Home » Economy » Banking24 banks collected 5000 cr rs from customers for non maintenance of minimum balance

मिनिमम बैलेंस न रखने से बैंकों ने एक साल में वसूले 5 हजार करोड़, SBI को सबसे ज्यादा फायदा

मिनिमम बैलैंस न रखने से बीते वित्त वर्ष 2017-18 में बैंकों ने अकाउंट होल्डर्स से 5 हजार करोड़ रुपए वसूलेे।

24 banks collected 5000 cr rs from customers for non maintenance of minimum balance

नई दिल्ली। बैंक अकाउंट में मिनिमम बैलैंस न रखने से बीते वित्त वर्ष 2017-18 में बैंकों ने अकाउंटहोल्डर्स से 5 हजार करोड़ रुपए वसूल लिए। इसमें 21 सरकारी बैंकों के अलावा 3 प्रमुख प्राइवेट बैंक शामिल हैं। बैंकिंग डाटा में ये बात सामने आई है। मिनिमम बैलेंस न रखने पर चार्ज वसूलने पर एसबीआई को सबसे ज्यादा फायदा हुआ है। 

 

 

SBI ने 2434 करोड़ रुपए वसूले
अकाउंट में मिनिमम बैलेंस न रखने पर वित्त वर्ष 2017-18 में एसबीआई ने कुल 2433.87 करोड़ रुपए वसूले हैं। जो सभी बैंकों द्वारा वसूल गए चार्ज का 50 फीसदी है। बैंकिंग डाटा में शामिल सभी 24 बैकों ने इस मद में 4989.55 करोड़ रुपए वसूले हैं। एसबीआई के बाद एचडीएफसी बैंक ने 590.84 करोड़ रुपए, एक्सिस बैंक ने 530.12 करोड़ रुपए और आईसीआईसीआई बैंक ने 317.60 करोड़ रुपए वसूले हैं।

 

SBI को हुआ था बड़ा नुकसान
बता दें कि पिछले वित्त वर्ष में एसबीआई को 6547 करोड़ रुपए का बड़ा नुकसान हुआ था। अगर बैंक को यह अतिरिक्त आय नहीं होती, तो उसका नुकसान और ज्यादा रहता। एसबीआई ने 2012 तक खाते में मिनिमम बैलेंस नहीं रखने पर जुर्माना वसूला था। उसने यह व्यवस्था एक अक्‍टूबर 2017 से फिर शुरू की है। भारतीय रिजर्व बैंक के नियमों के अनुसार बैंकों को सेवा और अन्य शुल्क वसूलने का अधिकार है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट