Home » Business MantraLow cost business : how can start soya or tofu milk plant

मिल्क प्लांट लगाने के लिए सरकार दे रही 10 लाख का लोन, NSIC से लें ट्रेनिंग

आपके पास होने चाहिए 1 से 1.5 लाख रुपए

1 of

नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार लोगों को स्‍वरोजगार के प्रति आकर्षित करने के लिए न केवल लोन दे रही है, बल्कि बिजनेस की ट्रेनिंग भी दे रही है। ऐसा ही एक बिजनेस है, सोया मिल्‍क मेकिंग यूनिट। सरकारी एजेंसी नेशनल स्‍मॉल इंडस्‍ट्रीज कॉरपोरेशन (NSIC) ने साल 2018-19 के इन्‍क्‍यूबेशन प्रोग्राम में सोया मिल्‍क मेकिंग को भी शामिल किया है। इस प्रोग्राम के तहत युवाओं को सोया मिल्‍क मेकिंग के साथ-साथ इसका बिजनेस शुरू करने और मार्केटिंग की ट्रेनिंग दी जाएगी। 

 

80-90 फीसदी लें लोन 
इतना ही नहीं, सरकार के प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम (PMEGP) के तहत 90 फीसदी तक लोन भी ले सकते हैं। ऐसे में, अगर आपके पास मात्र 1 लाख रुपए हैं तो 90 फीसदी तक लोन लेकर आप सोया मिल्‍क मेकिंग यूनिट शुरू कर सकते हैं। NSIC की एक प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट में सोया मिल्‍क मेकिंग यूनिट की कुल कॉस्‍ट 11 लाख रुपए है। इसी प्रोजेक्ट रिपोर्ट के आधार पर बैंक से मुद्रा लोन ले सकते हैं। बैंक आपको 80 फीसदी लोन दे सकते हैं और आपको लगभग 1.50 लाख रुपए का इंतजाम करना होगा। 

 

यह भी पढ़ें - सोलर बिजनेस करने का मौका, ये कंपनियां बना रही हैं पार्टनर

 

कहां से लें ट्रेनिंग 

नेशनल स्‍मॉल इंडस्‍ट्रीज कॉरपोरेशन (NSIC) द्वारा देश के विभिन्‍न हिस्‍सों में टेेक्‍निकल सर्विस सेंटर स्थापित किए  गए हैं। इन सेंटर से आप कई तरह के बिजनेस के साथ-साथ जॉब ओरिएंटेड कोर्स की ट्रेनिंग ले सकते हैं। इसमें सोया मिल्‍क मेेकिंग की पूरी ट्रेनिंग दी जाती है। साथ ही, एंटरप्रेन्‍योरशिप डेवलपमेंट प्रोग्राम (EDP) के तहत बिजनेस शुरू करने से लेकर बिजनेस मैनेजमेंट, मार्केटिंग आदि की भी ट्रेनिंग भी दी जाती है। 

 

कैसे शुरू होगा बिजनेस 
नेशनल स्‍मॉल इंडस्‍ट्रीज कॉरपोरेशन (एनएसआईसी) की रिपोर्ट के मुताबिक, आपको सबसे पहले सोयाबीन सीड का इंतजाम करना होगा। सोयाबीन से तीन गुना अधिक नॉर्मल पानी में सोयाबीन सीड को 4 से 6 घंटे तक एक गर्म तापमान में एक डिब्‍बे में भिगोना होगा। उसके बाद 8 से 12 घंटे तक ठंडे तापमान में रखना होगा। इसके बाद भीगे हुए सोयाबीन को एक ग्राइंडर और कुकिंग मशीन में रखिए, फिर उसे 120 डिग्री तापमान में 10 मिनट तक रखिए। इसके बाद आप आउटलेट वाल्‍व को खोल कर दूध को अपने हिसाब से पेक कर सकते हैं।

 

यह भी पढ़ें : एक ट्रेनिंग ने बदली जिंदगी, कमाई में हुआ दो से तीन गुणा इजाफा

 

किस मशीनरी की होगी जरूरत 
रिपोर्ट के मुताबिक, आपको मशीनरी व इक्विपमेंट के तौर पर एक ग्राइंडर या कूकर, बॉयलर, मैकेनिकल फिल्‍टर प्रेस, टोफू बॉक्‍स, सोकिंग टैंक की जरूरत होगी। 

 

आगे पढ़ें : प्रोजेक्‍ट की बारीकियां 

कितनी जगह की होगी जरूरत 
इस रिपोर्ट के मुताबिक, आपको एक छोटी यूनिट लगाने के लिए केवल 100 वर्ग मीटर जगह की जरूरत पड़ेगी, जिसे आप किराये पर भी ले सकते हैं। इसमें से कवर्ड एरिया केवल 75 वर्ग मीटर होना चाहिए।

 

कितना प्रोडक्‍शन कर सकेंगे आप 
एनएसआईसी की इस रिपोर्ट में सालाना 175000 लीटर सोया मिल्‍क का प्रोडक्‍शन का अनुमान लगाया गया है। यानी कि आप रोजाना लगभग 480 लीटर सोया मिल्क बना सकते हैं। इस हिसाब से तीन माह की वर्किंग कैपिटल, मशीनरी एवं इक्विपमेंट, रॉ मैटिरियल, सेलरी, यूटिलिटी पर कुल खर्च लगभग 11.60 लाख रुपए के इन्‍वेस्‍टमेंट का अनुमान है। इसमें तीन माह की वर्किंग कैपिटल भी शामिल है। 

 

आगे पढ़ें : कैसे लें लोन 

 


कैसे लें लोन 

इस प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट के आधार पर प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम या मुद्रा स्‍कीम के तहत लोन ले सकते हैं। PMEGP के तहत आपको 90 फीसदी और मुद्रा स्‍कीम के तहत आपको 80 फीसदी लोन मिल जाएगा। PMEGP के लिए ऑनलाइन सप्‍लाई करना होगा। जिसका लिंक है - https://www.kviconline.gov.in/pmegpeportal/jsp/pmegponline.jsp

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट