Home » Economy » BankingGood credit score ensures financial security in a marriage

शादी से पहले पार्टनर की चेक करें क्रेडिट रिपोर्ट, वरना हो सकता है नुकसान

अच्छे क्रेडिट स्कोर से मिलते हैं बड़े फायदे

1 of

 

नई दिल्ली. शादियों का सीजन शुरू होने वाला है। ऐसे में जिनकी शादी की तैयारी हो रही है, वे भावी जीवनसाथी की पसंद-नापसंद और खूबियां जानने की कोशिश कर रहे होंगे। अक्सर पुरुष व महिलाएं दोनों ही अपने पार्टनर के लुक्स, प्रोफेशन, पर्सनैलिटी, बिहेवियर और फैमिली बैकग्राउंड तो चेक करते हैं, लेकिन एक बेहद जरूरी चीज चेक करना भूल जाते हैं। यह है फाइनेंशियल कंपैटिबिलिटी। रिश्ते जोड़ते वक्त इस पहलू पर अधिकतर लोगों का ध्यान नहीं जाता है, लेकिन शादी होने के बाद जब गृहस्थ जीवन शुरू हाेता है और दोनों पार्टनर्स एक-दूसरे को फाइनेंशियल सपोर्ट नहीं दे पाते हैं, तो अक्सर परेशानी भी उठानी पड़ती है।

 

 

क्या है क्रेडिट स्कोर?

 

यह ऐसा आंकड़ा होता है जो किसी उपभोक्ता या व्यक्ति की क्रेडिट हिस्ट्री पर आधारित होता है और इससे उसकी ऋण पात्रता का आकलन किया जाता है। क्रेडिट देने वाली कंपनियां अौर बैंक इसी स्कोर के आधार पर अंदाजा लगाते हैं कि ग्राहक अपना उधार समय रहते चुकाएगा या नहीं। किसी व्यक्ति का क्रेडिट स्कोर 300 से 850 की रेंज के बीच रहता है। यह स्कोर जितना ज्यादा रहता है, व्यक्ति को आर्थिक रूप से उतना ज्यादा भरोसेमंद माना जाता है।

 

 

रेटिंग बताती हैं आपकी फाइनेंशियल स्टेबिलिटी

 

750 व इससे ज्यादा: बहुत अच्छी

700 से 749: अच्छी

650 से 699: ठीक

550 से 649: खराब

550 से नीचे: बेहद खराब

 

आगे भी पढ़ें

 

 

ऐसे सुधारें क्रेडिट रिपोर्ट

 

अगर आप या आपके पार्टनर की क्रेडिट रिपोर्ट संतोषजनक नहीं है तो आप कुछ कदम उठाकर इसे ठीक कर सकते हैं-

1. सभी बिलों का भुगतान समय पर करें।

2. अगर आपकी क्रेडिट लिमिट बढ़ सके तो उसे बढ़वा लें। हालांकि ध्यान रहे कि अापको खर्च ज्यादा नहीं करना हैताकि आपके क्रेडिट कार्ड में खर्च की रेट कम रहे।

3. अपने क्रेडिट कार्ड अकाउंट को बंद न कराएंअगर आपने किसी क्रेडिट कार्ड को इस्तेमाल करना बंद भी कर दिया है तब भी उस अकाउंट को बंद न करें। कार्ड कितना पुराना है और उसमें कितनी लिमिट है उसके हिसाब से अगर आप अकाउंट बंद करते हैं तो आपके क्रेडिट स्कोर को नुकसान पहुंचता है।

 

आगे भी पढ़ें

 

 

 

अच्छे क्रेडिट स्कोर से मिलते हैं बड़े फायदे

अगर आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा है तो आपको कई ऋण संस्थानों से सस्ती ब्याज दरों पर उधार मिल सकता है। इसका सीधा मतलब यह हुआ कि जितना अच्छा क्रेडिट स्कोर होगा, उतना कम आपको ब्याज चुकाना होगा। यानी शादी के बाद पति-पत्नी दोनों मिलकर अपना घर खरीदने का सपना पूरा कर पाएंगेबच्चों की बेहतर शिक्षा के इंतजाम कर पाएंगेउनकी शादी के लिए धन जुटा पाएंगे।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट