Home » Economy » BankingIndia post payment bank will offer Doorstep banking services, here is how India post will offer Doorstep banking

1 सितंबर से नहीं होगी बैंक जाने की जरूरत, पैसे के लिए आपके घर आएंगे इम्प्लॉई

शुरू होने जा रहा है इंडिया पोस्ट का अपना बैंक, आम बैंकों से 1.5 फीसदी ज्यादा मिलेगा ब्याज

1 of

नई दिल्ली. डाक विभाग के पूर्ण स्वामित्व वाले इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (IPPB) का ऑपरेशन 1 सितंबर से चालू हो जाएगा। वित्त राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने बुधवार को यह  जानकारी देते हुए बताया कि यह बैंक कई मायनों में आम बैंकों से अलग होगा। संभवत: यह देश का पहला ऐसा बड़ा बैंक होगा, जो लोगों तक डोर स्टेप बैंकिंग की सर्विस मुहैया कराएगा। पोस्टल डिपार्टमेंट के देश भर में फैले अपने डाक सेवकों और पोस्टमैन (पोस्टमैन) के जरिए यह सर्विस मुहैया कराएगा। बता दें कि आम बैंक जहां सेविंग अकाउंट पर जहां  4 फीसदी के आसपास ब्याज देते हैं, वहीं  IPPB सेविंग अकाउंट पर 5.5  फीसदी ब्याज मुहैया कराएगा।   

 

पीएम मोदी करेंगे शुरुआत 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिल्ली के तालकटोरा स्टेडियम में 01 सितंबर को एक कार्यक्रम में आईपीपीबी की औपचारिक शुरुआत करेंगे। उसी दिन देश भर में इसकी 650 शाखाएं और 3250 डाकघरों में सेवा केंद्रों की शुरुआत की जाएगी। साल के अंत तक देश के 1.55 लाख डाकघरों में यह सेवा शुरू हो जाएगी।

 

 

मुनाफे का एक चौथाई डाक सेवकों को 
संचार मंत्री मनोज सिन्हा ने बताया कि आईपीपीबी को जितना भी मुनाफा होगा उसका 25 प्रतिशत ग्रामीण डाक सेवकों को कमीशन के रूप में दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि पीएम मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल की बुधवार को हुई बैठक में ग्रामीण डाक सेवकों को सीधे कमीशन देने की मंजूरी दी गई है। इस फैसले से उन्हें तत्काल कमीशन देना संभव हो सकेगा जो उनके प्रोत्साहन के लिए बेहतर होगा। 

 

 

देशभर में  2.60 लाख ग्रामीण डाक सेवक 
इस समय देश में 40 हजार डाकिए और लगभग 2.60 लाख ग्रामीण डाक सेवक हैं। इससे डाक विभाग के संचालन में उनके महत्व को समझा जा सकता है। सभी डाक सेवकों को स्मार्टफोन और हाथ में रखी जा सकने वाली मशीनें दी जाएंगी, इनके जरिये क्यूआर कार्ड स्कैन कर और बायोमीट्रिक अथेंटिकेशन कर तत्काल ट्रांजेक्शन पूरा किया जा सकेगा। IPPB के मुनाफे में पांच प्रतिशत डाक विभाग को भी दिया जाएगा। इस पैसे का इस्तेमाल डाक विभाग में बुनियादी ढांचों को बेहतर बनाने के लिए किया जाएगा। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट