Home » Business » TradePanna Singh Pakore Wala surrendered Rs 60 lakh to the Income Tax department

पकौड़े वाला भी इतना कमा सकता है, 60 लाख नकदी हुई बरामद

लुधियाना की 'पन्ना सिंह पकौड़े वाला' दुकान के मालिक ने आयकर विभाग को सौंपी अघोषित आय

1 of

 

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कुछ ही दिनों पहले पकौड़े बेचने को रोजगार का एक तरीका बताया था। उन्होंने कहा था कि अगर पकौड़े बेचकर कोई शख्स पूरे दिन में 200 रुपए कमाता है तो इसका मतलब यह है कि वह बेरोजगार नहीं है। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने भी अपने पहले संसदीय भाषण में इस बयान का समर्थन किया था। तब विपक्षी पार्टियों और जनता ने इस बात का खूब मजाक उड़ाया था, लेकिन एक पकौड़े वाले ने आखिर प्रधानमंत्री की बात को सच साबित कर ही दिया है। लुधियाना के एक पकौड़ा शॉप ओनर ने बता दिया कि पकौड़े वाला भी धनकुबेर बन सकता है। हालांकि उसकी कमाई काली कमाई निकली और आयकर विभाग ने उसे जब्त कर लिया।

 

 

शॉप ओनर ने सौंपी रकम

 

लुधियाना की प्रसिद्ध 'पन्ना सिंह पकौड़े वाला' दुकान से आयकर विभाग के अधिकारियों ने 60 लाख रुपए की काली कमाई बरामद की है। दरअसल आयकर विभाग को सूचना मिली थी कि पन्ना सिंह पकौड़ा वाला दुकान के मालक के पास बड़ी मात्रा में काला धन है। उन्होंने आउटलेट की दो शाखाओं पर छापा मारा, जिसके बाद शॉप के मालिक देव रक ने 60 लाख रुपए नकद आयकर विभाग को सौंप दिए।

 

आगे पढ़ें, छह दशक से ज्यादा पुरानी है दुकान

छह दशक से ज्यादा पुरानी है दुकान

 

1952 में पन्ना सिंह ने गिल रोड पर पहली दुकान खोली। थोड़े ही समय में यह दुकान सिर्फ लुधियाना ही नहीं बल्कि पूरे पंजाब में फेमस हो गई। इसके बाद मॉडल टाउन में इसी नाम से एक और दुकान शुरू की गई।

 

आगे पढ़ें, पूरे पंजाब में फेमस है दुकान 

पूरे पंजाब में फेमस है पन्ना सिंह पकौड़े वाला

 

दुकान के पनीर पकौड़े और दही भल्ले पंजाब समेत आसपास के राज्यों में भी मशहूर हैं। नेताओं से लेकर पुलिस अधिकारी, बिजनेसमैन और नौकरशाह इस दुकान के पकौड़ों का लुत्फ उठाते हैं। मॉडल टाउन वाली ब्रांच में बड़ी सोसायटी के लोगों के लिए किटी पार्टी की व्यवस्था भी की जाती है।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट