Home » Economy » BankingCBI registered FIR against Gitanjali Group of companies on the complaint of PNB

PNB फ्रॉड: मेहुल चौकसी के गीतांजलि ग्रुप की 3 कंपनियों के खिलाफ CBI ने दर्ज की FIR, 20 जगहों पर छापे

सीबीआई ने पीएनबी की शिकायत पर मेहुल चौकसी के गीतांजलि ग्रुप की कंपनियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है।

1 of

नई दिल्‍ली. केंद्रीय जांच एजेंसी सीबीआई ने पीएनबी की शिकायत पर मेहुल चौकसी के गीतांजलि ग्रुप की कंपनियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की है। यह एफआईआर 13 फरवरी को दर्ज की गई। मेहुल चौकसी गीतांजलि ग्रुप के एमडी एंड चेयरमैन हैं। सीबीआई ने शुक्रवार को गीतांजलि ग्रुप और अन्‍य दूसरे डायरेक्‍टर्स के पांच राज्‍यों के छह शहरों में 20 ठिकानों पर छापे मारे हैं। वहीं, इंटरपोल ने भी मेहुल चौकसी के खिलाफ डिफ्यूजन नोटिस जारी कर दिया है। बता दें, 11356 करोड़ रुपए के पीएनबी फ्रॉड मामले के आरोपियों में नीरव मोदी के अलावा मेहुल चौकसी का भी नाम शामिल है।  

 

- एएनआई के अनुसार, सीबीआई ने महाराष्‍ट्र के मुंबई व पुणे, गुजरात के सूरत, राजस्‍थान के जयपुर, तेलंगाना के हैदराबाद और तमिलनाडु के कोयंबटूर में सर्चेज किए हैं। यह ठिकाने मेहुल चैकसी के गीतांजलि ग्रुप और आरोपी कंपनियों के अन्‍य डायरेक्‍टर्स से जुड़े हैं। 

-सीबीआई की एफआईआर में गीतांजलि ग्रुप की तीन कंपनियों गीतांजलि जेम्स, गिली इंडिया और नक्षत्र ब्रांड लि. को शामिल किया गया है। इस मामले में पीएनबी को 4,886.72 करोड़ रुपए के नुकसान का अनुमान है।

- मेहुल चौकसी ने जनवरी के पहले हफ्ते में देश छोड़ दिया है। ऑफिशियल सोर्सेस के अनुसार, मेहुल चौकसी ने 4 जनवरी 2018 को भारत छोड़ा था। 

- मेहुल चौकसी गीतांजलि ग्रुप के एमडी एंड चेयरमैन हैं। 

 

करीब 13000 करोड़ रुपए का है गीतांजलि ग्रुप 

- गीतांजलि ग्रुप की ऑफिशियल वेबसाइट पर उपलब्‍ध जानकारी के अनुसार, यह ग्रुप दुनिया का एक सबसे बड़ा इंटीग्रेटेड ब्रांडेड ज्‍वैलरी मैन्‍युफैक्‍चरर-रिटेलर है।
- ग्रुप का सालाना टर्नओवर 2 अरब डॉलर (करीब 13 हजार करोड़ रुपए) से ज्‍यादा है। 
- 1994 में ग्रुप ने अपना पहला रिटेल ब्रांड गिली लॉन्‍च किया था। आज देश के 10 बड़े ज्‍वैलरी ब्रॉन्‍ड में आठ इसी ग्रुप के हैं। 
- गीतांजलि ग्रुप के ज्‍वैलरी ब्रॉन्‍ड्स में गिली, नक्षत्र, अस्‍मी, संगिनी, निजाम और परिणीता शामिल हैं। 

 

1966 में हुई शुरुआत, अमेरिका, ब्रिटेन समेत कई देशो में बिजनेस 

- गीतांजलि ग्रुप की स्‍थापना 1966 में हुई थी। आज यह ग्रुप पूरे वैल्‍यू चैन की एक्टिविटी यानी डायमंड लाने, उसकी कटिंग, पॉलिशिंग और डिस्ट्रिब्‍यूशन से लेकर गोल्‍ड ज्‍वैलरी मैन्‍यफैक्‍चरिंग, ब्रांडिंग और भारत व विदेश में इसकी बिक्री तक शामिल है। 
- ग्रुप की भारत में घरेलू ज्‍वैलरी मैन्‍युफैक्‍चरिंग यूनिट मुंबई, हैदराबाद, सूरत और जयपुर में है। वहीं, विदेश में थाईलैंड में यह मैन्‍युफैक्‍चरिंग कर रहा है। इसकी कुल कैपेसिटी करीब 10 लाख पीस प्रति माह है।  
- ग्रुप का इंटरनेशनल डिजाइन हब इटली में है। 
- पिछले 20 साल में गीताजंलि ग्रुप ने विदेश में अपना एक्‍सपेंशन किया है। आज ग्रुप अमेरिका, ब्रिटेन, बेल्जियम, इटली, मिडिल-ईस्‍ट, चीन, सिंगापुर और जापान में अपना कारोबार कर रहा है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss