विज्ञापन
Home » Budget 2019Budget-2019: Chandni Chowk trader's hopes from interim budget

Budget 2019: एशिया के सबसे बड़े मार्केट के व्यापारियों को बजट से हैं ये उम्मीदें

Election Budget 2019: व्यापार करने की सुगमता चाहते हैं ट्रेडर्स

1 of

 

नई दिल्ली।

पहली फरवरी को बजट पेश होने वाला है और इस बजट से चांदनी चौक के कारोबारियों को बड़ी उम्मीदे हैं। कारोबारियों को लगता है कि सरकार उन्हें टैक्स में रियायत देगी और व्यापार को आसान करने की तरफ कदम बढ़ाएगी। केंद्र सरकार ने हाल ही में जीएसटी की दरों में कमी कर व कुछ उत्पादों व सेवाओं पर करों में कमी कर के देश के व्यापारियों को बड़ी राहत दी है। व्यापारियों को उम्मीद है कि सरकार बजट में कुछ बड़ी घोषणाएं कर सकती है जिससे देश के व्यापारियों को बड़ी राहत मिलेगी। इस पर हमने चांदनी चौक के कुछ कारोबारियों से बातचीत की। आइए जानते हैं बजट-2019 से उनकी उम्मीदें क्या है।

 

भागीरथ पैलेस मार्केट के प्रधान भारत आहूजा का कहना है ‘हमें इस बजट से काफी उम्मीदें है। हम इस साल बजट में टैक्स स्लैब को बढ़ाए जाने की और इसे 2.5 लाख रुप से बढ़ाकर 5 लाख से 7 लाख रुप किए जाने की उम्मीद कर रहे हैं।

 

 

 

 

 

द बुलियन एंड ज्वेलर्स एसोसिएशन के सदस्य योगेश कुमार चैनी (Y.K.) 

चैनी का मानना है कि इस आम बजट में जीएसटी के प्रावधानों को और सरल बनाया जाए, जिससे उन्हें सहूलियत मिले। ईज ऑफ डूईंग बिजनेस हो। टैक्स कलेक्शन सरल होना चाहिए। इसके अलावा सुरक्षा के नाम पर व्यापारियों का उत्पीड़न भी रोकने के उपाय किए जाएं। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने जब भी बजट प्रस्तुत किया है उसका सीधे तौर पर व्यापारियों को लाभ नहीं मिला है। केंद्र के जीएसटी लागू होने के बाद तो व्यापारियों की हालत और खराब हो गई हैै। ऐसे में इस बार के आम बजट से व्यापारियों को काफी उम्मीदें है। सरकार व्यापारी हित में जीएसटी के कड़े प्रावधानों में लचीला रुख अपनाकर उसका लाभ व्यापारियों को दे सकती है। इसके अलावा रुपए की मजबूती पर ध्यान देना चाहिए.

 

 

 

किराना कमिटी दिल्ली, खारी बावली 

किराना कमिटी दिल्ली, खारी बावली के प्रेसिडेंट विजय गुप्ता (बंटी) ने किराना व्यापारियों के लिए टैक्स स्लैब बढ़ाने की उम्मीद जताई है। बजट में व्यापारियों को पीओएस मशीनें सब्सिडाइज्ड कीमत पर मिल जाए और किराना व्यापार में कम से कम टैक्स लगाया जाए ऐसी उन्हें उम्मीद है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन