विज्ञापन
Home » Business MantraCareer in Mobile gaming Industry

मोबाइल गेम्स को बनाएं इनकम का जरिया, करें यह काम

12वीं के बाद करें यह कोर्स, मिलेगी अच्छी खासी सैलरी

1 of


नई दिल्ली. मोबाइल गेम खेलना किसे अच्छा नहीं लगता, लेकिन आप मोबाइल गेम्स को अपने करियर का हिस्सा बना कर अच्छी खासी कमाई भी कर सकते हैं। दरअसल, मोबाइल गेम बनाने वाली कंपनियां दुनिया भर में फैली हैं। भारत में भी ऐसी कंपनियां काम कर रही हैं। आप कुछ तकनीक कोर्स करके इन कंपनियों का हिस्सा बन सकते हैं। आइए जानते हैं कि ऐसे कौन से कोर्स हैं, जो आपको मोबाइल गेमिंग इंडस्ट्री का हिस्सा बन सकते हैं। 

 

क्या कोर्स कर सकते हैं आप 
मार्केट में अच्छे गेम डेवलपर की हमेशा डिमांड बनी हुई है। इस क्षेत्र में जावा, 2डी गेम डेवलपर, 3डी डेवलपमेंट के एक्सपर्ट की वैकेंसी बनी रहती है। ऐसे में आप जो काम कर सकते हैं, उनमें 
- गेम प्रोड्यूसर 
- गेम डिजाइनर
- एनिमेटर 
- ऑडियो प्रोग्रामर 
- ग्राफिक प्रोग्रामर 

 

कैसे बनें गेम प्रोड्यूसर 
अगर आप गेम प्रोड्यूसर बनाना चाहते हैं तो आपको कुछ बेसिक जानकारी होनी चाहिए, इसमें डिजाइनिंग के अलावा 3डी मॉड्यूलिंग और 2डी सॉफ्टवेयर की नॉलेज जरूरी है, वहीं ऑडियो इंजीनियर के लिए साउंड इंजीनियरिंग के अलावा अन्य लैंग्वेज की जानकारी है। 

 

कैसे बनें गेम डिजाइनर
गेम डिजाइनर का काम डिजाइनिंग के साथ गेम को मनोरंजक बनाना भी होता है। ताकि लोग इन्हें दिलचस्पी के साथ खेलें। ये गेम राइटिंग कऔर डायग्राम भी तैयार करते हैं। गेम डिजाइनर के रूप में आपको गेम के अलग अलग वर्जन पर काम करना होता है, गेम एप्लिकेशन बनाना होता है। डिजाइनिंग के साथ विशेष सॉफ्टवेयर पर भी काम करना होता है। डिजाइनिंग के साथ विशेष सॉफ्टवेयर पर भी काम करना होता है। एक लीड डिजाइनर पर पूरे डिजाइनिंग विजन, कॉन्सेप्ट, प्रेजटेंशन, इंप्लिमेंटेशन की जिम्मेदारी होती है। इसके लिए टैक्नोलॉजी की जानकारी होने के साथ-साथ आर्टिस्टिक विजन की भी जरूरत होती है। 

 

आगे पढ़ें ... और क्या कर सकते हैं आप 

कैसे बनें एनिमेटर

एनिमेटर आमतौर पर प्रोग्रामर और सीनियर आर्टिस्ट के साथ गेम के कैरेक्टर के हर पहलू पर काम करते हैं। एनिमेटर के पास 2डी कॉन्सेप्ट आर्ट के माध्यमसे 3डी मॉडल्स और 2डी टैक्चर मैप तैयार करने की योग्यता होनी चाहिए। इसी तरह आप ऑडियो प्रोग्रामर भी बन सकते हैं, जो गेम के लिए ऑडियो तैयार करने के अलावा साउंड इंजीनियर का काम करते हैं। ऑडियो प्रोग्रामर को गेम में स्पेशल इंफेक्ट के इस्तेमाल के लए साउंड के बारे में अच्छी नॉलेज रखना जरूरी है। 

 

यहां भी है करियर 
आप गेम पब्लिशर्स, गेम प्रोडक्शन कंपनी, स्टूडियो, शिक्षण संस्थान, मार्केटिंग एंड एडवरटाइजिंग, मोबाइल फोन कंपनियां, डिजाइन कंपनियों में भी अपना करियर बना सकते हैं। आप अपना काम भी शुरू कर सकते हैं। 

 

आगे पढ़ें : क्या होनी चाहिए योग्यता 

 

क्या होनी चाहिए योग्यता 
आपने यदि साइंस स्ट्रीम के साथ 12वीं की है तो उपरोक्त में कोई कोर्स करके अपना करियर शुरू कर सकते हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss