Home » Economy » BankingBankers decide to refer 22, 23 large NPA accounts to NCLT

बैंकर्स का फैसला, NCLT को दिया जाएगा NPA खातों का ब्‍यौरा

श के बैंकर्स ने 23 बड़े NPA खातों का ब्यौरा नेशनल नेशनल कंपनी लॉ ट्रि‍ब्यूनल (NCLT) को देने का फैसला लिया है।

Bankers decide to refer 22, 23 large NPA accounts to NCLT

मुंबई। देश के बैंकर्स ने 23 बड़े NPA खातों का ब्यौरा नेशनल नेशनल कंपनी लॉ ट्रि‍ब्यूनल (NCLT) को देने का फैसला लिया है। इन खातों में  उत्‍तम गाल्‍वा स्‍टील, IVRCL, रुचि सोया इंडस्‍ट्रीज और एस्‍सार प्रोजेक्‍ट्स  के अकाउंट भी शामिल हैं। 

 

दरअसल, आज बैंकों के लिए डूबते कर्ज की आशंका वाले 28 बड़े अकाउंट के निपटारे का आखिरी दिन था। इसके बाद बैंक बड़े एनपीए वाले 23 कंपनियों को इन्सॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड के तहत कार्रवाई के लिए नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल में भेजने का फैसला लिया है। 


- हाल ही में भारतीय रिजर्व बैंक ने बड़े डिफॉल्टर्स की लिस्ट जारी कर बैंकों को नॉन परफॉर्मिंग एसेट्स के निपटारे के लिए जोर दिया था।

- इस लिस्ट में पावर, टेलिकॉम, स्टील और इंफ्रा की कंपनियां शामिल हैं। आरबीआई ने उन खातों की पहचान की थी जिन पर बकाया रकम का 60 फीसदी नॉन-परफॉर्मिंग था।

- कुल एनपीए राशि 1.4 लाख करोड़ रुपए रुपए के करीब है। 
- सीनियर बैंकर ने कहा कि अनराक एल्‍युमिनियम, जयसवाल नेको इंडस्‍ट्रीज, सोमा इंटरप्राइजेज और जयप्रकाश एसोसिएशन समेत अन्‍य कंपनियों के ब्‍यौरा को  NCLT को दिया जाएगा।  

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट