विज्ञापन
Home » Economy » BankingEnforcement Directorate attached Nirav Modis Rupees 147 crore properties in PNB loan case

8 लग्जरी कारें, बेशकीमती पेंटिंग समेत नीरव मोदी की 147 करोड़ की संपत्ति जब्त

12 हजार करोड़ से अधिक के PNB घोटाले में अब तक 4765 करोड़ की संपत्ति कब्जाई

Enforcement Directorate attached Nirav Modis Rupees 147 crore properties in PNB loan case

Enforcement Directorate attached Nirav Modis Rupees 147 crore properties in PNB loan case:  प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मंगलवार को कहा कि उसने पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले को लेकर जारी जांच के संबंध में फरार हीरा व्यापारी नीरव मोदी और उसकी सहयोगी कंपनियों की 147 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की है।

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मंगलवार को कहा कि उसने पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले को लेकर जारी जांच के संबंध में फरार हीरा व्यापारी नीरव मोदी और उसकी सहयोगी कंपनियों की 147 करोड़ रुपए की संपत्ति जब्त की है। एजेंसी ने एक बयान में कहा है कि यह कार्रवाई धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए) 2002 की धाराओं के तहत की गई है।

 

मुंबई और सूरत की संपत्तियों को जब्त किया

बयान में कहा गया है कि ईडी ने मुंबई और सूरत में स्थित चल और अचल संपत्तियों को अस्थायी रूप से जब्त किया है, जिसमें आठ कारें, संयंत्र और मशीनरी, आभूषण, पेंटिंग और अचल संपत्तियां शामिल हैं और जिनका बाजार मूल्य 147,22 करोड़ रुपए है, जो नीरव मोदी और उसके समूह की सहयोगी कंपनियों के स्वामित्व वाली हैं। इनके नाम फायरस्टार डायमंड इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड, फायरस्टार इंटरनेशनल प्राइवेट लिमिटेड, राधेशायर जूलरी कंपनी प्राइवेट लिमिटेड और रिदम हाउस प्राइवेट लिमिटेड हैं।

 

अब तक नीरव मोदी की 1725 करोड़ की संपत्ति जब्त

ईडी ने इससे पहले भारत और विदेशों में 1,725.36 करोड़ रुपए की संपत्तियां जब्त की थी। संपत्तियों के अलावा, ईडी ने 489.75 करोड़ रुपए का सोना, हीरा, बुलियन, आभूषण और अन्य कीमती सामान भी जब्त किए थे। नीरव मोदी और उसके मामा मेहुल चोकसी की केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) और ईडी जांच के घेरे में हैं। ईडी ने सीबीआई द्वारा दर्ज प्राथमिकी के आधार पर 15 फरवरी को उनके और अन्य के खिलाफ धन शोधन के मामले दर्ज किए थे। ईडी अब तक चोकसी और नीरव मोदी की 4,765 करोड़ रुपये की संपत्ति जब्त कर चुकी है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन