Trending News Alerts

ट्रेंडिंग न्यूज़ अलर्ट

    Home »Do You Know »Global Economy »FAQ» Global Warming Is Increase In Earth's Average Surface Temperature

    जानिए, क्या है ग्लोबल वार्मिंग, क्या है इसकी वजह और बचाव के उपाय

     
    नई दिल्‍ली।पेरिस में क्‍लाइमेंट चेंज यानी ग्‍लोबल वार्मिंग को लेकर दुनियाभर के तमाम विकसित और विकासशील देशों की बैठक हाल ही में संपन्‍न हुई है। ग्‍लोबल वार्मिंग से होने वाले नुकसान को लेकर के तकरीबन सभी देशों ने चिंता जताई है। दुनिया के सभी देशों ने साल 2020 तक कार्बन इमीशन में कमी लाने और इसके लिए निर्धारित मापदंड का पालन करने की बात कही है। वहीं, वर्ल्‍ड बैंक की अगुआई में दुनिया के 6 बड़े लेंडर भी सामने आए और उन्‍होंने विकासशील देशों में क्‍लाइमेंट चेंज से लड़ने के लिए 100 अरब डॉलर का फंड भी बनाया है।
     
    दरअसल पृथ्‍वी के जलवायु संतुलन को ठीक करने के लिए प्रदूषण को कम करना होगा, जिसमें एक बड़ा हिस्सा धुएं का होता है। दुनियाभर में यह धुआं कारखानों के संयंत्रों और गाड़ियों से निकलता है, जिसमें ऊर्जा संयंत्र भी शामिल हैं। ऐसे में यह जरूरी हो गया है कि ऊर्जा के नए स्रोतों की तलाश के साथ सोलर पावर (अक्षय ऊर्जा) की उपलब्धता को आसान बनाया जाए, ताकि ग्‍लोबल वार्मिंग से होने वाले खतरों से बचा जा सके।
     
    क्‍या है ग्‍लोबल वार्मिंग
     
    ग्‍लोबल वार्मिंग का मतलब होता है पृथ्‍वी का तापमान बढ़ जाना। दरअसल पृथ्‍वी की सतह का औसत तापमान में यह बढ़ोतरी ग्रीन हाउस गैसों के प्रभाव में आने की वजह से होता है। इसे समान्‍य शब्‍दों में हम यदि कहें कि ग्लोबल वार्मिंग का मतलब है कि पृथ्वी लगातार गर्म होती जा रही है। क्‍लाइमेंट चेंज होने की वजह से आने वाले दिनों में सूखा, बाढ़ और मौसम का मिजाज बुरी तरह बिगड़ा हुआ दिखेगा।
     
    अगली स्‍लाइड में जानिए, क्‍या है ग्‍लोबल वार्मिंग की वजह……

    और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

    Recommendation

      Don't Miss

      NEXT STORY