विज्ञापन
Home » Economy » BankingICICI Pru NFO will be closed on 9th april youcan apply for 5000 rupees

ICICI प्रू का एनएफओ 9 को बंद होगा, 5000 रुपए से कर सकते हैं आवेदन

यह एक ओपेन एंडेड इक्विटी स्कीम है

ICICI Pru NFO will be closed on 9th april youcan apply for 5000 rupees

 ICICI Pru NFO will be closed on 9th april youcan apply for 5000 rupees देश की अग्रणी म्यूचुअल फंड कंपनी आईसीआईसीईआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड का नया फंड ऑफर (एनएफओ) 9 अप्रैल को बंद होगा, जो 26 मार्च को खुला है। यह फंड खपत थीम पर आधारित है और इस फंड का प्रबंधन रजत चांडक तथा धर्मेश काकड़ करेंगे। इसमें न्यूनतम आवेदन 5,000 रुपये के साथ किया जा सकता है। आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल भारत कंजम्प्शन फंड, जो कि एक ओपेन एंडेड इक्विटी स्कीम है और खपत थीम का पालन कर रहा है।

नई दिल्ली। देश की अग्रणी म्यूचुअल फंड कंपनी आईसीआईसीईआई प्रूडेंशियल म्यूचुअल फंड का नया फंड ऑफर (एनएफओ) 9 अप्रैल को बंद होगा, जो 26 मार्च को खुला है। यह फंड खपत थीम पर आधारित है और इस फंड का प्रबंधन रजत चांडक तथा धर्मेश काकड़ करेंगे। इसमें न्यूनतम आवेदन 5,000 रुपये के साथ किया जा सकता है। आईसीआईसीआई प्रूडेंशियल भारत कंजम्प्शन फंड, जो कि एक ओपेन एंडेड इक्विटी स्कीम है और खपत थीम का पालन कर रहा है। यह बॉटम अप स्टॉक के चयन को अपनाने वाला है, ताकि यह लंबी अवधि में जोखिम समायोजित रिटर्न प्रदान कर सके। आजकल विश्व भर में भारत की अच्छी खासी चर्चा है। एक ऐसा देश जो जनसंख्या के लिहाज से विश्व में दूसरे क्रम पर हो, और जो विकास के रास्ते पर अग्रसर हो, वह बाकी देशों से अलग ही है।

निवेश के बैलेंस्ड पोर्टफोलियो सभी प्रकार के स्टॉक में बिखरे होते हैं, जिनसे कि उपभोक्ताओं की रोजमर्रा की जरूरतों को पूरा कर उन्हें लाभ प्राप्त होता है और इसके साथ ही साथ वे पारंपरिक लॉर्ज कैप अप्रोच से विविधीकरण भी प्रदान करते हैं जो कि फिलहाल बीएसएफआई और आईटी स्टॉक में अपनी क्षमता से कुछ ज्यादा ही है।  

आज भारत पूरे विश्व में सबसे बड़ी खपत वाला बाजार बन गया है


भारत में आर्थिक सुधार का जारी चक्र और लोगों की खर्च करने की क्षमता में हो रही वृद्धि से आज भारत पूरे विश्व के सबसे बड़ी खपत वाला बाजार बन गया है। साल 2025 तक भारत 5 ट्रिलियन के साथ विश्व की तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बनने जा रहा है। एक बचत प्रधान अर्थव्यवस्था वाला देश अब एक नए इंडिया में धीरे-धीरे परिवर्तित हो रहा है और अब लोग खुलकर खर्च करने लगे हैं। वैश्विक स्तर पर यह देखा गया है कि जब भी किसी देश की प्रति व्यक्ति जीडीपी 2000 अमेरिकी डॉलर से आगे निकल जाती है तो उस देश के खर्च में अचानक तेजी दर्ज की जाती है।

2019-20 के वित्त वर्ष में भारत प्रति व्यक्ति जीडीपी 2000 अमेरिकी डॉलर की आय हासिल कर सकता है


सिंगापुर में प्रति व्यक्ति 2000 डॉलर आय 1973 में हुई । ब्राजील और दक्षिण कोरिया में यह घटना 1980 के दशक में घटी। जबकि चीन ने इसे 2006 में हासिल किया, रूस ने 2000 अमेरिकी डॉलर प्रति व्यक्ति जीडीपी का आंकड़ा 2001 में छुआ और अब भारत की बारी है। अनुमानों के आधार पर 2019-20 के वित्त वर्ष में भारत प्रति व्यक्ति जीडीपी 2000 अमेरिकी डॉलर की आय हासिल कर सकता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss