Home » Business MantraSmall business idea : what is the income in Rabbit Farming

खरगोश पालकर कमा सकते हैं 7 से 8 लाख रु, 4 लाख में शुरू करें बिजनेस

100 खरगोश से शुरू करें रैबिट फार्मिंग यूनिट, 6 माह में हो जाएंगे 350

1 of

 

नई दिल्‍ली. क्‍या आप कम पूंजी लगाकर दोगुना कमाने के लिए बिजनेस आइडिया खोज रहे हैं तो हम आपको बताते हैं कि आप लगभग 4 लाख रुपए लगाकर रैबिट फार्मिंग शुरू कर सकते हैं। यानी कि आप खरगोश पालकर हर साल 7 से 8 लाख रुपए कमा सकते हैं। पूरे भारत में सैकड़ों किसान खरगोश पालन से अच्‍छी इनकम कर रहे हैं। खरगो को मीट और इसके बालों से बनने वाली ऊन के लिए पाला जाता है। यही कारण है कि इसका चलन बढ़ रहा है। आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि छोटे पैमाने पर किस तरह आप खरगोश पालन कर इनकम कर सकते हैं। आइए आपको बताते हैं खरगोश पालन से जुड़े कारोबार के बारे में...

 

केवल 10 यूनिट से करें कारोबार शुरू

हरियाणा के जींद स्थित पैराडाइज रैबिट फार्म उत्‍तर भारत का सबसे बड़ा ब्रीडिंग सेंटर और बिजनेस प्रोवाइडर है। पैराडाइज रैबिट फार्म के डायरेक्‍टर राजेश कुमार ने moneybhaskar को बताया कि खरगोश पालन के लिए इस कारोबार को यूनिट में बांटा गया है। एक यूनिट में 7 मादा और 3 नर खरगोश होते हैं। पैराडाज फार्म ने इसके फार्मिंग के लिए शुरुआती स्‍तर 10 यूनिट का रखा है। 10 यूनिट से फार्मिंग शुरू करने के लिए लगभग 4 से 4.5 लाख रुपए खर्च आता है। इसमें टिन शेड लगभग 1 से 1.5 लाख रुपए, पिंजरे 1 से 1.25 लाख रुपए, चारा और इन युनिट्स पर लगभग 2 लाख रुपए  खर्च शामिल है।

 

6 महीने बाद होती है ब्रीडिंग शुरू

रमेश कुमार ने बताया कि नर और मादा खरगोश लगभग 6 महीने के बाद ब्रीडिंग के लिए तैयार होते हैं। एक मादा खरगोश एक बार में 6 से 7 बच्‍चों को जन्‍म देती है। मादा खरगोश का प्रेग्‍नेंशी पीरियड 30 दिन का होता है और इसके अगले 45 दिनों में बच्‍चा लगभग 2 किलोग्राम का होने के बाद बिकने के लिए तैयार हो जाता है। राजेश कुमार के अनुसार वे एक मादा खरगोश से औसतन 5 बच्‍चे मानते हैं। इस तरह 45 दिनों में 350 बच्‍चे होते हैं। खरगोश की यूनिट बच्‍चे पैदा करने लायक वयस्‍क होती है। इसमें छह महीने का इंतजार की भी जरूरत नहीं हेाती। 

 

आगे पढ़ें : कितनी होती है इनकम....

 

7 से 8 लाख होती है औसत इनकम
पैराडाइज फार्म खरगोश पालन के लिए यूनिट बेचने से लेकर उन्‍हें खरीदने का भी कांट्रैक्‍ट करता है। डायरेक्‍टर राजेश कुमार ने बताया कि 10 यूनिट खरगोश से 45 दिनों में तैयार हुआ बच्‍चों का बैच लगभग 2 लाख रुपए में बिकता है। इन्‍हें हम फार्म ब्रीडिंग, मीट और ऊन व्‍यवसाय के लिए बेचते हैं। उन्‍होंने बताया कि एक मादा खरगोश सालभर में कम से कम से कम 7 बार प्रेग्‍नेंट होती है। लेकिन, यदि हम मोर्टालिटी, बीमारी आदि सभी को ध्‍यान में रखकर औसतन 5 प्रेग्‍नेंशी पीरियड भी मान लें तो साल भर में 10 लाख रुपए के खरगोश बिक जाते हैं। जबकि, चारे पर खर्च 2 से 3 लाख भी मान लें तो 7 लाख रुपए शुद्ध इनकम होती है। हालांकि, शुरु साल कुल 4.5 लाख रुपए के इन्‍वेस्‍टमेंट को इससे निकालकर चलें तब भी 3 लाख रुपए की आमदनी होती है।
  
आगे पढ़ें :  किस तरह होती है इनकम....

 

फ्रेंचाइजी भी दे रही है पैराडाइज

डायरेक्‍टर राजेश कुमार ने बताया कि वे इस समय पैराडाइज रैबिट फार्म की फ्रेंचाइजी भी दे रहे हैं। फ्रेंचाइजी के लिए उत्‍तर प्रदेश, हरियाणा, पंजाब, हिमाचल प्रदेश, उत्‍ततराखंड राज्‍य चुने गए हैं। हालांकि, फ्रेंचाइजी के लिए कितना खर्च होगा इसके लिए इच्‍छुक व्‍यक्ति उनसे संपर्क कर सकता है। फ्रेंचाइजी में भी निश्चित आय की गारंटी होती है। इसके माध्‍यम से खरगोश ब्रीडिंग से लेकर इसकी मार्केटिंग की सभी तरह की ट्रेनिंग दी जाएगी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट