बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Bankingआप भी ऑनलाइन खुलवा सकते हैं स्‍विस बैंक में खाता, बिना नाम बताए होता है लेन-देन

आप भी ऑनलाइन खुलवा सकते हैं स्‍विस बैंक में खाता, बिना नाम बताए होता है लेन-देन

स्विटजरलैंड में 400 से ज्यादा बैंक हैं। जहां पर ऑनलाइन आवेदन खाता खुलवाने के लिए किया जा सकता है।

1 of

नई दिल्ली। भारतीयों द्वारा स्विस बैंकों में जमा पैसा वर्ष 2017 में 50 फीसदी बढ़कर  1.01 अरब सीएचएफ यानी स्विस फ्रैंक (7 हजार करोड़ रुपए) हो गया। स्विट्जरलैंड में जमा रकम  का आंकड़ा इसलिए भी हैरत में डालता है, क्योंकि पीएम नरेंद्र मोदी की अगुआई वाली भारत सरकार द्वारा संदिग्ध ब्लैकमनी की सख्ती के क्रम में लगातार तीन साल की गिरावट के बाद यह बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। हालांकि, वर्ष 2006 के अंत में भारतीय द्वारा जमा फंड 650 करोड़ स्विस फ्रैंक (23,000 करोड़ रुपए) के अपने रिकॉर्ड हाई पर था। आइए जानते हैं कैसे स्विस बैंक में खाता खुलवाया जा सकता है और इसका पूरा प्रॉसेस क्‍या है।  


ऐसे खुलवा सकते हैं खाता


आप स्विटजरलैंड में स्थित किसी भी बैंक में खाता खोलने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इसके लिए बैंक आपके पहचान संबंधी दस्तावेजों को कॉरेस्पोंडेंस के जरिए मंगाता है। इसे आप ई-मेल के जरिए भी भेज सकते हैं। केवल बिना नाम वाला खाता खोलने के लिए ही आपको स्विटजरलैंड जाना जरूरी होता है। आपके पहचान संबंधी दस्तावेजों का किसी सरकारी एजेंसी से प्रमाणित होना जरूरी है, जिसके आधार पर स्विटजरलैंड के बैंकों में आप पर्सनल अकाउंट,  सेविंग्स अकाउंट और इन्वेस्टमेंट अकाउंट सहित दूसरे खाते खुलवा सकते हैं।

 


प के माध्‍यम से भी खोल सकते हैं एकाउंट


इसके लि‍ए बैंक की वेबसाइट www.ubs.com से एप डाउनलोड कर सकते हैं। ऑनलाइन अकाउंट खोलने के लि‍ए इन कागजों की जरूरत होगी। 

1 पासपोर्ट या मान्‍य पहचानपत्र।
2 न्‍यूनतम उम्र 15 साल होनी चाहि‍ए। 
3 आपके पास एक स्‍मार्टफोन होना चाहि‍ए जि‍समें वीडि‍यो कॉलिंग का ऑप्‍शन हो। 
4 आपके पास 4जी या वाईफाई कनेक्‍शन होना चाहि‍ए। 

 

 

दो तरह के खुलते हैं अकाउंट

 

स्विस बैंक में पर्सनल और कॉरपोरेट अकाउंट खोले जा सकते हैं। स्विस बैंक की वेबसाइट के अनुसार स्विस पर्सनल बैंक अकाउंट के लिए करीब 529 यूरो की फीस देनी पड़ती है। जिसमें ऑनलाइन पेमेंट पर डिस्काउंट भी मिलता है। बैंक अकाउंट में किसी तरह की कोई मिनिमम अमाउंट रखना जरुरी नहीं है। डॉक्युमेंट के रुप में पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस और आईडी कार्ड की जरुरत होती है। जबकि कॉरपोरेट अकाउंट के लिए 899 यूरो फीस देनी पड़ती है। साथ ही बिजनेस संबंधी डॉक्युमेंट्स आदि देने पड़ते हैं।

 

 

बिना नाम के भी खुलते हैं खाते


अपनी गोपनीयता की वजह से दुनिया भर में लोकप्रिय स्विस बैंक ग्राहकों को नंबर के आधार पर भी खाता खोलने का मौका देते हैं, यानी कि खाते पर आपका नाम नहीं होगा। आगे पढ़ें 

 

 

नंबर से ही होता है सारा लेन-देन


सारा लेन-देन नंबर के आधार पर होगा, लेकिन इस तरह का खाता खोलने की प्रक्रिया काफी सख्त है। खाता खोलने वाले को खुद बैंक में जाकर अपनी पूरी जानकारी देनी पड़ती है। इसके अलावा यह खाता न्यूनतम 1 लाख डॉलर की पूंजी से खोला जा सकता है। खाता धारक के नाम की जानकारी केवल बैंक के कुछ चुनिंदा वरिष्ठ अधिकारियों के पास होती है। एक खास बात ये भी है कि‍ स्‍वि‍स बैंक जमा राशि‍ पर कि‍सी तरह का ब्‍याज नहीं देता।

 
कोई भी वयस्क खोल सकता है खाता


 कोई भी व्यक्ति, जिसकी उम्र 15 साल या उससे ज्‍यादा है, वह स्विस बैंक में अपना खाता खोल सकता है। भारतीय भी इसी कड़ी में अपना खाता खोल सकते हैं। हालांकि, खाता खोलने का अंतिम अधिकार दूसरे बैंकों की तरह स्विस बैंक के पास होता है। बैंक खाता खोलते वक्त खास तौर से पूंजी के स्रोत आदि पर कड़ी पड़ताल करता है, जिसमें राजनीतिक शख्सियत आदि का खाता खोलते वक्त खास पड़ताल की जाती है। आगे पढ़ें 

 

स्विटजरलैंड में हैं 400 बैंक


 स्विटजरलैंड में करीब 400 बैंक हैं, जो स्विस बैंक के रूप में जाने जाते हैं। इसमें से दुनिया भर में यूनाइटेड बैंक ऑफ स्विटजरलैंड (यूबीएस) और क्रेडिट सुईस समूह सबसे लोकप्रिय बैंक हैं। इन बैंकों के पास स्विटजरलैंड के कुल बैंकों की 50 फीसदी से ज्यादा बैलेंसशीट है।


भारतीयों पर आरबीआई और फेमा कानून लगाता है


रिजर्व बैंक के नियमों के मुताबिक, जिस भारतीय का विदेशी बैंक में खाता है, वह उसमें साल में 1.25 लाख डॉलर तक जमा कर सकता है। इसके अलावा कंपनियों के खातों पर फेमा कानून लागू होता है। खाते में लेन-देने को लेकर प्रवासी भारतीयों (एनआरआई) को छूट मिलती है।   

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट