बिज़नेस न्यूज़ » Business Mantraशुरू करें अपना डेयरी बिजनेस, 1.75 लाख की सब्सिडी देगी मोदी सरकार

शुरू करें अपना डेयरी बिजनेस, 1.75 लाख की सब्सिडी देगी मोदी सरकार

एक साल में 323 करोड़ रुपए बांटेगी केंद्र सरकार

1 of

नई दिल्ली. डेयरी सेक्टर में रोजगार की बढ़ती संभावनाओं को देखते हुए मोदी सरकार ने डेयरी उद्यमिता विकास योजना (DEDS) शुरू की है। अगर आप भी मिल्क डेयरी खोलकर पैसा कमाना चाहते हैं तो यह स्कीम आप जैसे लोगों के लिए ही है। इस स्कीम के लिए केंद्र सरकार ने साल 2018-19 में 323 करोड़ रुपए का बजट तय किया है। इससे आपको डेयरी खोलने पर 25 से 33 फीसदी तक की सब्सिडी दी जाएगी। 


1.75 लाख रु की सब्सिडी मिलेगी 
अगर आप भी डेयरी बिजनेस की शुरुआत करना चाहते हैं तो सरकार की इस योजना का लाभ उठा सकते हैं। अगर आप 10 दुधारू पशुओं की डेयरी खोलते हैं तो आपके प्रोजेक्‍ट की लागत करीब 7 लाख रुपए तक आती है। केंद्र सरकार के कृषि मंत्रालय द्वारा चलाई जा रही इस योजना में आपको लगभग 1.75 लाख रुपए की सब्सिडी मिलेगी। 

 

दो पशु से भी शुरू कर सकते हैं डेयरी 
डेयरी उद्यमिता विकास योजना के तहत दो दुधारू पशु से भी डेयरी यूनिट शुरू की जा सकती है। अगर आप कम पूंजी से डेयरी कारोबार शुरू करना चाहते हैं तो यह विकल्प भी मौजूद है। अगर आप 2 दुधारू पशु वाली डेयरी यूनिट शुरू करते हैं तो आपके प्रोजेक्ट की कॉस्ट लगभग 1.40 लाख रुपए होगी, जबकि आपको 35 हजार रुपए तक की सब्सिडी मिल सकती है। अगर आप एससी/एसटी कैटेगरी में आते हैं तो आपको दो पशु वाली डेयरी पर 46,600 रुपए की सब्सिडी मिल सकती है। 

 

क्रॉसब्रीड की होंगी गाय 
केंद्र सरकार के कृषि मंत्रालय द्वारा यह सब्सिडी राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) के माध्‍यम से दी जाती है। कृषि मंत्रालय द्वारा जारी सर्कुलर के मुताबिक, अगर आप एक छोटी डेयरी खोलना चाहते हैं तो उसमें आपको क्रॉसब्रीड गाय (औसत से अधिक दूध देने वाली) जैसे साहीवाल, रेड सिंधी, गिर, राठी या भैंस रखनी होंगी। आप इस डेयरी में 10 दुधारू पशु रख सकते हैं।

 

कितनी सब्सिडी मिलेगी?
डेयरी उद्यमिता विकास योजना के मुताबिक आपको डेयरी लगाने में आने वाले खर्च का 25 फीसदी कैपिटल सब्सिडी मिलेगी। अगर आप अनुसूचित जाति/जनजाति की कैटेगरी में आते हैं तो आपको 33 फीसदी सब्सिडी मिल सकती है। यह सब्सिडी आपको अधिकतम 10 दुधारू पशुओं के लिए ही दी जाएगी। एक पशु के लिए केंद्र सरकार 17,750 रुपए की सब्सिडी देती है। अनुसूचित जाति/जनजाति के लोगों के लिए यह सब्सिडी 23,300 रुपए प्रति पशु हो जाती है। इसका मतलब यह है कि एक सामान्य जाति के व्यक्ति को 10 दुधारू पशुओं की डेयरी खोलने पर 1.77 लाख रुपए की सब्सिडी मिल सकती है।  

 

उपकरण पर भी सब्सिडी 
डेयरी उद्यमिता विकास योजना के तहत दुग्ध उत्पाद (मिल्‍क प्रोडक्‍ट) बनाने की यूनिट शुरू करने के लिए भी सब्सिडी दी जाती है. योजना के तहत आप दुग्ध उत्पाद की प्रोसेसिंग के लिए उपकरण खरीद सकते हैं। अगर आप इस तरह की मशीन खरीदते हैं और उसकी कीमत 13.20 लाख रुपए आती है तो आपको इस पर 25 फीसदी (3.30 लाख रुपए) की कैपिटल सब्सिडी मिल सकती है। अगर आप एससी/एसटी कैटेगरी से आते हैं तो आपको इसके लिए 4.40 लाख रुपए की सब्सिडी मिल सकती है। 

 

आगे पढ़ें : और क्या होंगे फायदे 

बना सकते हैं मिल्क कोल्ड स्टोरेज 

मिल्‍क कोल्‍ड स्‍टोरेज भी बना सकते हैं आप डेयरी उद्यमिता विकास योजना के तहत दूध और दूधे से बने उत्पाद के संरक्षण के लिए कोल्‍ड स्‍टोरेज यूनिट शुरू कर सकते हैं। इस तरह का कोल्ड स्टोरेज बनाने में अगर आपकी लागत 33 लाख रुपये आती है तो इसके लिए सरकार सामान्‍य वर्ग के आवेदक को 8.25 लाख रुपये और एससी/एसटी वर्ग के लोगों को 11 लाख रुपये तक की सब्सिडी मिल सकती है। 

 

आगे पढ़ें : और क्या होंगे फायदें ? 

और क्या होंगे फायदें ? 
नाबार्ड की तरफ से डेयरी उद्यमिता विकास योजना के तहत पशु खरीदने, बछड़ा पालन, वर्मी कंपोस्ट, डेयरी पार्लर, दुग्ध शीतलन व अन्य कार्यों के लिए लघु व सीमांत किसानों सहित समूहों को प्राथमिकता दी जाती है। 

 

इस योजना के बारे में अधिक जानकारी के लिए आप इस लिंक पर क्लिक कर सकते हैं: https://www.nabard.org/auth/writereaddata/File/Circular-DEDS%202018-19.pdf

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट