Home » Business MantraBusiness idea : how can start garment business

100 शहरों में Raymond दे रही है फ्रेंचाइजी, जान लें पूरा प्रोसेस

अगले तीन साल में छोटे शहरों में खुलेंगी 400 से अधिक रेमेंड शॉप

1 of

नई दिल्ली. टेक्सटाइल एवं अपरैल सेक्टर की नामचीन कंपनी Raymond अगले छह माह में 100 शहरों में फ्रेंचाइजी खोलेगी। यह फ्रेंचाइजी 50 हजार से अधिक आबादी वाले छोटे राज्यों में दी जाएगी। इसके लिए कंपनी ने अपने फ्रेंचाइजी मॉडल में बदलाव किया है, ताकि कम इन्वेस्टमेंट में भी लोग फ्रेंचाइजी खोल सकें। इस नए मॉडल को लेकर moneybhaskar.com ने Raymond लिमिटेड के डायरेक्टर (रिटेल) मोहित धंजल से बातचीत की। आइए, जानते हैं क्या है Raymond का नया फ्रेंचाइजी मॉडल और आप कैसे इसके लिए अप्लाई कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि तीन साल तक हर साल 100 रेमेंड शॉप खोले जाएंगे। 

 

कितना आएगा खर्च 

सबसे पहले जानते हैं, छोटे शहरों के फ्रेंचाइजी मॉडल पर कितना खर्च आएगा। धंजल बताते हैं कि दो साल पहले तक 386 शहरों में रेमेंड शॉप्स थी, इनमें ज्यादातर बड़े शहर हैं। जहां एक स्टोर खोलने के लिए डेढ़ से दो करोड़ रुपए की जरूरत पड़ती थी, लेकिन सितंबर 2016 में कंपनी ने अपने शोरूम का एक्सपेंशन करने की सोची। स्टडी करने पर पाया गया कि 2011 की जनगणना के मुताबिक 50 हजार से अधिक आबादी वाले शहरों की संख्या 1200 है और यहां तक पहुंच बनाने के लिए फ्रेंचाइजी मॉडल में काफी बदलाव करने होंगे। पहला बड़ा बदलावा था कि छोटे शहरों में ऐसे शॉप्स खोली जाएं, जहां शुरुआत इन्वेस्टमेंट के तौर पर 25 लाख रुपए और वर्किंग कैपिटल के तौरपर 25 लाख रुपए होना चाहिए। यानी कि, अगर आप फ्रेंचाइजी लेना चाहते हैं तो आपके पास लगभग 50 लाख रुपए होने चाहिए। 

 

800 वर्ग फुट में शुरू कर सकते है शोरूम 
मोहित धंजल बताते हैं कि नए फ्रेंचाइजी मॉडल के तहत छोटे शहरों में मिनी TRS (The Raymond Shop) खोले जा रहे हैं। इसके लिए जगह की भी ज्यादा जरूरत नहीं है। बड़े रेमेंड शॉप के लिए कम से कम 2500 वर्ग फुट स्पेस की जरूरत होती है, लेकिन मिनी शॉप के लिए लगभग 800 वर्ग फुट स्पेस की जरूरत होती है। 

 

डिजाइन में बदलाव 
मोहित ने कहा कि रेमेंड शॉप के डिजाइन में भी बदलाव किया गया। बदलाव करते वक्त छोटे शहर के लोगों की रूचि के अलावा इन्वेस्टमेंट और स्पेस का ख्याल रखा गया। इससे खर्च में भी कमी आई है और लोग आसानी से फ्रेंचाइजी ले कर अपना बिजनेस शुरू कर सकते हैं। 

 

प्राइस रेंज में किया सुधार 
मोहित के मुताबिक, अभी कंपनी के पास लगभग 50 हजार फेब्रिक स्टाइल हैं। यानी कि कस्टमर्स के पास अलग अलग प्राइस रेंज में 50 हजार से अधिक ऑप्शन उपलब्ध कराए जाते हैं, लेकिन छह माह की स्टडी के दौरान छोटे शहरों की जरूरतों को समझते हुए मिनी शॉप में 2 से 3000 ऑप्शन उपलब्ध कराने का फैसला लिया गया। 

 

आगे पढ़ें : कितनी होगी कमाई 

 

कितनी होगी कमाई 
मोहित धंजल ने कहा कि स्टडी के बाद पाया गया कि फ्रेंचाइजी को 2 से 3 साल के दौरान इन्वेस्ट किया गया पैसा वापस मिल जाएगा, लेकिन पायलट के तौर पर जो मिनी शॉप खोली गई हैं, वहां केवल एक साल के बाद ही इन्वेस्ट किया गया पैसा वापस मिल गया। 

 

आगे पढ़ें : कैसे करें अप्लाई 

कैसे करें अप्लाई 
मोहित के मुताबिक, जो लोग फ्रेंचाइजी लेना चाहते हैं, वे तीन तरह से अप्लाई कर सकते हैं। इसके लिए, कंपनी की वेबसाइट http://www.raymond.in/franchisee पर फेंचाइजी के लिए अप्लाई किया जा सकता है। वेबसाइट पर ही फोन नंबर भी दिया गया है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट