Home » Business Mantra– Mobile Repairing Center: Samsung India has opened 21 Samsung Technical Schools across the country

5 लाख में शुरू करें मोबाइल रिपेयरिंग सेंटर, मंथली हो सकती है 40 हजार तक इनकम

सैमसंग इंडिया ने देशभर में 21 सैमसंग टेक्निकल स्कूल खोले हैं।

1 of

नई दिल्ली।  देश में मोबाइल यूजर्स की संख्या करीब 77 करोड़ से ज्यादा है। लोगों की जरूरत बन चुका मोबाइल अब रोजगार के नए-नए अवसरों का जरिया भी बन गया है। मोबाइल रिपेयरिंग भी इन्हीं में से एक है। आप मोबाइल रिपेयरिंग को सफल स्वरोजगार के रूप में अपना सकते हैं। मोबाइल रिपेयरिंग एक ऐसा काम है, जो कम से कम खर्चे पर कारोबार स्थापित करने में मदद तो करता ही है, साथ ही अच्छी कमाई का भी जरिया बन जाता है। अगर आप मोबाइल रिपेयरिंग सेंटर (Mobile repairing centre) खोलना चाहता है तो  5 लाख रुपए का इन्‍वेस्‍टमेंट कर हर महीने 40 हजार रुपए तक कमा सकते हैं। 

 

यहां से ले सकते हैं ट्रेनिंग

सैमसंग इंडिया ने देश भर में 21 सैमसंग टेक्निकल स्कूल खोले हैं। मिनिस्ट्री ऑफ एमएसएमई के साथ मिलकर  सैमसंग ने 10 ट्रेनिंग स्कूल खोला है। वहीं दिल्ली, बिहार, केरला, राजस्थान और बंगाल सरकार की साझेदारी से ITIs में 10 स्कूल खोले हैं। इन टेक्निकल स्कूल में सैमसंग के ऑथोराइज्ड ट्रेनर्स मोबाइल रिपेयरिंग की ट्रेनिंग देते हैं। इसमें मॉर्डन टूल्स, मॉर्डन टेस्ट इक्विप्मेंट्स के जरिए लोगों को ट्रेनिंग दी जाती है। आप भी यहां से ट्रेनिंग लेकर अपना खुद का मोबाइल रिपेयरिंग का सेंटर खोल सकते हैं।

 

आगे पढ़ें,

 

यह भी पढ़ें, 1 लाख के खर्च में मंथली कर सकते हैं 14 हजार की कमाई, इस स्कीम का उठाएं लाभ

शुरू करें अपना रिपेयरिंग सेंटर 

 

ट्रेनिंग लेकर आप अपना रिपेयरिंग सेंटर शुरू कर सकते हैं। इस काम में भी सरकार आपकी मदद कर सकती है।  रिपेयरिंग सेंटर शुरू करने के लिए करीब 5 लाख रुपए की जरूरत पड़ेगी। आप बैंक से लोन भी ले सकते हैं। माइक्रो, स्‍मॉल एंड मीडियम एंटरप्राइजेज (एमएसमई) सेक्‍टर को सरकारी योजनाओं के तहत 10 करोड़ रुपए तक का लोन दिया जाता है।

 

आगे पढ़ें,

हर महीने कर सकते हैं 40 हजार तक इनकम

 

फेडरेशन ऑफ इंडियन स्मॉल मीडियम इंटरप्राइजेज के पूर्व निदेशक एवं एसएमई सलाहकार देवाशीष बंदोपाध्याय ने कहा कि मोबाइल रिपेयरिंग सेंटर खोलकर कोई व्यक्ति मंथली 40 हजार रुपए तक कमाई कर सकता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट