विज्ञापन
Home » Budget 2019Budget 2019 : Piyush Goyal explain the budget details

गरीब-किसान के लिए ऐतिहासिक बजट, एसी कमरों में बैठने वाले नहीं समझ सकते : गोयल 

गोयल ने कहा, विकास समाज के हर नागरिक तक पहुंचे

Budget 2019 : Piyush Goyal explain the budget details

Piyush Goyal explain budget 2019 : वित्त मंत्री पीयूष गोयल ( Piyush Goyal ) ने कहा है कि अंतरिम बजट 2019 ( Interim Budget 2019) गरीब व किसान के लिए ऐतिहासिक बजट है और एयरकंडीशंड कमरों में बैठने वाले लोग छोटे किसानों की दुर्दशा के बारे में नहीं समझ सकते। किसानों का दर्द समझते हुए सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम की शुरुआत की गई है। 

नई दिल्ली. वित्त मंत्री पीयूष गोयल ( Piyush Goyal ) ने कहा है कि अंतरिम बजट 2019 ( Interim Budget 2019) गरीब व किसान के लिए ऐतिहासिक बजट है और एयरकंडीशंड कमरों में बैठने वाले लोग छोटे किसानों की दुर्दशा के बारे में नहीं समझ सकते। किसानों का दर्द समझते हुए सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि स्कीम की शुरुआत की गई है। 

 

किसानों को 4 महीने में 2000 रु. 
बजट पेश करने के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए गोयल ने कहा कि विकास समाज के हर नागरिक तक पहुंचे, समाज के हर वर्ग को विकास से जोड़ना और उसका लाभ पहुंचाना, इस बजट ने यह काम किया है । प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, पीएम किसान नाम की योजना सरकार ने इसी वर्ष से शुरु कर दी है, इस वर्ष के जो अंतिम 4 महीने हैं, उसकी भी ₹2,000 की राशि किसानों को पहुंचाई जाएगी। 

 

मजदूरों को क्या मिला 
उन्होंने बताया कि असंगठित क्षेत्र का लेबर जब 60 वर्ष की आयु पार कर जाता है तो सोशल सिक्योरिटी की व्यवस्था ना होने से उसे तकलीफ होती है, ऐसे श्रमिक भाई बहनों के लिये एक बड़ी योजना तय की गयी है। असंगठित क्षेत्र में 18 से 40 वर्ष की आयु के जो लोग काम कर रहे हैं, वह हर महीने एक छोटी रकम योजना में डालें, उतनी ही राशि केंद्र सरकार भी जोड़ेगी, 60 वर्ष की आयु के बाद ₹3,000 प्रति माह की पेंशन उन्हें मिलेगी। 
 
लोन में छूट 
उन्होंने बताया कि एनिमल हस्बैंड्री और फिशरीज का काम करने वालों को लोन में शुरुआत में 2% की छूट मिलेगी, और समय पर लोन चुकाने पर 3% की छूट और मिलेगी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss