Home »Do You Know »Economy »Facts» Do You What Is Equalisation Levy Or Google Tax

जानिए क्या है गूगल टैक्स, किसे होगा फायदा और किसको नुकसान

नई दिल्ली। भारत में डिजिटल एडवरटाजिंग पर अब 6 फीसदी टैक्‍स लगेगा जिसको लेकर ऑनलाइन दुनिया में हड़कंप मचा हुआ है। सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेस (सीबीडीटी) ने इसको 1 जून, 2016 से लागू कर दिया है। गूगल और फेसबुक जैसी कंपनियों पर इसका असर पड़ेगा, जिनका परमानेंट स्टैब्लिशमेंट भारत में नहीं है।
 
 
क्‍या है गूगल टैक्‍स यानी इक्विलाइजेशन लेवी
 
भारत में डिजिटल एडवरटाजिंग पर अब 6 फीसदी का टैक्स लगेगा। आसान शब्‍दों में इसको गूगल टैक्स कहा जा रहा है। दरअसल भारत में परमानेंट स्टैब्लिशमेंट नहीं होने के बावजूद गूगल और फेसबुक जैसी कई कंपनियों को एडवरटाजिंग से करोड़ों रुपए की कमाई होती है, लेकिन ये कंपनियां टैक्‍स नहीं देती हैं। सरकार इन कंपनियों को टैक्स के दायरे में लाना चाहती है। सरकार ने इससे संबंधित इक्विलाइजेशन नियमों की घोषणा कर दी है। सरकार द्वारा जारी नोटिफिकेशन के अनुसार इस लेवी के दायरे में ऑनलाइन एडवरटाजिंग, डिजिटल एडवरटाजिंग स्पेस से जुड़े प्रोविजन शामिल हैं। ये नियम 1 जून से लागू हो गए हैं।
 
 
अगली स्‍लाइड में पढ़ि़ए, इसके दायरे में आएंगी कौन सी सर्विसेज...  
 
 

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY