विज्ञापन
Home » Budget 2019Budget 2019: The Confederation of All India Traders denies budget of modi government

7 करोड़ व्यापारियों के लिए निराशाजनक है बजट, व्यापारी वर्ग ने पूरी तरह से नकारा

कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स ने जताई नाराजगी

1 of

नई दिल्ली। केंद्र सरकार ने अपने अंतरिम बजट में किसानों, नौकरीपेशा, मध्यम वर्ग के लिए सौगातों का अंबार लगा दिया है। हालांकि, व्यापारियों ने इस बजट को निराशाजनक बताया है। कॉन्फेडरेशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) का कहना है कि वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने कुल मिलाकर एक अच्छा बजट है, लेकिन देश के 7 करोड़ व्यापारियों के लिए यह बेहद निराशाजनक बजट है।

 

व्यापारी देश की अर्थव्यवस्था की रीढ़
कैट के राष्ट्रीय अध्यक्ष बीसी भरतिया और राष्ट्रीय महामंत्री प्रवीन खंडेलवाल ने कहा कि बजट में अर्थव्यवस्था के सभी वर्गों को सुविधाएं दी गई हैं, लेकिन व्यापारी वर्ग को पूरी तरह नकार दिया गया है। उन्होंने कहा कि व्यापारी देश की अर्थव्यवस्था में रीढ़ की हड्डी का काम करते हैं। बजट को देख कर लगता है कि सरकार के लिए व्यापारी अवांछनीय हैं। भरतिया और खंडेलवाल ने कहा कि दो दिन पहले व्यापारियों के लिए वाणिज्य मंत्रालय में विभाग बनाकर एवं गुरुवार को ई-कॉमर्स में एफडीआई पालिसी को आगे न बढ़ाने के सरकार के निर्णय से देश भर के व्यापारियों को बजट से बड़ी उमीदें थी। बजट में व्यापारियों का कोई जिक्र तक न होने से व्यापारी बेहद निराश हैं। उन्होंने कहा कि वो एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री पीयूष गोयल को नए सिरे से एक ज्ञापन भेजकर व्यापारियों के प्रमुख मुद्दों को सुलझाने का आग्रह करेंगे।

किसानों को 6 हजार रुपए वार्षिक सहायता राशि का ऐलान


वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने अंतरिम बजट में किसानों के लिए खजाना खोल दिया। वित्त मंत्री ने 2 हेक्टेयर तक की जोत वाले किसान परिवारों को सालाना 6 हजार रुपए नकद देने की घोषणा की। सरकार ने इसको किसान सम्मान निधि योजना नाम दिया है। सरकार की इस योजना से देश के करीब 12 करोड़ किसानों को फायदा होगा। वित्त मंत्री ने कहा कि 31 मार्च 2019 तक पहली किस्त के लिए भुगतान इसी साल होगा वित्त मंत्री ने कहा यह 6 हजार रुपए 2-2 हजार रुपए की तीन किस्तों में मिलेंगे। यह योजना 31 दिसंबर 2018 से लागू हो गई है। 

5 लाख तक की आय पर टैक्स नहीं


- 5 लाख तक की आय पर नहीं देना होगा कोई इनकम टैक्स
- निवेश के साथ 6.5 लाख तक की आय पर नहीं देना होगा कोई इनकम टैक्स
- 3 करोड़ से अधिक नौकरीपेशा लोगों को होगा फायदा
- बैंक-पोस्ट ऑफिस में जमा राशि पर टीडीएस की सीमा बढ़ाकर 40 हजार रुपए की
- नौकरीपेशा के लिए मानक कर कटौती बढ़ाकर 50,000 रुपए की गई।
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन