Home » Business MantraBank loan : what is the norms of business loan

ये 5 शर्त पूरी कर लें आप, तो बैंक लोन देने से नहीं कर सकते हैं इनकार

लोन एप्लीकेशन रिजेक्ट नहीं कर पाएंगे बैंक

1 of

 

नई दिल्‍ली. यदि आप कोई बिजनेस शुरू करना चाहते हैं तो सबसे पहले आप अपने पास उपलब्‍ध पैसे के बारे में सोचते हैं। उसके बाद आपको लगता है कि पैसे कम पड़ जाएंगे तो आप लोन के लिए अप्‍लाई करने का प्‍लान बनाते हैं, लेकिन जरूरी नहीं कि आपको बैंक लोन दे ही दें। बेशक केंद्र व राज्‍य सरकार लगातार दावा कर रही हैं कि बेरोजगारी दूर करने के लिए सेल्‍फ इम्‍प्‍लॉयमेंट को बढ़ावा दिया जा रहा है, ताकि युवा जॉब सीकर की बजाय जॉब क्रिएटर की भूमिका में आ जाएं, लेकिन यह हकीकत है कि बैंक आपके इस सपने को ध्‍वस्‍त कर सकते हैं और आपकी लोन एप्‍लीकेशन रिजेक्‍ट कर सकते हैं। ऐसे समय में, आपके लिए यह जानना बेहद जरूरी हो जाता है कि बैकों की ऐसी कौन-कौन सी शर्तें हैं, जिन्‍हें पूरा करने के बाद बैंक लोन देने के लिए मजबूर हो जाएं।

 

 

यह है पहली शर्त

सबसे आसान और बिना सिक्‍योरिटी का लोन आपको प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशान प्रोग्राम के तहत मिल सकता है, लेकिन पीएमईजीपी पर की गई स्‍टडी में पाया गया कि बैंक लगभग 88 फीसदी एप्‍लीकेशन को कैंसिल कर देते हैं। बैंक बताते हैं कि प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट वायबल नहीं होने के कारण लोन एप्‍लीकेशन रिजेक्‍ट की गई। इसलिए जब आप अपने प्रोजेक्‍ट की रिपोर्ट तैयार करें तो उसमें प्रोजेक्‍ट की पूरी डिटेल के साथ-साथ छोटी से छोटी जानकारी भी दें। रिपोर्ट में बताएं कि कैसे आप बैंक से मिलने वाले लोन का इस्‍तेमाल करेंगे। आपके पास खुद का कितना पैसा है। अपने प्रोडक्‍ट या सर्विस का मार्केट रेट, शेड या ऑफिस का किराया, रॉ मैटेरियल, मार्केट पोटेंशियल के साथ-साथ यह भी बताएं कि सारे खर्च और बैंक का ब्‍याज निकाल कर आप कितना बचा लेंगे। अगर आपको कुछ कंफ्यूजन है तो पीएमईजीपी की वेबसाइट पर लगभग 200 प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट्स के प्रोफाइल अपलोड हैं। उनमें से कोई चुनकर उसके आधार पर अपनी प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट तैयार करें। इसका लिंक है- https://www.kviconline.gov.in/pmegp/pmegpweb/docs/jsp/newprojectReports.jsp

 

 

यह है दूसरी शर्त

यह सही है कि यह लोन बेरोजगार युवकों को दिया जाता है। इसके बावजूद बैंक आपकी सिबिल रिपोर्ट चेक करते हैं, तभी आपको लोन दिया जाता है। इसलिए लोन अप्‍लाई करने से पहले अपने सिबिल रिपोर्ट चेक कर लें और 750 अंकों से नीचे होने पर कारण पता करें और उसे दूर करने का प्रयास करें।

 

 

यह है तीसरी शर्त

अगर आप लोन के लिए प्रधानमंत्री इम्‍प्‍लॉयमेंट जनरेशन प्रोग्राम के तहत अप्‍लाई करने जा रहे हैं तो इस बात का खास ख्‍याल रखें कि जितने की प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट तैयार किया गया है, उसमें से लगभग 10 फीसदी पैसा आपके पास होना जरूरी है। जब तक आपके पास अपना कंट्रीब्‍यूशन नहीं होगा, तब तक बैंक आपको लोन नहीं देंगे।

 

आगे पढ़ें : यह है चौथी शर्त 

 

 

यह है चौथी शर्त

आप जो बिजनेस शुरू करना चाहते हैं और उसकी प्रोजेक्‍ट रिपोर्ट भी तैयार कर ली है तो इस बात का खास ख्‍याल रखें कि उस बिजनेस के बारे में आपको ठीक-ठाक जानकारी हो। ताकि बैंक अधिकारी जब आपसे पूछताछ करें तो आप उसके बारे में अपने अनुभव को बता सकें। वरना बैंक आपकी लोन एप्‍लीकेशन को रिजेक्‍ट कर सकते हैं।

 

आगे पढ़ें : यह है पांचवीं शर्त 

 

 


यह है पांचवी शर्त

अगर आप पहले से कोई यूनिट चला रहे हैं तो आपको पीएमईजीपी का लोन नहीं मिलेगा।

अगर आप गवर्नमेंट इम्‍प्‍लॉई है तो आपको लोन नहीं मिलेगा।

अगर आपके किसी परिजन के पास पहले से पीएमईजीपी का लोन है तो आप इसके हकदार नहीं हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट