाउंट
3. पोस्‍ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट अकाउंट 
4. पोस्‍ट ऑफिस मंथली इनकम स्‍कीम अकाउंट (एमआईएस)
5. सीनियर सिटीजन सेविंग्‍स स्‍कीम (एससीएसएस)
6. पब्लिक पोविडेंट फंड (पीपीएफ)
7. नेशनल सेविंग्‍स सर्टिफिकेट्स (एनएससी)
8. किसान विकास पत्र (केवीपी)
9. सुकन्‍य समृद्धि अकाउंट्स 

 

(नोट: पोस्‍ट ऑफिस की स्‍माल सेविंग्‍स स्‍कीम्‍स पर ब्‍याज और अन्‍य जानकारी उसकी ऑफिशियल वेबसाइट के अनुसार है।)  

 

 

आगे पढ़ें... किस स्‍कीम पर कितना ब्‍याज और क्‍या है खासियत 
     
 

पोस्‍ट ऑफिस सेविंग्‍स अकाउंट
पोस्‍ट ऑफिस की किसी भी ब्रांच में यह अकाउंट 20 रुपए कैश से खोल सकते हैं। इंडिविजियुअल या ज्‍वाइंट अकाउंट पर अभी 4 फीसदी सालाना ब्‍याज मिल रहा है। इस अकाउंट पर 10 हजार रुपए तक का ब्‍याज टैक्‍स फ्री है। इस अकाउंट पर चेक, एटीएम जैसी सुविधा भी मिलती है। इस अकाउंट को पोस्‍ट ऑफिस के एक ब्रांच से दूसरे ब्रांच में भी ट्रांसफर कराया जा सकता है।

 

5 साल का पोस्‍ट ऑफिस RD अकाउंट 
इस अकाउंट पर 1 जनवरी 2018 से 6.9 फीसदी सालाना ब्‍याज (क्‍वाटर्ली कंपाउंडेड) मिल रहा है। इसमें हर महीने 10 रुपए जमा करना होता है। पोस्‍ट ऑफिस की आरडी में 10 रुपए की जमा मैच्‍योरिटी पर 717.43 रुपए हो जाएगी। इस अकाउंट को मैच्‍योरिटी के बाद पांच साल के दूसरे टर्म के लिए भी जारी रख सकते हैं लेकिन यह सालाना आधार पर होगा। पोस्‍ट ऑफिस की किसी भी ब्रांच में यह अकाउंट खोल सकते हैं। इसे एक ब्रांच से दूसरे ब्रांच में ट्रांसफर भी करा सकते हैं। 

 

पोस्‍ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट अकाउंट 
200 रुपए न्‍यूनतम रकम से यह अकाउंट खुलवा सकते हैं। इसमें डिपॉजिट की कोई अधिकतम सीमा तय नहीं है। इस ब्‍याज सालाना दिया जाता है लेकिन ब्‍याज की गणना तिमाही आधार पर होती है। इसमें पांच साल की टाइम डिपॉजिट पर धारा 80सी के तहत इनकम टैक्‍स में छूट भी मिलती है। कैश या चैक के जरिए यह अकाउंट खुलवा सकते हैं। इसे एक ब्रांच से दूसरे ब्रांच में ट्रांसफर भी करा सकते हैं।


 

 

समय अवधि  ब्‍याज दर (% में ) 
1 साल 6.60
2 साल 6.70
3 साल 6.90
4 साल 7.40

(नोट: ब्‍याज दर 1 जनवरी 2018 के अनुसार है।)  
 
 
आगे पढ़ें... और किस स्‍कीम पर कितना ब्‍याज और क्‍या है खासियत 

 

 

पोस्‍ट ऑफिस मंथली इनकम स्‍कीम अकाउंट 
इस अकाउंट पर 1 जनवरी 2018 से सालाना 7.3 फीसदी ब्‍याज मिल रहा है। ब्‍याज का भुगतान मंथली किया जाता है। इसके तहत सिंगल अकाउंट में अधिकतम 4.5 लाख रुपए और ज्‍वाइंट अकाउंट में 9 लाख रुपए है। इस अकाउंट को एक ब्रांच से दूसरे ब्रांच में ट्रांसफर भी करा सकते हैं।
 

सीनियर सिटीजन सेविंग्‍स स्‍कीम (SCSS) 
इस अकाउंट पर सालाना 8.3 फीसदी ब्‍याज मिल रहा है। जोकि 1.07.2017 से लागू है।  इस अकाउंट पर ब्‍याज का भुगतान तिमाही किया जाता है। 60 साल इससे ऊपर की उम्र के लोग यह अकाउंट खुलवा सकते हैं। 

 

PPF अकाउंट 
पीपीएफ अकाउंट पर सालाना ब्‍याज दर 7.6 फीसदी है। ब्‍याज दर की कंपाउंडिंग सालाना होती है। यह ब्‍याज दर 1 जनवरी 2018 से लागू है। यह अकाउंट 100 रुपए से खोल सकते हैं। लेकिन एक फाइनेंशियल ईयर में न्‍यूनतम 500 रुपए जमा कराना अनिवार्य है। इस अकाउंट में अधिकतम जमा लिमिट 1.50 लाख रुपए है। इस अकाउंट की मैच्‍योरिटी 15 साल होती है। टैक्‍स सेविंग के नजरिए से यह एक बेहतर प्रोडक्‍ट है। इसमें 80सी के तहत टैक्‍स छूट मिलती है। इस अकाउंट पर मिलने वाला ब्‍याज भी टैक्‍स फ्री होता है। साथ ही मैच्‍योरिटी पर मिलने वाली रकम पर टैक्‍स देनदारी नहीं होती है। 


आगे पढ़ें... और किस स्‍कीम पर कितना ब्‍याज और क्‍या है खासियत 

 

 

नेशनल सेविंग्‍स सर्टिफिकेट्स (NSC)

1 जनवरी 2018 से एनएससी पर ब्‍याज दर 7.6 फीसदी है। ब्‍याज की कम्‍पाउंडिंग सालाना है लेकिन इसक भुगतान मैच्‍योरिटी पर किया जाता है। इसकी मैच्‍योरिटी पांच साल की है। इसमें 100 रुपए डिपॉजिट करने पर पांच साल बाद यह 144.23 रुपए हो जाएंगे। इस अकाउंट में धारा 80सी के तहत टैक्‍स छूट भी मिलती है। 

 

किसान विकास पत्र (केवीपी) 
1 जनवरी 2018 से केवीपी पर ब्‍याज दर 7.3 फीसदी है। ब्‍याज की कम्‍पाउंडिंग सालाना है। इसमें जमा रकम 118 महीने (9 साल 10 महीने) में दोगुनी हो जाएगी। केवीपी पोस्‍ट ऑफिस के किसी भी डिपॉर्टमेंट से खरीद सकते हैं। केवीपी को जारी किए जाने की तारीख से ढाई साल बाद कैश करा सकते हैं। इसे दूसरे व्‍यक्ति या दूसरे ब्रांच में ट्रांसफर करा सकते हैं। इसमें मिनिमम निवेश 1000 रुपए है। अधिकतम निवेश की कोई लिमिट नहीं है। 


सुकन्‍या समृद्धि अकाउंट (SSY) 
इस अकाउंट पर 1 जनवरी 2018 से 8.1 फीसदी सालाना ब्‍याज मिल रहा है। ब्‍याज की गणना सालाना और कम्‍पाउंडिंग भी सालाना होती है। 10 साल की उम्र तक की बेटी के नाम पर यह अकाउंट खुलवा सकते हैं। बच्‍ची के माता-पिता या लीगल पैरेंट यह अकाउंट खुलवा सकते हैं। यह अकाउंट 1000 रुपए से खुलवा सकते हैं। इसमें निवेश की अधिकतम सीमा 1.50 लाख रुपए है। इस अकाउंट पर पैरेंट धारा 80सी के तहत टैक्‍स छूट क्‍लेम कर सकते हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट