विज्ञापन
Home » Economy » BankingChanda Kochhar Videocon Venugopal Dhoot Homes Searched In Loan Case

ICICI BANK- वीडियोकॉन केस- चंदा कोचर और वेणुगोपाल धूत के ठिकानों पर ईडी की छापेमारी

CBI ने चंदा कोचर के खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी किया था

Chanda Kochhar Videocon Venugopal Dhoot Homes Searched In Loan Case

प्रवर्तन निदेशालय ने शुक्रवार को आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व एमडी चंदा कोचर और वेणुगोपाल धूत के 5 ऑफिसों में छापे मारे। ईडी ने मुंबई, औरंगाबाद की कुछ जगहों पर छापेमारी की।  बता दें कि इससे पहले जनवरी में सीबीआई ने महाराष्ट्र में चंदा के चार ठिकानों पर छापेमारी की थी। 2012 में आईसीआईसीआई बैंक की ओर से वीडियोकॉन को दिए गए लोन के मामले में ईडी ने यह कार्रवाई की है। ईडी ने कुछ दिन पहले चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर और वीडियोकॉन के प्रमोटर वेणुगोपाल धूत के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत मामला दर्ज किया था। 

नई दिल्ली। प्रवर्तन निदेशालय ने शुक्रवार को आईसीआईसीआई बैंक की पूर्व एमडी चंदा कोचर और वेणुगोपाल धूत के 5 ऑफिसों में छापे मारे। ईडी ने मुंबई, औरंगाबाद की कुछ जगहों पर छापेमारी की।  बता दें कि इससे पहले जनवरी में सीबीआई ने महाराष्ट्र में चंदा के चार ठिकानों पर छापेमारी की थी। 2012 में आईसीआईसीआई बैंक की ओर से वीडियोकॉन को दिए गए लोन के मामले में ईडी ने यह कार्रवाई की है। ईडी ने कुछ दिन पहले चंदा कोचर, उनके पति दीपक कोचर और वीडियोकॉन के प्रमोटर वेणुगोपाल धूत के खिलाफ प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग एक्ट (पीएमएलए) के तहत मामला दर्ज किया था। 

 

CBI ने चंदा कोचर के खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी किया था


जनवरी में सीबीआई ने भी इस मामले में चंदा कोचर, दीपक कोचर और वेणुगोपाल धूत के खिलाफ एफआईआर दर्ज की थी। एजेंसी ने वीडियोकॉन कंपनी के मुंबई-औरंगाबाद स्थित दफ्तरों और दीपक कोचर के ठिकानों पर छापे भी मारे थे। कुछ दिनों पहले सीबीआई ने चंदा कोचर के खिलाफ लुकआउट नोटिस भी जारी किया था। ताकि, वो बिना बताए विदेश नहीं जा सकें।

 

कर्ज के बदलने फायदे के लगे आरोप


वीडियोकॉन ग्रुप को आईसीआईसीआई बैंक की ओर से 2012 में दिए गए लोन और उसके न्यूपावर रिन्यूएबल्स के साथ लेन-देन से जुड़े मामले में सीबीआई और प्रवर्तन निदेशालय कार्रवाई कर रहे हैं। न्यूपावर चंदा के पति दीपक कोचर की कंपनी है। आरोप हैं कि चंदा कोचर के पति दीपक कोचर समेत उनके परिवार के सदस्यों को कर्ज पाने वालों की तरफ से वित्तीय फायदे पहुंचाए गए। आरोप है कि आईसीआईसीआई बैंक से लोन मिलने के 6 महीने बाद धूत ने कंपनी का स्वामित्व दीपक कोचर के एक ट्रस्ट को 9 लाख रुपये में ट्रांसफर कर दिया। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss