Trending News Alerts

ट्रेंडिंग न्यूज़ अलर्ट

    Home »Do You Know »Economy »FAQ» Only One Percent Tcs On Retail Sales Of Motor Vehicles

    जानिए क्या है टीसीएस, किसको देना होगा और कितना लगेगा टैक्‍स

     
    नई दिल्‍ली।सरकार ने 1 जून, 2016 से टैक्‍स कलेक्‍शन ऐट सोर्स (टीसीएस) को मोटर व्‍हीकल्‍स पर लागू किया है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्‍ट टैक्‍सेज (सीबीडीटी) द्वारा जारी किए गए सर्कुलर के मुताबिक यदि कोई कस्‍टमर 10 लाख रुपए से अधिक कीमत की गाड़ी खरीदता है या 2 लाख रुपए से अधिक का कैश पेमेंट करके गाड़ी खरीदता है, तो उसे 1 फीसदी टैक्‍स देना होगा। इस टैक्‍स को कस्‍टमर से लेकर रिटेलर इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट के पास जमा करवाएगा। बजट में वित्‍त मंत्री ने इस टैक्‍स लागू करने का प्रस्‍ताव रखा था। ऐसे में आइए जानते हैं टीसीएस व उसके प्रावधान के बारे में.....  
     
     
     
    क्‍या है टैक्‍स कलेक्‍शन एट सोर्स(टीसीएस)
     
     
    टीसीएस, टैक्‍स कलैक्‍टेड ऐट सोर्स का शॉर्ट फॉर्म है। यह टैक्‍स मोटर व्‍हीकल्‍स के रिटेल खरीद और बिक्री पर लगेगा। फाइनेंस एक्‍ट में संशोधन के बाद सीबीडीटी ने मोटर व्‍हीकल्‍स की बिक्री पर टैक्‍स कलेक्‍शन ऐट सोर्स (टीसीएस) को लागू किया है, जिसमें इसके दायरे के बारे में विस्‍तार से जानकारी दी गई है। सीबीडीटी ने इनकम टैक्‍स एक्‍ट 1961 के सेक्‍शन-206 का दायरा बढ़ाकर इस टैक्‍स को लागू किया है। सकुर्लर के अनुसार इनकम टैक्‍स एक्‍ट के सेक्‍शन 44-एबी में स्‍पष्‍ट है कि 10 लाख रुपए से अधिक कीमत वाली मोटर वहीकल्‍स अथवा 2 लाख रुपए से अधिक के कैश पेमेंट से यदि कोई गाड़ी खरीदता है तो उसे 1 फीसदी टैक्‍स देना होगा। टीसीएस को व्‍यक्तिगत खरीदारी करने पर लागू किया गया है, किसी कंपनी पर इसको लागू नहीं किया गया है। जिसे कस्‍टमर से लेकर रिटेलर इनकम टैक्‍स डिपार्टमेंट के पास जमा करवाएगा।  
     
    अगली स्‍लाइड में पढ़िए, कितना लगेगा टैक्‍स और किसको देना होगा....  
     
     

    और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

    Recommendation

      Don't Miss

      NEXT STORY