Home » Business Mantrawinter season business : how can start a unit of geyser manufacturing

विंटर सीजन में शुरू करें गीजर बिजनेस, कमा सकते हैं 2.50 लाख रुपए

केवल 1.50 में शुरू कर सकते हैं यह बिजनेस

1 of

नई दिल्‍ली। विंटर सीजन शुरू हो चुका है। ऐसे बिजनेस शुरू करने का सही समय, जिसकी मार्केट में डिमांड बढ़ रही हो। इन दिनों गीजर, हीटर की डिमांड बढ़ रही है। लेकिन बढ़ते बिजली बिलों के कारण लोग सोलर प्रोडक्‍ट्स के प्रति आकर्षित हो रहे हैं। इसलिए यह सही मौका है, जब आप सोलर गीजर की मैन्‍युफैक्‍चरिंग यूनिट लगा सकते हैं। सरकारी सर्वे बताते हैं कि भारत में सोलर गीजर का मार्केट साइज बढ़ता जा रहा है। ऐसे में, यदि आप आज यह यूनिट लगा लेते हैं तो आने वाले सालों में इस बिजनेस में ग्रोथ की संभावनाएं बनी रहेंगी। इतना ही नहीं, केंद्र सरकार सहित सभी राज्‍य सरकारें सोलर प्रोडक्‍ट्स को प्रमोट कर रही हैं, इसका फायदा आप उठा सकते हैं और सरकारी स्‍कीम्‍स का हिस्‍सा बन कर अपने बिजनेस को आगे बढ़ा सकते हैं। 
आज हम आपको बताते हैं कि अगर एक छोटी यूनिट लगाने चाहते हैं तो आपको कितना इन्‍वेस्‍टमेंट करना होगा और इससे आप कितना तक कमा सकते हैं।

 
कितने में शुरू करें यूनिट 
दरअसल, खादी एवं विलेज कमीशन (केवीआईसी) द्वारा छोटे कारोबारियों की सुविधा के लिए प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल तैयार किया है। इसके मुताबिक अगर आप एक छोटी यूनिट लगाना चाहते हैं, जिसमें आप 85 सोलर गीजर बना सकते हैं तो आपको कम से कम 100 से 125 वर्ग गज का स्‍पेस किराया पर लेना होगा। इसके अलावा आपको मशीनरी व इक्विपमेंट लेने होंगे, जिनकी कीमत लगभग 4.25 लाख रुपए होगी और वर्किंग कैपिटल के तौर पर 2.50 लाख रुपए होगी। यानी प्रोजेक्‍ट शुरू करने के लिए लगभग 6.5 से 7 लाख रुपए चाहिए। इस प्रोजेक्‍ट प्रोफाइल के आधार पर केवीआईसी से लोन के लिए अप्‍लाई कर सकते हैं। केवीआईसी से आपको 80 फीसदी लोन मिल सकता है। यानी आपके पास लगभग 1.5 लाख रुपया है तो आप यह यूनिट लगा सकते हैं।  
 
ये लेने होंगे इक्‍विपमेंट
प्रोजेक्‍ट शुरू करने के लिए आपको इक्‍विपमेंट खरीदने होंगे, इनमें ब्रेजिंग मशीन, फर्नेश, ग्राइंडर,  हाइड्रो टेस्टिंग मशीन, रोलिंग मशीन, ड्रिलिंग मशीन, कंप्रेशर, वेल्डिंग मशीन, बफिंग मशीन, इंजीनिय‍रिंग टूल्‍स, बेंच ग्राइंडर, लेथ मशीन शामिल हैं। 

 

आगे पढ़ें –  इस रॉ मैटीरियल का करें इंतजाम 

 

 

इस रॉ मैटेेरियल का करें इंतजाम 
प्रोजेक्‍ट शुरू होते ही आपको रॉ-मैटेेरियल का इंतजाम करना होगा। इसमें कॉप एल्‍युमिनियम एमएस शीट, पाइप, ग्‍लास फाइबर, जीआई शीट, थर्मोस्‍टेट, इंसुलेशन मैटेेरियल की जरूरत पड़ेगी। इसके बाद सोलर पैनल और स्‍टोरेज टैंक का फेब्रिकेशन करना होगा। इसके साथ टैंक, पैनल कोएल और कंपोनेंट की असेम्‍बलिंग करनी होगी। आखिर में इस टैंक और पैनल को लोकेशन पर कमीशन करना होगा।
 
आगे पढ़ें - कितनी होगी कमाई 

 

 

कितनी होगी कमाई 
यूनिट शुरू होने के बाद आप प्रोडक्‍शन शुरू करते हैं और अगले 6 माह में 85 गीजर बनाते हैं तो आपकी कुल प्रोजेक्‍ट कॉस्‍ट लगभग 14 लाख रुपए आएगी। वैसे तो बाजार में 20 से 25 हजार रुपए में एक सोलर गीजर बिक रहा है, लेकिन यदि आप औसतन एक गीजर को लगभग 20 हजार रुपए में बेचते हैं तो आप इन छह महीने में 16.5 लाख रुपए  कमा सकते हैं। यानी आपका कुल प्रॉफिट लगभग 2.50 लाख रुपए हो सकता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट