Home » Business » TradeDiwali gift Mercedes Benz his employee from Gujarati businessman

गुजराती बिजनेसमैन ने कर्मचारियों को गिफ्ट में दी Mercedes Benz कार

एक कार की कीमत 1 करोड़ रुपए

1 of

नई दिल्ली। सूरत के डायमंड मर्चेंट शिवजी धनजी ढोलकिया एक बार फिर सुर्खियों में हैं। उनकी चर्चा की वजह हमेशा की तरह अपने कर्मचारियों को दिए जाने वाले महंगे गिफ्ट हैं। उन्होंने इस बार दिवाली गिफ्ट के तौर पर अपने तीन कर्मचारियों को Mercedes-Benz GLS SUVs दी है।

 

कंपनी के 25 साल पूरे होने पर दिया गिफ्ट

ढोलकिया अपनी कंपनी हरि कृष्णा एक्सपोर्ट के साथ 25 साल बिताने पर बेस्ट परफॉर्मेंस करने वाले तीन कर्मचारियों को कार गिफ्ट की है। इन कर्मचारियों को मध्य प्रदेश की गवर्नर आनंदी बेन पटेल ने कार की चाभी सौंपी। इस दौरान ढोलकिया ने कहा कि अपने कर्मचारियों को मर्सडीज बेंज तोहफे में देना उनका सपना था, जो अब हकीकत बन गया। उन्होंने कहा कि ऐसा करने के पीछे एक मात्र वजह कर्मचारियों को कंपनी के प्रति वफादार बनाए रखना और उनको मेहनत के लिए प्रोत्साहित करना है।

 

आगे पढ़ें- कितना है ढोलकिया की कंपनी का टर्नओवर

कंपनी का टर्नओवार

ढोलकिया की कंपनी का सालाला टर्नओवर 8000 करोड़ रुपए है और उनकी कंपनी में 5,500 कर्मचारी काम करते हैं। वह इससे पहले अपने कर्मचारियों को तोहफे में कार, घर, डायमंड और ज्वैलरी दे चुके हैं। उन्होंने वर्ष 2016 में कंपनी के बेस्ट कर्मचारियों पर 51 करोड़ रुपए खर्च किए थे। इसके माध्यम से उन्होंने कर्मचारियों को दिवाली के मौके पर 400 फ्लैट और 1260 कारें गिफ्ट की थीं।

 

आगे पढ़ें - 2017 में गिफ्ट न देने की वजह

 

2017 में गिफ्ट न देने की वजह

इससे पहले वर्ष 2015 में ढोलकिया अपने 1200 कर्मचारियों को 491 कार और 200 फ्लैट गिफ्ट में दिए थे। उनकी ओर से 2011 से ऐसे गिफ्ट दिए जा रहे हैं। हालांकि पिछले वर्ष 2017 की दिवाली पर कर्मचारियों को कोई गिफ्ट नहीं दिया गया। शायद इसके पीछे जीएसटी को एक बड़ी वजह माना जा रहा था। हालांकि इस वर्ष नए साल के मौके पर उनकी ओर से 1200 कर्मचारियों को Datsun redi-GO कार गिफ्ट में दी थी। 

 

आगे पढ़ें- बेटे की वजह से भी आए थे चर्चा में 

बेटे की वजह से भी चर्चा में आए थे ढोलकिया

शिवजी धनजी ढोलकिया के अलावा उनका बेटा भी उस वक्त सुर्खियों में आ गया था, जब उन्होंने बेटे को तीन जोड़ी कपड़ों और 7 हजार रुपए के साथ अमेरिका में एमबीए करने भेज दिया था। 21 वर्षीय द्रव ढोलकिया को फोन नहीं दिया गया और अपने पिता की पहचान नहीं दी गई। वह ब्लैकबेरी कंपनी में एक आम कर्मचारी की तरह काम करते हैं। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss