विज्ञापन
Home » Budget 2019Interim Budget 2019: Know what is Halwa ceremony

हलवा सेरेमनी के साथ ही बजट की तैयारियां शुरू, दोनों वित्त राज्य मंत्रियों ने दिखाई झंडी

Budget 2019: आइए, जानते हैं क्या होती है हलवा सेरेमनी

Interim Budget 2019: Know what is Halwa ceremony

Halwa ceremony for Interim Budget 2019: केंद्र सरकार ने 1 फरवरी को बजट पेश किए जाने को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। सोमवार को बजट डॉक्‍युमेंटप्रिंटिंग की औपचारि‍क शुरुआत से पहले वित्त मंत्रालय में हलवा सेरेमनी हुई। हलवा सेरेमनी बजट प्रॉसेस के आखिरी फेज की शुरुआत है, जिसके बाद मंत्रालय के बेसमेंट में बनी प्रेस में सीक्रेट तौर सेइसकी छपाई का काम होता है। देश में यह परंपरा सालों से चली आ रही है।


नई दिल्‍ली.   केंद्र सरकार ने 1 फरवरी को बजट पेश किए जाने को लेकर तैयारियां शुरू कर दी हैं। सोमवार को बजट डॉक्‍युमेंट प्रिंटिंग की औपचारि‍क शुरुआत से पहले वित्त मंत्रालय में हलवा सेरेमनी हुई। इसमें वित्त राज्य मंत्री शिव प्रताप शुक्ला और पी. राधाकृष्णन ने बजट प्रिंटिंग को हरी झंडी दि‍खाई। बता दें कि हलवा सेरेमनी बजट प्रॉसेस के आखिरी फेज की शुरुआत है, जिसके बाद मंत्रालय के बेसमेंट में बनी प्रेस में सीक्रेट तौर से इसकी छपाई का काम होता है। देश में यह परंपरा सालों से चली आ रही है।  

  

क्या होती है हलवा सेरेमनी?


- भारतीय परंपरा के मुताबिक, कोई भी शुभ काम शुरू करने से पहले लोगों का मुंह मीठा कराया जाता है। इसीलिए बजट प्रॉसेस में भी हलवा सेरेमनी की शुरुआत हुई।

- इस मौके पर वित्त मंत्री खुद प्रिटिंग से जुड़े कर्मचारियों और अधिकारियों को हलवा बांटकर प्रिंटिंग प्रॉसेस की शुरूआत करते हैं। इसके बाद मंत्रालय के करीब 100 कर्मचारी नॉर्थ ब्लॉक के बेसमेंट में बने प्रिटिंग प्रेस में अगले कुछ दिन तक रहते हैं।

 

बजट पेश होने तक अलग रहते हैं कर्मचारी


- देश में बजट की प्रिंटिंग सबसे सीक्रेट ऑपरेशंस में से एक है। बजट से जुड़ी जानकारियां काफी अहम होती हैं और इनके लीक होने से सरकार पर सवाल खड़े हो सकते हैं।

- हलवा सेरेमनी के साथ ही प्रिंटिंग से जुड़े कर्मचारी अगले कुछ दिनों तक दुनिया से कटे रहते हैं। इस दौरान वह परिवार या किसी बाहरी शख्स से बात नहीं करते और मिल भी नहीं सकते हैं।

- प्रिंटिंग प्रेस में एक लैंडलाइन फोन रखा जाता है, जिसमें सिर्फ इनकमिंग की फैसिलिटी होती है। साथ ही चुनिंदा अफसरों के अलावा यहां किसी को भी आने की इजाजत नहीं होती है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन