बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Bankingबैंक अकाउंट में मिनिमम एवरेज बैलेंस कैलकुलेट करने का तरीका, नहीं खाएंगे धोखा

बैंक अकाउंट में मिनिमम एवरेज बैलेंस कैलकुलेट करने का तरीका, नहीं खाएंगे धोखा

ग्राहक अपने अकाउंट में मिनिमम बैलेंस बरकरार नहीं रख पाता है तो बैंक जुर्माना वसूलता है...

1 of

नई दिल्‍ली. बैंकों में सेविंग्‍स अकाउंट के लिए एक मिनिमम मंथली एवरेज बैलेंस (MAB) तय है। अगर ग्राहक इस बैलेंस को बरकरार नहीं रख पाते हैं तो बैंक उनसे जुर्माना वसूलता है। हाल ही में रिपोर्ट्स आईं कि देश के सबसे बड़े बैंक SBI ने मिनिमम बैलेंस मेंटेन न कर पाने वालों से चार्ज के तौर पर 5 हजार करोड़ रुपए वसूले। इसे लेकर SBI ने सोमवार को क्‍लैरिफिकेशन जारी किया कि वह अप्रैल 2018 से MAB के लिए चार्ज 40 फीसदी तक कम कर चुका है और उसके चार्ज इंडस्‍ट्री में सबसे कम हैं। 

 

लेकिन सवाल यह है कि कस्‍टमर्स के सामने चार्ज देने की नौ‍बत क्‍यों आती है, इसकी वजह है कि देश में कई लोग ऐसे हैं, जिन्‍हें बैंकों के मिनिमम मंथली एवरेज बैलेंस का गणित समझ में नहीं आता है। वे इसी बात को लेकर कन्‍फ्यूज रहते हैं कि आखिर इस बैलेंस की कैलकुलेशन क्‍या है और कितना पैसा अकाउंट में होना जरूरी है। अगर आपके साथ भी ऐसा है तो हम आपकी मुश्किल आसान किए देते हैं। हम आपको बता रहे हैं कि आखिर कैसे आप इस कैलकुलेशन को समझ सकते हैं। 

 

समझें पूरा गणित

मान लीजिए किसी बैंक में मिनिमम मंथली एवरेज बैलेंस रिक्‍वायरमेंट 5000 रुपए है। इसका अर्थ यह हुआ कि रोज दिन खत्‍म होने पर आपके सेविंग्‍स अकाउंट में 5000 रुपए होने चाहिए। अब ये आपके ऊपर है कि आप अकाउंट में पूरे माह केवल 5000 रुपए रखते हैं या फिर उससे ज्‍यादा। इसे एक उदाहरण से समझें- 

 

आगे पढ़ें- बाकी कैलकुलेशन 

 

ये भी पढ़ें- 2 साल की कराना चाहते हैं FD, 7.3-8.5% तक ब्‍याज दे रहे 8 बैंक

उदाहरण

माना 1 जुलाई को आपने अपने सेविंग्‍स अकाउंट में 5000 रुपए जमा किए। अगले एक माह तक आपने उस अकाउंट से कोई ट्रान्‍जेक्‍शन या डिपॉजिट नहीं किया यानी न पैसे निकाले न अकाउंट में जमा किए। तो इसका मतलब यह हुआ कि आपके महीने की शुरुआत से लेकर महीने के आखिर तक अकाउंट में 5000 रुपए का डिपॉजिट मौजूद रहा। यानी आपने बैंक की मिनिमम एवरेज बैलेंस रिक्‍वायरमेंट पूरी की।

 

आगे पढ़ें- अगर ट्रांजेक्‍शन और डिपॉजिट किया तो कैसे करें कैलकुलेट

 

ये भी पढ़ें- बैंक खाते में आ जाए अनजान पैसा तो न करें 2 गलतियां, वर्ना पड़ेगा महंगा

जब कर रहे हैं ट्रान्‍जेक्‍शन और डिपॉजिट

आप अपने अकाउंट से भले ही ट्रान्‍जेक्‍शन करें या डिपॉजिट करें लेकिन आपका एवरेज 5000 रुपए से कम नहीं होना चाहिए। इसे भी एक उदाहरण से समझें- 


माना 1 जुलाई को आपने अकाउंट में 5000 रुपए जमा किए। 10 जुलाई को आपने 3000 रुपए निकाल लिए। उसके बाद 20 जुलाई को फिर से 10000 रुपए जमा कर दिए। महीने कें अंत में आपके अकाउंट में 12000 रुपए होंगे। ऐसी सूरत में मिनिमम बैलेंस की कैलकुलेशन ऐसे होगी। 

 
- 1 जुलाई से 10 जुलाई यानी 9 दिन आपका बैलेंस रहा- 5000x9= 45000 रुपए 
- 10 जुलाई से 20 जुलाई यानी 10 दिन आपका बैलेंस रहा- 2000x10=20000 रुपए
- अब 20 जुलाई से 31 जुलाई यानी 11 दिन आपका बैलेंस रहा- 12000x11= 1,32000 रुपए 
- अब 1 जुलाई से 31 जुलाई तक कुल बैलेंस देखें तो यह रहा- 1,97,000 रुपए।
- अब 1 दिन का बैलेंस निकालने के लिए इसमें 31 का भाग देंगे तो आएगा 6354 रुपए।

 
इसका अर्थ यह हुआ कि भले ही आपने ट्रान्‍जेक्‍शन और डिपॉजिट किया लेकिन फिर भी आपका एक दिन के आखिर में बैलेंस 5000 रुपए से ज्‍यादा रहा। ऐसे में आप पर पेनल्‍टी नहीं लगेगी। अगर यही बैलेंस 5000 रुपए से कम रहता तो बैंक आप पर पेनल्‍टी वसूलता। 

 

ये भी पढ़ें- अकाउंट में सैलरी आते ही 6 बातों का रखें ध्‍यान, सिक्‍योर रहेगा फ्यूचर

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट